कैच छोड़कर कोहली के गुस्से का शिकार हुए पार्थिव, तीसरे मैच से कटेगा पत्ता!

पार्थिव पटेल दूसरे टेस्ट की पहली पारी में बल्लेबाजी के समय भी अपना प्रभाव नहीं छोड़ पाए.

कैच छोड़कर कोहली के गुस्से का शिकार हुए पार्थिव, तीसरे मैच से कटेगा पत्ता!
डीन एल्गर के अलावा भी पहली पारी में एक कैच पार्थिव पटेल ने छोड़ा था. video grab

नई दिल्ली : दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में हर दिन उतार चढ़ाव वाला रहा. किसी सत्र में साउथ अफ्रीका तो किसी सत्र में टीम इंडिया भारी रही. दूसरे टेस्ट की दूसरी पारी में जब टीम इंडिया ने 3 रन पर अफ्रीका के 2 खिलाड़ी आउट कर दिए थे, तब लग रहा था कि टीम इंडिया इस मैच में वापसी कर सकती है. यहीं पर उसे पहले टेस्ट में मिली हार का बदला चुकाने मौका भी दिखाई दिया था. मैच में कुछ देर बाद ही जसप्रीत बुमराह ने डीन एल्गर के रूप में तीसरी सफलता दिलाने की कोशिश की.

एल्गर जब 29 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे, उसी समय बुमराह की ऊंची उठती हुई गेंद को समझ ही नहीं पाए और बॉल किनारा लेकर पीछे की ओर निकली. पीछे खड़े विकेटकीपर पार्थिव पटेल और चेतेश्वर पुजारा के बीच से निकली, ये कैच पार्थिव को  लेना था, लेकिन वह खड़े खड़े चेतेश्वर पुजारा की ओर देखते रहे. गेंद निकलकर सीमा रेखा के पार चली गई. इसके साथ ही पार्थिव पटेल ने एक बड़ा मौका गंवा दिया. बाद में एल्गर 61 रन बनाकर आउट हुए.

INDvsSA : मैच रैफरी के सामने एंग्री यंगमैन बनना विराट को पड़ा भारी, लगा जुर्माना

इससे पहली पारी में भी पार्थिव पटेल के हाथों से एक कैच छूटा था. लेकिन इस कैच ने कप्तान विराट कोहली का पारा सातवें आसमान पर पहुंचा दिया. कैच छूटने के बाद वह बुरी तरह झल्लाते हुए पार्थिव पटेल पर भड़कते हुए दिखाई दिए. इसका असर तब भी दिखाई दिया, जब मैच रुका, सभी खिलाड़ी बाउंड्री पर डगआउट में एक दूसरे से बातचीत कर रहे थे, लेकिन पार्थिव पटेल से कोई बात नहीं कर रहा था. वह अकेले गुमसुम बैठे थे.

parthiv drop

अचानक से क्यों लिया ये फैसला
मैच के तीसरे दिन तक कोई खबर नहीं थी कि चोटिल ऋद्धिमान साहा की जगह कोई और खिलाड़ी बुलाया जाएगा. लेकिन चौथे दिन सीन पूरी तरह से बदल गया. अचानक खबर आई कि अब टीम इंडिया में साहा की जगह दिनेश कार्तिक को बुलाया जाएगा. इसका सीधा अर्थ ये हुआ कि जो भी हुआ इसी पारी के दौरान हुआ. अगर साहा की जगह कार्तिक को बुलाना ही था, तो पहले टेस्ट के तुरंत बाद ही उन्हें टीम में ले लिया जाता, लेकिन ऐसा हुआ नहीं. तीसरा टेस्ट जोहानिसबर्ग में 24 जनवरी से शुरू हो रहा है. ऐसे में साफ संकेत हैं कि मैच में दिनेश कार्तिक को ही मौका मिलेगा.

dinesh kartik

जब केएल राहुल हैं तो कार्तिक की क्या जरूरत
अगर ऋद्धिमान साहा चोटिल हैं तो पहले से ही पार्थिव पटेल मौजूद हैं. लेकिन अब शायद ही वह तीसरे टेस्ट मैच में खेलें. क्योंकि एक तरह से विराट और टीम मैनेजमेंट ने सख्त संकेत देने के लिए ही कार्तिक को बुलाया है. उन्हें अगले मैच में मौका मिलना मुश्किल हैं. वैसे टीम में खेल रहे केएल राहुल भी विकेटकीपर हैं. मौका मिलने पर वह भी विकेट के पीछे अच्छे हाथ दिखा सकते हैं.