इन 3 भारतीय तेज गेंदबाजों को मिल सकता है ICC WTC Final में मौका, 2 खिलाड़ी होंगे मायूस!

नई दिल्ली: भारत और न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल (ICC World Test Championship Final) 18 जून से साउथैम्पटन (Southampton) के एजिस बाउल (Ageas Bowl) में खेला जाएगा. उम्मीद है कि टीम इंडिया 2 स्पिनर्स और 3 तेज गेंदबाजों के साथ उतरेगी. स्पिनर्स में रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा का नाम तय माना जा रहा है. लेकिन तेज गेंदबाजों को लेकर अभी स्थिति पूरी तरह साफ नहीं. आइए नजर डालते हैं उन 3 भारतीय पेस बॉलर्स पर जो इस मैच में खेलने के सबसे बड़े दावेदार हैं. (सभी फोटोज-BCCI)

शारिक़ुल होदा | Jun 17, 2021, 07:00 AM IST
1/5

जसप्रीत बुमराह

Jasprit Bumrah

जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) भारतीय टीम के पेस अटैक को लीड करते आए हैं, ऐसे में उनका प्लेइंग इलेवन में शामिल होना तय माना जा है. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में उन्होंने 22.41 की औसत से 34 विकेट हासिल किए हैं.

2/5

मोहम्मद शमी

Mohammed Shami

मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) बॉल को स्विंग करने में माहिर है. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की 18 पारियों में उन्होंने 19.77 की औसत से 36 विकेट हासिल किए हैं. उनके अटैक और रिकॉर्ड को देखते हुए ये कहना गलत नहीं होगा कि शमी प्लेइंग इलेवन में जरूर शामिल किए जाएंगे.

3/5

इशांत शर्मा

Ishant Sharma

भारत के लिए 101 टेस्ट खेल चुके इशांत शर्मा (Ishant Sharma) को अपने शानदार तजुर्बे के दम पर प्लेइंग इलेवन में जगह मिल सकती है. साथ ही उन्हें इंग्लैंड में खेलने का भी अनुभव हासिल है. इशांत ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में 17.36 के बेहतरीन औसत से 36 विकेट लिए हैं.

4/5

मोहम्मद सिराज

Mohammed Siraj

मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) ने पिछले ऑस्ट्रेलिया दोरे पर अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी और अपने बेहतरीन खेल से हर किसी को अपना दीवाना बना लिया था. उन्हें लंबी रेस का घोड़ा बताया जाता है, लेकिन सिराज को महज 5 टेस्ट और इस फॉर्मेट की 2 सीरीज का ही तजुर्बा है. इस दौरान उन्होंने 10 पारियों में 28.25 की औसत से 16 विकेट हासिल किए हैं. काफी कम अनुभव होने की वजह से सिराज का इस बड़े मैच के लिए चुना जाना मुश्किल नजर आ रहा है.

5/5

उमेश यादव

Umesh Yadav

उमेश यादव (Umesh Yadav) एक बेहतरीन तेज गेंदबाज हैं, लेकिन बुमराह, शमी और इशांत जैसे दिग्गजों के रहते उनकी जगह पक्की नहीं है. उन्हें बेंच पर बैठना पड़ सकता है. हालांकि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में 18.55 की शानदार औसत से उमेश ने 29 विकेट अपने नाम किए हैं.