रहाणे के गुरु को भरोसा, उनका शिष्य द. अफ्रीका में बल्लेबाजी से करेगा कमाल

पिछले दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर अजिंक्य रहाणे का औसत 65 से भी अधिक था.

रहाणे के गुरु को भरोसा, उनका शिष्य द. अफ्रीका में बल्लेबाजी से करेगा कमाल
एक कार्यक्रम में अमोल मजूमदार और अजित वाडेकर के साथ प्रवीण आमरे. फोटो : पीटीआई

मुंबई :  पूर्व भारतीय बल्लेबाज प्रवीण आमरे को पूरा विश्वास है कि उनका शिष्य अजिंक्य रहाणे हाल में खराब फार्म के बावजूद दक्षिण अफ्रीका में अच्छा प्रदर्शन करेगा. आमरे ने यहां पत्रकारों से कहा, ‘एक क्रिकेटर के लिये जो कुछ भी बीत गया वह इतिहास होता है. वह दक्षिण अफ्रीका जा रहा है और उसे इस पर गौर करना चाहिए कि अपने पिछले दक्षिण अफ्रीकी दौरे में उसका औसत 65 से भी अधिक था.’ उन्होंने डा. दयाल फाउंडेशन के पुरस्कार समारोह से इतर कहा, ‘मेरा मानना है कि भारत विशेषकर चयनकर्ताओं को उस (रहाणे) पर काफी विश्वास है. यही वजह है कि वह उपकप्तान है.

रहाणे ने कहा, वह अपनी जिम्मेदारियों से अच्छी तरह वाकिफ है. मुझे पूरा विश्वास है कि अगले महीने में वह वैसा ही प्रदर्शन करेगा जैसा कि लोग उससे चाहते हैं.’ रहाणे के बचपन के कोच आमरे ने कहा कि यह भी जानना जरूरी है कि उनकी बल्लेबाजी में कहां सुधार की जरूरत है.

ICC की 2017 की दो टीमों में इस अकेली भारतीय महिला क्रिकेटर को मिली जगह

उन्होंने कहा, ‘हम एक टीम के रूप में काम करते हैं. जब वह सफल रहा तो उसने प्रत्येक पारी में शतक बनाया और आपने उसे बधाई दी. अब जब वह खराब दौर से गुजर रहा है तो यह पता करना भी मेरा काम है कि क्या गलत हो रहा है. मुझे लगता है कि इसका पता करना और उसे चुनौतियों के लिये तैयार करना मेरा काम है.’

उथप्पा को उम्मीद, रहाणे जल्द ही फॉर्म में करेंगे वापसी
भारतीय टीम से बाहर चल रहे बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा ने गुरुवार को कहा कि टेस्ट टीम के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे दक्षिण अफ्रीका दौरे पर अपनी फॉर्म हासिल कर लेंगे. वहीं भारत को अगले महीने दक्षिण अफ्रीका जाना है. टेस्ट टीम के बल्लेबाजी क्रम के अहम सदस्य रहाणे इस समय बल्ले की जंग झेल रहे हैं. उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ खेली गई हालिया टेस्ट सीरीज में पांच पारियों में 17 रन ही बनाए थे.

ग्रीम स्मिथ ने चेताया- टीम इंडिया को पिच पर ये चीज करेगी परेशान

डॉ दयाल फाउंडेशन (डीडीएफ) वार्षिक अवार्ड कार्यक्रम में शिरकत करने आए उथप्पा ने गुरुवार को कहा कि वह रहाणे की फॉर्म को लेकर बेफिक्र हैं. उथप्पा ने कहा, "हर क्रिकेट खिलाड़ी के करियर में खराब दौर आता है. महान बल्लेबाज सुनिल गावस्कर भी करियर में इस दौर से गुजरे थेः यह किसी भी खिलाड़ी के साथ हो सकता है.  जितनी जल्दी यह खराब दौर खत्म होगा भारत के लिए अच्छा होगा."

इंजीनियरिंग में मचाई थी धूम, अब गेंद की रफ्तार ऐसी कि बल्लेबाजों का छूट जाता है पसीना

रहाणे को सलाह देने के सवाल पर उथप्पा ने कहा, "मेरा मानना है कि उन्हें बस खेलना चाहिए. मुझे लगता है कि चयनकर्ताओं को उन पर पूरा भरोसा है इसलिए वह उन्हें टीम में बनाए हुए हैं. मैं उन्हें जल्द ही फॉर्म में लौटने के लिए शुभकामनाएं देता हूं."