रजत शर्मा ने सवा साल में ही DDCA का अध्यक्ष पद छोड़ा, इस्तीफे में बताई यह वजह

DDCA:  रजत शर्मा ने इस्तीफा देने के साथ ही अपने सभी साथियों का सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया. 

रजत शर्मा ने सवा साल में ही DDCA का अध्यक्ष पद छोड़ा, इस्तीफे में बताई यह वजह
रजत शर्मा ने मदनलाल को हराकर पिछले साल डीडीसीए अध्यक्ष का चुनाव जीता था.

नई दिल्ली: जाने माने पत्रकार और दिल्ली जिला क्रिकेट एसोसिएशन (DDCA) के अध्यक्ष रजत शर्मा (Rajat Sharma) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. रजत शर्मा ने सोशल मीडिया पर अपने इस्तीफे की जानकारी दी. उन्होंने कहा के उनके लिए अपने सिद्धातों, ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ काम करते हुए डीडीसीए का काम करना संभव नहीं हो रहा है इसलिए वे पद छोड़ रहे हैं. रजत ने कहा कि वे किसी भी तरह का समझौता करना नहीं चाहते हैं. 

सवा साल में छोड़ा पद
रजत शर्मा ने सवा साल पहले ही हुए चुनावों में आधे से ज्यादा वोट हासिल करते हुए अध्यक्ष पद हासिल किया था. वह चुनाव बीसीसीआई के नए संविधान के प्रावधानों के तहत हुआ था, लेकिन कई लोगों ने इस सही चुनाव नहीं  माना था और दोबारा चुनाव कराने की मांग की थी. इस मांग के साथ रजत शर्मा पर इस्तीफे का दबाव भी डाला जा रहा था.

यह भी पढ़ें: IND vs BAN अपने रिकॉर्ड दोहरे शतक पर बोले मयंक, 'यह डर निकाल दिया था मैंने'

क्या कहा अपने ट्वीट में रजत शर्मा ने
रजत शर्मा ने अपने ट्वीट में जानकारी देते हुए कहा, "आज मैंने डीडीसीए के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है और उसे एपेक्स काउंसिल को भेज दिया है. मैं आप सभी को इस दौरान  मुझे दिए गए भरपूर समर्थन, सम्मान और लगाव  के लिए धन्यवाद करता हूं. दिल्ली क्रिकेट को शुभकामनाएं.

और क्या कहा रजत शर्मा ने 
प्रिय सदस्यों जबसे आपने मुझे DDCA का अध्यक्ष चुना है मैं समय समय पर आपको अपने काम के बारे में जानकारी देता रहा हूँ .मैंने DDCA को बेहतर बनाने के लिए, प्रोफ़ेशनल और पारदर्शी बनाने के लिए जो कदम उठाये उसके बारे में आपको बताया. आपसे किए गए वादों के पूरा होने की जानकारी दी.

यह भी पढ़ें: B'day Special:घर गिरवी रखकर खोली थी एकेडमी, साइना से सिंधु तक भारत को दिए कई स्टार

और क्या कहा रजत शर्मा ने 
प्रिय सदस्यों जबसे आपने मुझे DDCA का अध्यक्ष चुना है मैं समय समय पर आपको अपने काम के बारे में जानकारी देता रहा हूँ .मैंने DDCA को बेहतर बनाने के लिए, प्रोफ़ेशनल और पारदर्शी बनाने के लिए जो कदम उठाये उसके बारे में आपको बताया.आपसे किए गए वादों के पूरा होने की जानकारी दी. इसके बाद रजत ने  हिंदी में एक और ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा, "यहाँ काम करना आसान नहीं था. लेकिन आपके विश्वास ने मुझे ताक़त दी. आज मैंने  डीडीसीए का अध्यक्ष पद छोड़ने का फ़ैसला किया है और अपना इस्तीफ़ा एपेक्स काउंसिल को भेज दिया है. आपने जो प्यार और सम्मान मुझे दिया है उसके लिए आपका आभार: रजत शर्मा"

मदनलाल को हराया था 
जुलाई 2018 को डीडीसीए के चुनावों में रजत ने 4.40 प्रतिशत वोट हासिल करते हुए ऐतिहासिक जीत हासिल की थी. जत शर्मा को डीडीसीए के पूर्व अध्यक्ष स्नेह बंसल और डीडीसीए के पूर्व पदाधिकारी एवं वर्तमान में भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा का समर्थन था. शर्मा ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी पूर्व क्रिकेटर मदनलाल को हराया था.  मदनलाल के गुट को सीके खन्ना और चेतन चौहान के समर्थकों का समर्थन हासिल था. मदनलाल के अलावा  वकील विकास सिंह भी अध्यक्ष पद के दावेदार थे.

रजत के इस्तीफे और उनके ट्वीट से ऐसा लग रहा है कि उन्होंने दबाव में इस्तीफा दिया है. फिलहाल इस्तीफे की असली वजह का खुलासा नहीं हुआ है, लेकिन रजत ने अपने संदेशों में इशारा किया है कि वे दबाव में नहीं आना चाहते हैं इसलिए इस्तीफा दे रहे हैं. रजत ने हिंदी और अंग्रेजी दोनों ही भाषा में ट्वीट कर अपने इस्तीफे की जानकारी दी है.