लगातार Zimbabwe के खिलाफ खेलने से भड़के PAK दिग्गज, बोले- ये मजाक है

पाकिस्तान (Pakistan) लगातार पिछले कुछ समय से जिम्बाब्वे (Zimbabwe) जैसी छोटी टीमों के साथ सीरीज खेल रहा है. इसी बीच पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व खिलाड़ियों ने जिम्बाब्वे के खिलाफ खेलने को लेकर सवाल उठाए हैं.    

लगातार Zimbabwe के खिलाफ खेलने से भड़के PAK दिग्गज, बोले- ये मजाक है
फाइल फोटो

नई दिल्ली: पाकिस्तान (Pakistan) लगातार पिछले कुछ समय से जिम्बाब्वे (Zimbabwe) जैसी छोटी टीमों के साथ सीरीज खेल रहा है. इसके लिए लगातार उनको पूरी दुनिया में ट्रोल किया जाता है. लोग यहां तक कहते हैं कि छोटी टीमों के खिलाफ खेलकर पाकिस्तान अपने अंक बढ़ाता है और बड़ी टीमों से खेलने से डरता है.  

दिग्गज उठाने लगे सवाल

इसी बीच पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व खिलाड़ियों ने जिम्बाब्वे के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज के आयोजन पर सवाल उठाते हुए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) को सलाह दी कि भविष्य में मजबूत टीमों के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेली जाए. पाकिस्तान ने दो मैचों की इस सीरीज को एकतरफा तरीके से 2-0 से अपने नाम किया. पूर्व क्रिकेटरों ने कहा कि इस सीरीज से ना पाकिस्तान को कोई फायदा हुआ ना ही जिम्बाब्वे को.

भड़के रमीज राजा 

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान रमीज राजा (Ramiz Raza) ने इसे टेस्ट क्रिकेट के लिए बुरा अंजाम करार देते हुए जिम्बाब्वे को सीमित ओवरों के क्रिकेट पर ध्यान देने की सलाह दी है. राजा ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘ऐसे एकतरफा मैच मजाक की तरह हैं और इससे प्रशंसक दूसरे खेलों को देखना पसंद करेंगे. आप मजबूत टीमों के खिलाफ खेल कर सीखते हैं लेकिन मुझे नहीं लगता कि हम ने जिम्बाब्वे के खिलाफ कुछ सीखा है क्योंकि इन मैचों में पूरी तरह से पाकिस्तान का दबदबा था.’

राशिद लतीफ ने भी उठाए सवाल 

पूर्व कप्तान राशिद लतीफ (Rashid Lathif) ने इस श्रृंखला पर सवाल उठाते हुए कहा, ‘इस श्रृंखला का मकसद क्या था. यह अच्छा है कि पाकिस्तान को टेस्ट मैच खेलने का मौका मिला लेकिन पीसीबी को भविष्य में मजबूत टीमों के खिलाफ खेलने के बारे में सोचना चाहिए. इस पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा कि पाकिस्तान को जिम्बाब्वे जाने की जगह दक्षिण अफ्रीका से एक टेस्ट मैच खेलने के बारे में बात करनी चाहिए थी.'

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.