close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रवि शास्त्री ने अपने सबसे बड़े आलोचक को कहा- Happy Birthday...

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ज्यादातर आलोचकों के निशाने पर रहते हैं. 

रवि शास्त्री ने अपने सबसे बड़े आलोचक को कहा- Happy Birthday...
रवि शास्त्री ने भारत के लिए 80 टेस्ट और 150 वनडे मैच खेले हैं. (फोटो: Reuters)

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम मैदान पर हो या बाहर, इसके मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) हमेशा चर्चा में रहते हैं. शास्त्री ज्यादातर आलोचकों के निशाने पर रहते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि उनका सबसे बड़ा आलोचक कौन है. रवि शास्त्री ने इसका खुलासा बुधवार को खुद ही किया. इतना ही नहीं, उन्होंने अपने इस आलोचक को जन्मदिन की शुभकामनाएं भी दीं. 

दरअसल, रवि शास्त्री की सबसे बड़ी आलोचक कहीं और नहीं, उनके घर पर ही रहती हैं. यह आलोचक कोई और नहीं, उनकी मां ही हैं. रवि शास्त्री ने बुधवार (6 नवंबर) को ट्वीट कर मां को शुभकामनाएं दीं. उन्होंने लिखा, ‘मेरी सबसे बड़ी आलोचक और प्रेरणा को जन्मदिन मुबारक. हैप्पी बर्थडे मां. यहां से सिंगल्स लेते हुए आगे बढ़ते रहिए. कोई जल्दबाजी नहीं है.’ शास्त्री की मां 80वां जन्मदिन मना रही हैं. 

यह भी पढ़ें: IPL 2020: अब नो बॉल पर नहीं होगा कोई बवाल, BCCI करने जा रहा है नया प्रयोग 

बता दें कि रवि शास्त्री की मां क्रिकेट प्रशंसक हैं और उन्हें कई आंकड़े मुंहजबानी याद हैं. वे काफी सख्त हैं और उनका रवि शास्त्री को डांटने का किस्सा भी मशहूर है. यह किस्सा तब का है जब रवि शास्त्री ने प्रथमश्रेणी मैच में एक ओवर में छह छक्के लगाए थे. 

 

Ravi Shastri

रवि शास्त्री ने यह किस्सा एक बार खुद बताया था. उनके शब्दों में, ‘मैंने जिस दिन एक ओवर में छह छक्के मारे, उस रात देर से घर लौटा. मां ने दरवाजा खोला और मैं उनसे कोई बात किए बिना सो गया. सुबह जब उठा तो मां ने कड़ी फटकार लगा दी. मां ने बताया कि उन्हें मेरे छह छक्के लगाने वाली बात सुबह सब्जी वाले से पता लगी. मां ने कहा कि इससे शर्मनाक बात क्या होगी कि मेरे बेटे की कोई उपलब्धि मुझे बाहर वाला बताए. 

 

57 साल के रवि शास्त्री भारत के बेहतरीन खिलाड़ियों में शुमार रहे हैं. उन्होंने 80 टेस्ट और 150 वनडे मैच खेले. 1992 में संन्यास लेने के बाद वे कॉमेंट्री करने लगे. उनकी गितनी दुनिया के बेहतरीन कॉमेंटेटर्स में होती है. फिलहाल वे भारतीय टीम के मुख्य कोच हैं.