close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत में हम किसी को भी हरा सकते हैं, अब बारी विदेशी सरजमी पर जीतने की है: रवि शास्त्री

शास्त्री ने कहा कि टीम इंडिया की जीत बेहतर प्लानिंग और उसका बेहतर क्रियान्वयन का नतीजा है.

भारत में हम किसी को भी हरा सकते हैं, अब बारी विदेशी सरजमी पर जीतने की है: रवि शास्त्री
भारत ने इंग्लैंड को 203 रनों की करारी शिकस्त दी.

नॉटिंघम: टीम इंडिया ने ट्रेंट ब्रिज मैदान पर खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में एक तरफा प्रदर्शन कर मेजबान टीम को 203 रनों से करारी शिकस्त देने के बाद टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री के प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भारत में हम किसी को भी हरा सकते हैं लेकिन अब बारी विदेशी सरजमी पर बेहतर प्रदर्शन करने की है. शास्त्री ने कहा, "इससे अच्छी बात क्या हो सकती है कि बच्चों (खिलाड़ियों) से जो मांगा जाय, वह मिल जाए. मुझे टीम के खिलाड़ियों पर गर्व है. उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया. उन्हें भरोसा है कि वे कर सकते हैं."

टीम इंडिया की वापसी की प्रशंसा करते हुए शास्त्री ने कहा, "2-0 से पिछड़ने के बावजूद हम यहां इस टेस्ट को जीतने के लिए आए थे. यह बेहतर प्लानिंग और बेहतर क्रियान्वयन का नतीजा है.

भारत ने 203 रन से दी करारी शिकस्त
भारत ने इंग्लैंड को 203 रनों की करारी शिकस्त दी. पहले दिन से भी भारतीय टीम इंग्लैंड पर हावी थी. भारत ने इंग्लैंड के सामने चौथी पारी में 521 रनों का विशाल लक्ष्य रखा था. आखिरी दिन बुधवार को रविचंद्रन अश्विन ने जेम्स एंडरसन (11) के रूप में इंग्लैंड का आखिरी विकेट 317 के कुल स्कोर पर लेकर भारत को सीरीज की पहली जीत दिलाई. भारत अभी भी सीरीज में 1-2 से पीछे है. 

बुमराह ने लिए पांच विकेट
इंग्लैंड को इस स्कोर तक ढेर करने में पांच विकेट लेने वाले जसप्रीत बुमराह का अहम योगदान रहा. उनके अलावा ईशांत शर्मा ने दो विकेट अपने नाम किए. रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शमी, हार्दिक पांड्या ने एक-एक विकेट अपने नाम किए. भारत ने पहली पारी में 329 रन बनाए थे और हार्दिक पांड्या के पांच विकेटों के दम पर इंग्लैंड को पहली पारी में 161 रनों पर ही ढेर कर दिया था. भारत ने कप्तान कोहली (103) के 23वें टेस्ट शतक के दम पर अपनी दूसरी पारी सात विकेट के नुकसान पर सात विकेटों के नुकसान पर 352 रनों पर घोषित कर इंग्लैंड को 521 रनों का लक्ष्य दिया था.