close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

एमएसके प्रसाद ने माना- वर्ल्ड कप की रेस ओपन; पंत-विजय शंकर-रहाणे बना सकते हैं टीम में जगह

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा कि ऋषभ पंत के प्रदर्शन ने चयनकर्ताओं की मुश्किलें बढ़ा दी हैं.

एमएसके प्रसाद ने माना- वर्ल्ड कप की रेस ओपन; पंत-विजय शंकर-रहाणे बना सकते हैं टीम में जगह
एमएसके प्रसाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के मुख्य चयनकर्ता हैं. (फाइल फोटो)

मुंबई: अब से करीब तीन महीने बाद इंग्लैंड में आईसीसी विश्व कप होना है. भारतीय टीम को खिताब जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. हालांकि, टीम इंडिया के ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड दौरे के बाद ऐसा लगने लगा है कि टीम की बैटिंग लाइनअप अब भी तय नहीं है. खासकर नंबर-4 की पोजीशन को लेकर संशय है. यह संशय तब और गहरा हो गया जब बीसीसीआई (BCCI) के प्रमुख चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा कि ऋषभ पंत, विजय शंकर और अंजिक्य रहाणे विश्व कप के लिए चुनी जाने वाली टीम का हिस्सा हो सकते हैं. 

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने माना कि पंत के बेहतरीन प्रदर्शन ने चयनकर्ताओं की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. साथ ही, विजय शंकर की बल्लेबाजी ने विश्व कप के लिए चुनी जाने वाली टीम को एक नया आयाम दिया है. विजय शंकर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज में 84 रन बनाए थे. जबकि, ऋषभ पंत ने इतने ही मैचों में 80 रन बनाए. इन दोनों के अलावा सिर्फ रोहित शर्मा ही एकमात्र भारतीय रहे, जो 80 की रनसंख्या पार कर सके. उन्होंने 89 रन बनाए. 

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: धोनी-शमी ने तो दूर कर दी चिंता, पर विश्व कप तक नहीं सुलझेगी नंबर-4 की समस्या

'क्रिकइंफो' ने प्रसाद के हवाले से बाताया, ‘निश्चित रूप से ऋषभ पंत रेस में हैं. उन्होंने चयनकर्ताओं की मुश्किलें बढ़ा दी हैं जो कि एक अच्छी चीज है. पिछले एक साल में खेल के सभी प्रारूपों में पंत का प्रदर्शन दमदार रहा है. हमें महसूस हुआ कि उन्हें परिपक्व होने की जरूरत है. इसलिए हमने उन्हें इंडिया-ए की हर संभव सीरीज में शामिल किया.’ 

ऋषभ पंत ने 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ केवल तीन वनडे मैच खेले, लेकिन टेस्ट क्रिकेट और इंडिया-ए की ओर से किए गए शानदार प्रदर्शन के लिए चयनकर्ताओं ने उनकी सराहना की. विश्व कप के लिए ऋषभ पंत को भारतीय टीम में बतौर बल्लेबाज भी शामिल किया जा सकता है क्योंकि महेंद्र सिंह धोनी और दिनेश कार्तिक के रूप में चयनकार्ताओं के पास विकेटकीपर का विकल्प पहले से ही मौजूद है. 

दूसरी ओर,ऑलराउंडर शंकर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ हुई टी20 सीरीज में विराट कोहली की गैरमौजूदगी में नंबर तीन पर बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए टीम में अपनी उपयोगिता भी साबित की है. प्रसाद ने कहा, ‘जितने भी मौके मिले उसमें विजय शंकर ने यह दर्शाया कि उनके पास इस स्तर पर खेलने की क्षमता है. हम पिछले दो वर्षो से इंडिया-ए के विभिन्न टूर के जरिए बेहतर खिलाड़ी बनाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन हमें यह देखाना होगा कि वह टीम में किस तरह फिट बैठेंगे.’

अजिंक्य रहाणे पर एमएसके प्रसाद ने कहा, ‘घरेलू क्रिकेट में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया है. वे विश्व कप के लिए चुनी जाने वाली टीम में शामिल हो सकते हैं.’ अजिंक्य रहाणे भारत के लिए 90 वनडे मैच खेल चुके हैं. उन्होंने इन मैचों में 35.26 की औसत से 2962 रन बनाए हैं. रहाणे को 2016-17 में टीम इंडिया में नंबर-4 के लिए फिट माना जा रहा था. हालांकि, 2018 में उन्हें ज्यादा मौका नहीं दिया गया. एक तरह से यह मान लिया गया कि वे टीम इंडिया में फिट नहीं हो पा रहे हैं. रहाणे ने भारत के लिए पिछला वनडे मैच 2018 में छह फरवरी को खेला था. 

एमएसके प्रसाद ने जिन तीन नामों को वर्ल्ड कप की रेस में बताया है. वे तीनों ही नंबर-4 के दावेदार के तौर पर देखे जा रहे हैं. वजह, पहले तीन नंबर तक रोहित शर्मा, शिखर धवन और विराट कोहली की जगह पक्की है. पांचवें नंबर पर एमएस धोनी का खेलना तय है. छठे नंबर पर केदार जाधव और दिनेश कार्तिक में से किसी को मौका मिलेगा. ऐसे में अगर ऋषभ पंत, विजय शंकर और अजिंक्य रहाणे में से किसी एक को भी टीम इंडिया में शामिल किया जाता है तो उसे चौथे नंबर पर ही मौका मिल सकता है. इस पूरे बयान का लब्बोलुआब भी यही है कि नंबर-4 पर अंबाती रायडू के खेल से टीम प्रबंधन संतुष्ट नहीं है और इस नंबर पर जगह बनाने के लिए खिलाड़ियों के बीच रेस ओपन है. 

(इनपुट: आईएएनएस)