close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रोहित भाई वनडे के बाद टेस्ट ओपनिंग में आपने दिखाया कमाल, अबकी बार कर दो 400 पार...!

जब पूरा देश मां दूर्गा के अष्टमी रूप महागौरी की अराधना कर रहा है तब इंडिया के रणबांकुरों ने क्रिकेट के मैदान में दक्षिण अफ्रीका को बुरी तरह पटखनी दी है. यूं तो इस जीत में सभी 11 प्लेयर्स ने योगदान दिया, लेकिन रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने पहली बार टेस्ट में मिले मौके को इस तरह से भुनाया है कि फैंस की उनसे और भी डिमांड बढ़ गई है. 

रोहित भाई वनडे के बाद टेस्ट ओपनिंग में आपने दिखाया कमाल, अबकी बार कर दो 400 पार...!
मध्यक्रम में कुछ खास नहीं करने वाले रोहित शर्मा ओपनिंग पोजीशन में वनडे के बाद टेस्ट में भी कमाल किया है. तस्वीर साभार- ट्विटर पेज @BCCI

नई दिल्ली: विशाखापट्टनम में दक्षिण अफ्रीका (India vs South africa test) के खिलाफ टीम इंडिया (Team india) ने 203 रनों की महाजीत दर्ज की है. जब पूरा देश मां दूर्गा के अष्टमी रूप महागौरी की अराधना कर रहा है तब इंडिया के रणबांकुरों ने क्रिकेट के मैदान में दक्षिण अफ्रीका को बुरी तरह पटखनी दी है. यूं तो इस जीत में सभी 11 प्लेयर्स ने योगदान दिया, लेकिन रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने पहली बार टेस्ट में मिले मौके को इस तरह से भुनाया है कि फैंस की उनसे और भी डिमांड बढ़ गई है. पहली बार टेस्ट मैच में ओपनिंग करने के उतरे रोहित ने मैच की दोनों पारियों में शतक ठोककर बता दिया है कि ट्रेलर जब इतना जोरदार है तो पूरी फिल्म कैसी होगी.

दरअसल, यहां ट्रेलर और फिल्म की बात इसलिए कही जा रही है क्योंकि वनडे मैचों में रोहित शर्मा (Rohit Sharma) लंबे समय तक फ्लॉप होते रहे थे, लेकिन जब उन्हें ओपनिंग स्लॉट पर उतार गया तो तीन बार डबल सेंचुरी जड़कर बता दिया कि वह बैटिंग ऑर्डर के लिए कितने घातक बैट्समैन हैं. अब टेस्ट मैच में पहली बार ओपनिंग का मौका मिला तो दोनों पारियों में शतक जड़ दिया. इस आधार पर कहा अनुमान लगाया जा सकता है कि जब रोहित ने पहले ही मौके में इतनी शानदार पारी खेली है तो आगे क्या-क्या कारनामे करेंगे. 

ये भी पढ़ें: IND vs SA: अश्विन-जडेजा का चला जादू, शमी की आई आंधी और धूल में मिल गया दक्षिण अफ्रीका

टेस्ट क्रिकेट में किसी बल्लेबाज के लिए 400 रनों का आंकड़ा पार करना ऐतिहासिक पल माना जाता है. ऐसे में फैंस उम्मीद कर रहे हैं कि जब रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने वनडे में तीन बार 200 का आंकड़ा पार कर दिया तो टेस्ट में भी वह दो-तीन बार 400 रनों का आकंड़ा पार करने की कुवत रखते हैं. हालांकि ये तो वक्त ही बताएगा कि आखिर रोहित फैंस की उम्मीदों पर कहां तक उतरते हैं. रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की बैटिंग टेक्निक को देखते हुए क्रिकेट के जानकार मानते हैं कि टेस्ट क्रिकेट में भी बतौर ओपनर रोहित कारनामा करने में सक्षम हैं.

मालूम हो कि भारत के ओपनिंग बै्टसमैन रोहित शर्मा (Rohit Sharma) एक टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक बनाने वाले भारत के छठे बल्लेबाज बन गए हैं. खास बात यह है कि रोहित ने पहली बार बतौर सलामी बल्लेबाज खेलते हुए यह मुकाम हासिल किया है और इसी के साथ वह बतौर सलामी बल्लेबाज पदार्पण करते हुए एक टेस्ट की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं.

32 वर्षीय रोहित ने विशाखापट्टनम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जारी पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन शनिवार को यह उपलब्धि हासिल की. रोहित ने पहली पारी में 176 और दूसरी पारी में 127 रन की शतकीय पारी खेली. भारत के लिए अब तक 27 टेस्ट मैच खेल चुके रोहित का यह पांचवां शतक है. क्रिकेट के इस लंबे प्रारूप में रोहित का 177 रन सर्वोच्च स्कोर है. 

रोहित से पहले अब तक विजय हजारे, सुनील गावस्कर, राहुल द्रविड़, विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे एक टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक जड़ चुके हैं. हजारे ने एडिलेड में जनवरी 1948 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ 116 और 145 रन की पारी खेली थी. वहीं, गावस्कर ने सर्वाधिक तीन बार एक टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक जमाया है.

गावस्कर ने अप्रैल 1971 में पोर्ट ऑफ स्पेन में वेस्टइंडीज के खिलाफ 124 और 220, नवंबर 1978 में कराची में पाकिस्तान के खिलाफ 111 और 137 तथा दिसंबर 1978 में कोलकाता में वेस्टइंडीज के खिलाफ 107 और 182 रन की नाबाद शतकीय पारी खेली थी.

द्रविड़ ने जनवरी 1999 में हेमिल्टन में न्यूजीलैंड के खिलाफ 190 और नाबाद 103 तथा मार्च 2005 में कोलकाता में पाकिस्तान के खिलाफ 110 और 135 रन की शतकीय पारी खेली थी.

उनके अलावा कोहली ने दिसंबर 2014 में एडिलेड में आस्ट्रेलिया के खिलाफ 115 और 141 जबकि रहाणे दिसंबर 2015 में दिल्ली में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 127 और नाबाद 100 रन की शतकीय पारी खेल चुके हैं.