संजय बांगर ने बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड का ऑफर क्यों ठुकराया ? जानिए असली वजह

संजय बांगर को बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड उनकी राष्ट्रीय टीम के बल्लेबाजी सलाहकार बनने का ऑफर दिया था, लेकिन इसको लेकर सहमति नहीं बन पाई.

संजय बांगर ने बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड का ऑफर क्यों ठुकराया ? जानिए असली वजह
संजय बांगर टीम इंडिया के भी बल्लेबाजी कोच रह चुके हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ीऔर पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगर (Sanjay Bangar) ने निजी और पेशेवर कारणों से बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) का ऑफर ठुकरा दिया है. उन्हें टेस्ट क्रिकेट के लिए बांग्लादेश क्रिकेट टीम (Bangladesh Cricket Team) के बल्लेबाजी सलाहकार बनाने की पेशकश की गई थी. बांगर का स्टार स्पोर्ट्स के साथ 2 साल का करार हो चुका है, ऐसे में वो इस ऑफर को स्वीकार नहीं कर सकते.  बांगर साल 2014 से साल 2019 तक भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाजी सलाहकार रह चुके हैं. 

यह भी पढ़ें- भारतीय क्रिकेट के लिए Good News, ICC पैनल में भारत की 2 महिला अंपायर शामिल

बांगर ने कहा, " बीसीबी ने 8 हफ्ते पहले मेरे सामने ये ऑफर रखा था, लेकिन स्टार के साथ अपने कॉन्ट्रेक्ट को मैंने अंतिम रूप दे दिया है, जिससे मुझे अपनी निजी और पेशेवर प्रतिबद्धताओं के बीच बैलेंस बनाने का मौका मिलेगा. हांलाकि मैं भविष्य में बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के साथ काम करने के लिए तैयार हूं." दक्षिण अफ्रीका के पूर्व खिलाड़ी नील मैकेंजी इस वक्त सीमित ओवरों के क्रिकेट में बांग्लादेश को अपनी सेवाएं दे रहे हैं और बोर्ड टेस्ट में भी उनकी सेवाएं लेना चाहता है. हालांकि मैकेंजी तीनों फॉर्मेट में कोचिंग नहीं देना चाहते हैं.

हांलाकि बीसीबी के सीईओ निजामुद्दीन चौधरी ने बुधवार को मीडिया से कहा था कि, "हमने बांगर के साथ बात की है, लेकिन अभी कुछ भी फाइनल नहीं हुआ है. इसके अलावा हम कुछ अन्य लोगों के साथ भी बातचीत कर रहे हैं. सीमित ओवरों का बल्लेबाजी सलाहकार होने के बावजूद मैकेंजी को टेस्ट में सलाहकार बनाने पर विचार कर रहे हैं और जब तक हम टेस्ट के लिए बल्लेबाजी सलाहकार नियुक्त नहीं कर लेते हैं तब हम उम्मीद करते हैं कि वह टेस्ट में भी अपनी भूमिका निभाए.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.