close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

संजय मांजरेकर की टीम इंडिया को नसीहत, कब तक पीछे की ओर भागोगे!

 दिनेश कार्तिक को लंबे वक्त से टीम इंडिया के लिए इमरजेंसी में विकेटकीपर के तौर पर रखा जा रहा है.

संजय मांजरेकर की टीम इंडिया को नसीहत, कब तक पीछे की ओर भागोगे!
ऋषभ पंत ने शुरुआत से ही धोनी की छवि देखी जा रही है (PIC : BCCI)

नई दिल्ली: टीम इंडिया निडास ट्रॉफी के लिए श्रीलंका के दौरे पर है. टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली, दिग्गज विकेटकीपर-बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी, तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार एवं जसप्रीत बुमराह, स्पिनर कुलदीप यादव और हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या को इस सीरीज के लिए आराम देकर नए चेहरों को टीम में शामिल किया है. इस सीरीज के लिए ऋषभ पंत को भी मौका दिया गया है. यानि इस सीरीज में दो विकेटकीपर दिनेश कार्तिक और ऋषभ पंत खेल रहे हैं. अब इन दोनों में से रोहित किसको मौका देंगे इस पर सवाल किए जा रहे हैं. क्रिकेट एक्सपर्ट संजय मांजरेकर ने टीम इंडिया में विकेटकीपर की स्थिति पर जो कमेंट किया है, उससे ऐसा लगता है कि टीम इंडिया का प्रबंधन आगे की ओर ना देखकर पीछे भाग रही है. 

वैसे ट्रेंड को देखा जाए तो कप्तान विराट कोहली विकेटकीपर के रूप में नए खिलाड़ियों की बजाय दिनेश कार्तिक, ऋद्धिमान साहा और पार्थिव पटेल जैसे पुराने साथियों को ही आजमाते रहे हैं. ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि रोहित शर्मा भी दिनेश कार्तिक को ही मौका देंगे. 

कप्तानी के बोझ तले दबा धोनी का 'उत्तराधिकारी', अगले 5 साल के लिए की 'तौबा'

वहीं, कमेंटटेर संजय मांजरेकर का मानना है कि रोहित शर्मा को इस बार ऋषभ पंत को मौका देना चाहिए, क्योंकि वह मुश्किलों से खोजी गई एक प्रतिभा हैं. टाइम्स ऑफ इंडिया में लिखे एक कॉलम में संजय मांजरेकर का कहना है, ''अच्छा यही होगा कि ऋषभ पंत को हर मैच में खेलने का मौका दिया जाए, ताकि वह पूरे टूर्नामेंट में अपने प्रदर्शन से यह साबित कर सकें.''

अपने इस कॉलम में मांजरेकर ने दिनेश कार्तिक और पार्थिव पटेल को लेकर भी तीखी टिप्पणी की है. उन्होंने कहा, ‘'जब भी हमें विकेटकीपिंग में महेंद्र सिंह धोनी और ऋद्धिमान साहा की जगह किसी को देनी होती है तो हम दिनेश कार्तिक और पार्थिव पटेल की तरफ चले जाते हैं. इसे देखकर ऐसा लगता है कि भारतीय टीम में इस वक्त अच्छे विकेटकीपर-बल्लेबाजों की कमी है.’'

विराट के इस 'मंत्र' को फ़ॉलो करते हैं टी20 में सबसे तेज शतक लगाने वाले ऋषभ पंत

इमरजेंसी विकेटकीपर हैं दिनेश कार्तिक 
बता दें कि दिनेश कार्तिक को लंबे वक्त से टीम इंडिया के लिए इमरजेंसी में विकेटकीपर के तौर पर रखा जा रहा है. 2004 में जब धोनी ने वापसी की थी, उसके तीन महीने पहले ही दिनेश कार्तिक ने डेब्यू किया था. कार्तिक कभी भी टीम में अपनी जगह पक्की नहीं कर पाए, लेकिन धोनी के विकल्प के रूप में उन्हें हमेशा इस्तेमाल किया जाता रहा है. 

Rishabh Pant,

ऋषभ पंत को मिला है धोनी की जगह मौका 
निडास ट्रॉफी के लिए इस बार महेंद्र सिंह धोनी की जगह ऋषभ पंत को मौका मिला है. सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी टूर्नामेंट और रणजी ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन प्रदर्शन के दम पर दिल्ली के ऋषभ पंत एक बार फिर से टीम इंडिया में जगह बनाने में कामयाब हुए हैं. इससे पहले ऋषभ पंत को फरवरी 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ हुई टी-20 सीरीज में शामिल किया गया था. उन्होंने आखिरी टी-20 मैच जुलाई 2017 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ खेला था. उन्होंने टीम इंडिया की ओर से दो ही टी-20 मैच में हिस्सा लिया है. इसमें उन्होंने कुल 43 रन बनाए.

संजू सैमसन को भी आजमाया जाना चाहिए
केरल से ताल्लुक रखने वाले खिलाड़ी संजू सैमसन एक बेहतरीन बल्लेबाज होने के साथ शानदार विकेटकीपर भी हैं. इसीलिए जब धोनी के रिप्लेसमेंट की बात होती है, तब संजू सैमसन का नाम भी सामने आता रहा है. हालांकि, उन्हें अभी तक कोई मौका नहीं मिल पाया है. लेकिन घरेलू टूर्नामेंट्स और आईपीएल में संजू ने खुद को साबित किया है. संजू बैटिंग और विकेटकीपिंग दोनों में तकनीकी रूप से बढ़िया माने जाते हैं. संजू की फर्स्ट क्लास क्रिकेट में एंट्री 17 साल की उम्र में केरल के लिए विदर्भ के खिलाफ हुई थी.