close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारतीय खिलाड़ी डे-नाइट टेस्ट खेलने से भयभीत, नहीं खेलना चाहते गुलाबी गेंद से : संजय मांजरेकर

संजय मांजरेकर ने कहा, ‘‘आज टेस्ट क्रिकेट खाली स्टैंड के सामने खेला जाता है और आईपीएल 50,000 से ज्यादा जुनूनी लोगों के सामने जिसे लाखों लोग टीवी पर देखते हैं.’’ 

भारतीय खिलाड़ी डे-नाइट टेस्ट खेलने से भयभीत, नहीं खेलना चाहते गुलाबी गेंद से : संजय मांजरेकर
''IPL से आपको शोहरत और धन मिलता है, कौन इसे न कहेगा?'' (फाइल फोटो)

मुंबई: पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर का मानना है कि दिन-रात्रि टेस्ट मैचों से दर्शकों की संख्या में इजाफा होगा. इसके साथ ही उन्होंने इस बात पर हैरानी व्यक्त की कि भारत इसे अपनाने के खिलाफ क्यों है. उन्होंने कहा कि खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट के बजाय टी-20 लीग में खेलना इसलिए पंसद कर रहे हैं क्योंकि छोटे प्रारूप में काफी धन राशि होती है.  मांजरेकर ने कहा, ‘‘ज्यादा से ज्यादा लोगों को टेस्ट क्रिकेट के प्रति रूझाने, दर्शकों की संख्या बढ़ाने, लोकप्रियता बढ़ाने का एकमात्र तरीका दिन-रात्रि टेस्ट मैच हैं.’’ इस पूर्व खिलाड़ी ने क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया में नौंवे दिलीप सरदेसाई स्मारक व्याख्यान में भाषण देते हुए हैरानी व्यक्त की, ‘‘हम ज्यादा दिन-रात्रि टेस्ट मैच क्यों नहीं खेल रहे हैं, जबकि पता है कि इससे दर्शकों की संख्या में और इजाफा ही होगा.’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘भारत ने हाल में एक पेशकश को ठुकरा दिया- क्योंकि खिलाड़ी इसमें खेलने से भयभीत हैं, गुलाबी गेंद और ओस में नहीं खेलना चाहते.’’ भारत के लिए 74 वन-डे खेल चुके 53 वर्षीय पूर्व क्रिकेटर ने कहा, ‘‘मेरा हमेशा ही मानना रहा है कि परिस्थितियां तब तक अनुचित नहीं होती जब तक ये दोनों टीमों के लिए एक सी हैं.’’ 

धोनी से ज्यादा उम्मीद ना करें, अब वह दुनिया के बेस्ट फिनिशर नहीं रहे : संजय मांजरेकर

संजय मांजरेकर ने कहा, ‘‘आज टेस्ट क्रिकेट खाली स्टैंड के सामने खेला जाता है और आईपीएल 50,000 से ज्यादा जुनूनी लोगों के सामने जिसे लाखों लोग टीवी पर देखते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हर हालत में खिलाड़ी आईपीएल में खेलना चाहते हैं, जिसके बाद और इसके दौरान खिलाड़ियों को कितनी ही चोटें लगती हैं. आईपीएल से आपको शोहरत और धन मिलता है, कौन इसे न कहेगा?’’ 

मांजरेकर ने कहा, ‘‘साथ ही टेस्ट क्रिकेट इतना मुश्किल है, इसलिए हैरानी की बात नहीं है कि कई क्रिकेटर टेस्ट क्रिकेट के बजाय टी-20 लीग को चुन रहे हैं.’’ 

भारत भविष्य में दिन-रात्रि टेस्ट खेलेगा: एडुल्जी
प्रशासकों की समिति (सीओए) की सदस्य डायना एडुल्जी ने सोमवार को कहा कि बीसीसीआई भारत के दिन-रात्रि टेस्ट में खेलने का तरीका निकालने की कोशिश कर रहा है. ऑस्ट्रेलिया ने दिसंबर में उसकी सरजमीं पर होने वाले दौरे के दौरान एडिलेड में गुलाबी गेंद के क्रिकट के लिए मेजबानी करने की इच्छा व्यक्त की थी लेकिन भारत ने दिन-रात्रि टेस्ट में खेलने से इनकार कर दिया था. 

BCCI लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार के लिए डायना इडुल्जी के नाम की सिफारिश

एडुल्जी ने दिन-रात्रि टेस्ट के बारे में उनके विचार पूछे तो उन्होंने नौंवे दिलीप सरदेसाई स्मारक व्याख्यान के मौके पर कहा, ‘‘हम इस पर काम रहे हैं. ऐसा होगा. ’’ यह पूछने पर कि यह कहां होगा, भारत में या विदेश में तो उन्होंने कहा, ‘‘कहीं भी. ’’ भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दिन-रात्रि टेस्ट खेलने का मौका गंवा दिया तो उन्होंने कहा, ‘‘यह हो चुका है, लेकिन इसमें बदलाव होगा.’’