close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दूसरा टी20 मैच भी रोमांचक होने की उम्मीद, इंग्लैंड में अब भी है कुलदीप का खौफ

भारत और इंग्लैंड के दूसरे टी20 मैच में इंग्लैंड को जहां कुलदीप यादव से खतरा होगा, वहीं भारत के लिए जो बटलर मुसीबत खड़ी कर सकते हैं.

दूसरा टी20 मैच भी रोमांचक होने की उम्मीद, इंग्लैंड में अब भी है कुलदीप का खौफ
टीम इंडिया पहला टी20 मैच जीत कर काफी उत्साहित है. (फोटो : Reuters)

कार्डिफ : भारत और इंग्लैंड के बीच चल रही टी20 सीरीज का दूसरा मैच शुक्रवार को होगा. पहले मैच में शानदार जीत दर्ज करने वाली भारतीय टीम इस  मैच में फिरकी से खौफजदा इंग्लैंड को हराकर सीरीज अपने नाम करने के इरादे से उतरेगी. पहले मैच में कुलदीप यादव ने 24 रन देकर पांच विकेट लिए थे. जबकि के एल राहुल ने नाबाद शतक जमाया. भारत ने बेहतरीन हरफनमौला खेल का प्रदर्शन करते हुए मेजबान को आठ विकेट से हराकर सीरीज में बढत बनाई थी. कल का मैच जीतकर विराट कोहली एंड कंपनी सीरीज झोली में डालना चाहेगी. 

भारतीय टीम टी20 क्रिकेट में लगातार छठी सीरीज जीतने की दहलीज पर है. इस सिलसिले का आगाज नवंबर 2017 में न्यूजीलैंड पर घरेलू सीरीज में मिली जीत के साथ हुआ था. उसके बाद से भारत ने एक भी द्विपक्षीय टी20 सीरीज नहीं गंवाई है. भारत अगर सीरीज 2-0 से जीतता है तो आईसीसी रैंकिंग में दूसरे स्थान पर काबिज ऑस्ट्रेलिया से अंतर कम हो जाएगा जबकि 3-0 से जीतने पर वह पाकिस्तान के बाद दूसरे स्थान पर आ जाएगा. 

दूसरी ओर भारत को ऐसा करने से रोकने के लिए ऑस्ट्रेलिया को जिम्बाब्वे में चल रही मौजूदा त्रिकोणीय सीरीज के अगले दो मैचों में जीत दर्ज करनी होगी. दूसरी ओर इंग्लैंड अगर हारता है तो न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज के बाद सातवें स्थान पर आ जाएगा. इंग्लैंड ने पिछले 10 टी20 मैचों में से पांच ही जीते हैं. 

मशीन का इस्तेमाल कर रही है इंग्लैंड
इंग्लैंड के बल्लेबाजों के लिए सबसे बड़ी चिंता चाइनामैन कुलदीप यादव की गेंदबाजी होगी. पहले मैच में हार के बाद कप्तान इयोन मोर्गन और बल्लेबाज जोस बटलर ने अपने खिलाड़ियों से क्रीज पर संयम बरतने और गेंद को सावधानी से देखने की अपील की थी. इंग्लैंड खेमा अभ्यास के लिए स्पिन गेंदबाजी मशीन ‘मर्लिन’ का इस्तेमाल करेगा क्योंकि उसके पास अभ्यास की खातिर कलाई के स्पिन गेंदबाज नहीं है. 

इससे पहले 2005 एशेज से पहले इंग्लैंड ने इस मशीन का इस्तेमाल किया था जब ऑस्ट्रेलिया के पास शेन वार्न जैसा स्पिनर था. इंग्लैंड के शीर्षक्रम ने तेज आक्रमण को बखूबी झेला था जो भारत के लिए चिंता का सबब है. उमेश यादव और भुवनेश्वर कुमार दोनों ओल्ड टैफर्ड में नाकाम रहे थे. एक मैच के बाद भारतीय टीम प्रबंधन बदलाव करने के मूड में नहीं होगा. युजवेंद्र चहल को महंगे साबित होने के बावजूद टीम में बरकरार रखा जा सकता है. शुक्रवार  के मैच पर मौसम की गाज भी गिर सकती है. अब तक खिली धूप में खेलने के बाद यहां आसमान बादलों से घिरा है और हल्की बारिश हो रही है. 

बायीं बाजू में खिंचाव के कारण तेज गेंदबाज टिम कुरेन इंग्लैंड टीम से बाहर है. उनकी जगह उनके भाई सैम को जगह दी गई है. 

टीमें : 
भारत : 
विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, के एल राहुल, सुरेश रैना, मनीष पांडे, एम एस धोनी, दिनेश कार्तिक, युजवेंद्र सहल, कुलदीप यादव, कृणाल पंड्या, भुवनेश्वर कुमार, दीपक चहार, हार्दिक पंड्या, सिद्धार्थ कौल, उमेश यादव. 

इंग्लैंड : 
इयोन मोर्गन (कप्तान), मोईन अली, जानी बेयरस्टा, जैक बाल, जोस बटलर, सैम कुरेन, एलेक्स हेल्स, क्रिस जोर्डन, लियाम प्लंकेट, आदिल रशीद, जो रूट, जासन राय, डेविड विली, डेविड मालान.