ICC के बैन पर बोले शाकिब अल हसन, इस बात पर आज भी है मलाल

शाकिब अल हसन ने सट्टेबाजों से संपर्क की जानकारी नहीं दी थी जिसकी वजह से आईसीसी ने उन पर 2 साल का बैन लगा दिया है.

ICC के बैन पर बोले शाकिब अल हसन, इस बात पर आज भी है मलाल
शाकिब अल हसन को दुनिया का बेहतरीन ऑलराउंडर माना जाता है. (फोटो-IANS)

नई दिल्ली: बांग्लादेश के स्टार ऑलराउंडर शाकिब अल हसन ने कहा है कि सट्टेबाजों द्वारा संपर्क किए जाने के बावजूद इसकी जानकारी छुपाने के मामले में उन्होंने बहुत लापरवाही वाली गलती की थी. आईसीसी ने शाकिब पर 2 साल का बैन लगा रखा है. वह इस साल 29 अक्टूबर के बाद क्रिकेट में फिर से लौट सकते हैं. शाकिब ने कहा, 'मैंने इन संपर्को को बहुत हल्के में लिया था. जब मैं भ्रष्टाचार रोधी अधिकारी से मिला तो उन्हें बता दिया है और उन्हें सब पता था.'

यह भी पढ़ें- 25 जून: श्रीकांत को नहीं थी वर्ल्ड कप 1983 जीतने की उम्मीद, कपिल की इस बात ने पलटी बाजी

उन्होंने कहा, 'मैंने उन्हें सभी सबूत दिए और जो हुआ उन्हें सब पता था. ईमानदारी से कहूं तो यही एकमात्र कारण है कि मुझे एक साल के लिए प्रतिबंधित किया गया, नहीं तो मुझ पर 5 या 10 साल का प्रतिबंध लग सकता था.' हरफनमौला क्रिकेटर ने कहा, 'लेकिन मुझे लगता है कि मैंने बेवकूफी भरी गलती की क्योंकि अपने अनुभव और मैंने जितने अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं और आईसीसी की भ्रष्टाचार रोधी आचार संहिता की जितनी क्लास ली है, उसे देखते हुए कहूं तो मुझे यह (सट्टेबाजों द्वारा संपर्क करने की जानकारी अधिकारियों को नहीं देना) फैसला नहीं करना चाहिए था.'

शाकिब ने कहा, 'मुझे इसका खेद है. किसी को भी इस तरह के संदेशों या फोन (सट्टेबाजों के) को हल्के में नहीं लेना चाहिए या नजरअंदाज नहीं करना चाहिए.' उन्होंने कहा, 'सुरक्षित रहने के लिए हमें इसकी जानकारी आईसीसी की भ्रष्टाचार रोधी इकाई के अधिकारी को देनी चाहिए और मैंने यह सबक सीखा और मुझे लगता है कि यह बड़ा सबक है.'
(इनपुट-आईएएनएस)