5 साल के बैन के खिलाफ अपील करेंगे शारजील खान, स्पॉट फिक्सिंग का मामला

पंचाट द्वारा जारी एक संक्षिप्त आदेश के अनुसार शारजील पर दो चरण में यह पांच साल का प्रतिबंध लगेगा जिसमें से ढाई साल वह पीसीबी की निगरानी में निलंबित सजा भुगतेगा.

5 साल के बैन के खिलाफ अपील करेंगे शारजील खान, स्पॉट फिक्सिंग का मामला
शारजील एक टेस्ट, 25 वनडे और 25 टी20 मैच खेल चुके हैं. (फाइल फोटो)

कराची: पाकिस्तान के प्रतिबंधित बल्लेबाज शारजील खान ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की भ्रष्टाचार रोधी पंचाट द्वारा लगाये गये पांच साल के प्रतिबंध के खिलाफ अपील करने का फैसला किया है. शारजील पर पाकिस्तान सुपर लीग में स्पॉट फिक्सिंग में उनकी भूमिका के लिये यह प्रतिबंध लगाया गया. शारजील के वकील शेघन एजाज ने पुष्टि की कि प्रतिबंध के खिलाफ अपील करने का फैसला किया, लेकिन किस आधार पर अपील की जायेगी, इस पर निर्णय सात सितंबर को पंचाट के पूर्ण आदेश के आने के बाद लिया जायेगा. एजाज ने कहा, ‘‘हां, हमने प्रतिबंध के खिलाफ अपील करने का फैसला किया है क्योंकि हमें पंचाट के फैसले पर थोड़ी आपत्ति है जिसने तीन बड़े आरोपों में उन्हें दोषी पाया है जिसमें पाकिस्तान सुपर लीग में स्पॉट फिक्सिंग करना और स्पॉट फिक्स करने के लिये सहमति करना शामिल है.’’ 

पाक बल्लेबाज शारजील पर 5 साल का बैन, पीसीबी ने स्पॉट फिक्सिंग मामले में की कार्रवाई

पीसीबी की भ्रष्टाचार रोधी पंचाट ने टेस्ट बल्लेबाज शारजील खान पर इस साल फरवरी में पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) के दौरान स्पॉट फिक्सिंग प्रकरण में उनकी भूमिका के लिये बुधवार (30 अगस्त) को पांच साल का प्रतिबंध लगाया. शारजील को पीसीबी की भ्रष्टाचार रोधी संहिता की पांच धाराओं के उल्लघंन के लिये प्रतिबंधित किया गया. पंचाट द्वारा जारी एक संक्षिप्त आदेश के अनुसार शारजील पर दो चरण में यह पांच साल का प्रतिबंध लगेगा जिसमें से ढाई साल वह पीसीबी की निगरानी में निलंबित सजा भुगतेगा.

यह प्रतिबंध इस साल 10 फरवरी से प्रभावी हुआ, जब उन्हें पहले निलंबित किया गया था और पाकिस्तान के एक अन्य खिलाड़ी खालिद लतीफ के साथ स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों में दुबई से वापस भेज दिया गया था. यह सजा लाहौर उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश असगर हैदर की अध्यक्षता वाली पंचाट द्वारा सुनाई गयी, जिसका मतलब है कि 28 वर्षीय शारजील दो साल के बाद अपना करियर दोबारा शुरू कर सकते हैं.

शारजील के वकील शेघन एजाज ने मीडिया से कहा, ‘हम इस फैसले से संतुष्ट हैं और जैसा कि मैंने कहा, पीसीबी पंचाट को यह साबित करने के लिये पुख्ता सबूत पेश नहीं कर सकी कि उसने स्पॉट फिक्सिंग की थी.’ शारजील एक टेस्ट, 25 वनडे और 25 टी20 मैच खेल चुके हैं, उन्हें पूर्व मुख्य कोच वकार यूनिस ने पाकिस्तान का ‘वॉर्नर’ करार किया था, लेकिन वह शारजील के पीएसएल फिक्सिंग विवाद के बारे में जानकर काफी निराश थे.