टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम में भी होती थी गब्बर की एक 'बीवी', जानिए कौन है वो

 शिखर ने इस बात का खुलासा खुद ही अपने फैंस के सामने किया. उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के साथ लाइव टॉक में अपनी इस "बीवी" की जानकारी सभी को दी. 

टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम में भी होती थी गब्बर की एक 'बीवी', जानिए कौन है वो
एक मैच के दौरान शिखर धवन और मुरली विजय (फाइल फोटो)

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम के 'गब्बर' यानि शिखर धवन (Shikhar Dhawan) की पत्नी आएशा (Aesha Dhawan) के बारे में तो उनके सभी फैंस जानते हैं. आएशा खुद भी सोशल मीडिया पर बेहद फेमस है. उनकी और शिखर की बांडिंग लगातार सोशल मीडिया पर दिखाई भी देती रहती है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस गब्बर की एक 'बीवी' टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम के अंदर भी होती थी. शिखर ने इस बात का खुलासा खुद ही अपने फैंस के सामने किया. उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) के साथ लाइव टॉक में अपनी इस 'बीवी' की जानकारी सभी को दी. आप भी सोच रहे होंगे कि पुरुषों की टीम में आखिर कोई 'महिला' कहां से आ गई, जिसे शिखर अपनी बीवी मानने लगे तो चलिए हम आपको बताते हैं इस बारे में.

मुरली विजय को बताया अपनी पत्नी जैसा
दरअसल शिखर धवन ने अश्विन के साथ टॉक के दौरान अपने साथी ओपनिंग बल्लेबाज मुरली विजय (Murali Vijay) को अपनी पत्नी जैसा बताया. धवन और मुरली आपस में जोरदार दोस्त हैं. शिखर ने मुरली के लिए आगे कहा,"मैं मुरली विजय से कहता हूं कि आप मेरी पत्नी की तरह हो. जब हम रन नहीं बनाते थे तो हमारे बीच झड़प भी होती थी और फिर ये जल्दी ही खत्म भी हो जाती थी. दरअसल मुरली के समझना बेहद मुश्किल है. मैं उसे बेहद करीब से जानता हूं. आपको उसे समझने के लिए धैर्य रखना होगा. वह बहुत अच्छा इंसान है, जिसके साथ ओपनिंग करना मुझे पसंद है." 

डेब्यू पारी में मिली थी मुरली से बेहद मदद
शिखर धवन ने जब 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मोहाली में अपना टेस्ट डेब्यू किया तो मुरली ही उनके साथ ओपनिंग करने उतरे थे. उस टेस्ट में शिखर ने रिकॉर्ड 187 रन की पारी खेली थी और मुरली के साथ मिलकर 289 रन की साझेदारी भी की थी. शिखर ने अश्विन को बताया कि कैसे उस पारी में उन्हें मुरली विजय से बेहद मदद मिली थी. उन्होंने कहा, "मुरली ने मुझे बेहद समझाते हुए पारी को आगे बढ़ाने के लिए उत्साहित किया था. उनकी पिच पर सोच ही अलग तरह की थी." शिखर ने मुरली के साथ 24 टेस्ट मैच में ओपनिंग की थी, जिसे एक लंबा सफर कहा जा सकता है. दोनों मैदान के बाहर बेहद अच्छे दोस्त हैं, जो एक सफल ओपनिंग जोड़ी के लिए सबसे आवश्यक फैक्ट है. 

 

अश्विन ने कहा, सिनेमाहॉल के बॉलकनी टिकट लग सकते हैं तुम दोनों पर
मुरली के बारे में बोलते हुए शिखर ने मजाक में कहा, 'शुरुआत में मुझे समझ ही नहीं आता था कि मुरली क्या कहना चाह रहा है. मैं बस हां-हां करता रहता था. उसे भी नहीं पता था कि इसे कुछ समझ नहीं आ रहा है. एक-दो साल बाद मुझे उसकी बात सही में समझ आना चालू हुई." इस पर अश्विन ने हंसते शिखर की खिंचाई करते हुए कहा, "हां, मुझे याद है कि तुम दोनों की बातचीत याद है. मेरे ख्याल से उस पर सिनेमाहॉल की बॉलकनी का टिकट लगना चाहिए था. तुम दोनों को बात करते हुए देखने में इतना ही मजा आता था.'

प्रोफेशनल बांसुरी वादक बनना चाहते हैं शिखर
शिखर धवन अपनी जिंदगी में क्रिकेट के बाद बांसुरी को प्रोफेशनल तौर पर सीखना चाहते हैं. उन्होंने कहा, 'मुझे बांसुरी वाले गीत सुनना बहुत पसंद था. सड़क पर भी कोई बांसुरी बजा रहा होता था तो मैं ठहरकर सुनने लगता था. जब मुझे लगा कि कोई हॉबी अपनानी चाहिए तो मैंने बांसुरी की ही ऑनलाइन क्लास लेनी चालू की. अब इसे पांच साल हो गए हैं. मुझे बांसुरी बजाने में बेहद मजा आता है. क्रिकेट छोड़ने के बाद मैं इसकी प्रोफेशनल ट्रेनिंग लूंगा.'

कमेंटेटर और मोटिवेशनल स्पीकर भी बनने की ख्वाहिश
शिखर ने कहा, 'फ्यूचर के लिए मेरी जेब में बहुत सारे 'टूल्स' हैं. मैं हिंदी कमेंटेटर बनना चाहूंगा. मेरा सेंस ऑफ ह्यूमर जबरदस्त है और जब मैं कमेंट्री करूंगा तो हिंदी में जोरदार रहेगा. मेरे जोक्स की टाइमिंग गजब है.' उन्होंने आगे कहा, 'आजकल क्रिकेटरों के मोटिवेशनल स्पीकर बनने का भी बहुत ट्रेंड है. बड़े-बड़े कॉरपोरेट बुलाते हैं. मैं भी यदि ये बना तो अपनी बांसुरी भी साथ ले जाऊंगा.'