Zee Rozgar Samachar

टीम इंडिया के ऑस्ट्रेलियाई दौरे को लेकर पूर्व सेलेक्टर ने दिया ये अहम सुझाव

इस साल के आखिरी महीने में भारतीय क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर जाएगी, जहां खिलाड़ियों को सपोर्ट स्टाफ को क्वारंटीन नियमों का पालन करना होगा.

टीम इंडिया के ऑस्ट्रेलियाई दौरे को लेकर पूर्व सेलेक्टर ने दिया ये अहम सुझाव

नई दिल्ली: पूर्व हेड सिलेक्टर एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) ने मौजूदा भारतीय चयनकर्ताओं को सुझाव दिया है कि उन्हें भी वेस्टइंडीज और पाकिस्तान की तरह ऑस्ट्रेलिया दौरे पर 26 सदस्यीय मजबूत भारतीय टीम भेजनी चाहिए न कि 16 सदस्यीय टीम जैसा कि कोरोना काल से पहले हुआ करता था. यहां आपको बता दें कि मौजूदा समय में इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज के लिए वेस्टइंडीज ने 26 खिलाड़ियों का दल भेजा था, वहीं पाकिस्तान ने दोनों देशों के बीच होने वाली आगामी सीरीज के लिए 29 खिलाड़ियों की टीम भेजी है. 

यह भी पढ़ें- आखिर क्या है विराट की कप्तानी का X Factor? कोहली ने खुद किया खुलासा

गौरतलब है कि जिस तरह इंग्लैंड में 14 दिन के अनिवार्य क्वारंटीन का प्रावधान है, उसी तरह ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने भी विदेशी टीमों के लिए 14 दिन के क्वारंटीन का नियम बना रखा है और इसी वजह से जब टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया जाएगी तो उन्हें भी कोरोना वायरस प्रोटोकॉल का पालन करते हुए 14 दिन क्वारंटीन में बिताने होंगे. इन नियमों को देखते हुए ही एमएसके प्रसाद चाहते हैं कि भारत ऑस्ट्रेलिया दौरे पर 26 खिलाड़ियों की टीम भेजे.

एक न्यूज एजंसी से इस बारे में बात करते हुए प्रसाद ने कहा, 'टीम प्रबंधन और सीनियर खिलाड़ियों के पास युवाओं को देखने का मौका होगा जो टीम में जगह बनाने के लिये तैयार हैं. इस प्रक्रिया में, आप इन खिलाड़ियों पर निगरानी भी रख सकते हो जो भविष्य में विभिन्न स्थानों के लिये संभावित खिलाड़ी हो सकते हैं. कोविड के कारण हम नेट गेंदबाजों पर भरोसा नहीं कर सकते तो बड़े दल के साथ जाना आदर्श स्थिति होगी क्योंकि इससे हम सभी खिलाड़ियों की सुरक्षा सुनिश्चित कर सकते हैं क्योंकि वे जैविक रूप से सुरक्षित वातावरण में होंगे. अगर कोई कोविड-19 पॉजिटिव पाया जाता है तो इस दल में खिलाड़ियों को चुना जा सकता है क्योंकि वे अनिवार्य पृथकवास में समय बिता चुके होंगे.'

प्रसाद ने आगे कहा, 'यहां तक कि हमारे मुख्य गेंदबाजों के लिये, उनके पास भी गेंदबाजी के लिये नये बल्लेबाज होंगे. जैसे श्रेयस अय्यर काफी आक्रामक हैं और कभी कभार 'गैर पारंपरिक' हो सकते हैं. इसलिए वह काफी विविधता ला सकते हैं जो शायद आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के पास हो. कुछ रिजर्व तेज गेंदबाज भी आदर्श होंगे क्योंकि टीम के मुख्य गेंदबाज जैसे जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी , इशांत शर्मा और उमेश यादव नेट गेंदबाजों की अनुपस्थिति में थकेंगे नहीं. साथ ही अगर आईपीएलइस सरीज से पहले होगा तो बड़ा दल ले जाना बेहतर होगा क्योंकि हमें 'बैक अप' के लिये तैयार होना चाहिए, कहीं कोई चोटिल हो जाए या फिर आईपीएल में ही हल्की चोट लगी हो.'

टीम इंडिया 8 नवंबर को आईपीएल समाप्त होने के बाद ऑस्ट्रेलिया के लिए रवाना होगी जहां उन्हें सबसे पहले 14 दिन के अनिवार्य क्वारंटीन में रहना होगा. इस सीरीज का पहला टेस्ट मैच 3 दिसंबर से ब्रिस्बेन के गाबा मैदान पर शुरू होगा. ब्रिस्बेन के बाद दूसरा टेस्ट एडिलेड में खेला जाएगा, तो तीसरा और चौथा टेस्ट मेलबर्न और सिडनी में होगा. गौरतलब है कि साल 2018-19 में भारत पहली बार ऑस्ट्रेलिया को उसकी ही जमीन पर टेस्ट सीरीज हराने में कामयाब हुआ था. विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुवाई वाली टीम ने 71 सालों में पहली बार ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज हराने का कारनामा कर दिखाया था.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.