close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

स्टीव वॉ ने जोफ्रा आर्चर की तारीफ कर कहा, ‘पहले किसी को ऐसे बॉलिंग करते नहीं देखा’

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव वॉ ने एशेज के लॉर्ड्स में बेहतरीन गेंदाबाजी करने वाले जोफ्रा आर्चर के बारे में कहा है कि वे विरोधी टीम में खलबली मचा सकते हैं. 

स्टीव वॉ ने जोफ्रा आर्चर की तारीफ कर कहा, ‘पहले किसी को ऐसे बॉलिंग करते नहीं देखा’
स्टीव वॉ ने अपने जमाने में बहुत सारे तेज गेंदाबाजों का सफलता पूर्वक सामना किया है. (फोटो : फाइल)

लंदन: लॉर्ड्स टेस्ट के बाद एशेज सीरीज(Ashes Series)  में  रोमांच बढ़ गया है. पहला टेस्ट गंवाने के बाद इंग्लैंड की टीम ने जोफ्रा आर्चर के साथ टीम के बढ़िया प्रदर्शन के दम पर लॉर्ड्स में हुए दूसरे टेस्ट में वापसी की और जीत के नजदीक पहुंच कर मैच ड्रॉ पर खत्म किया. इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ को आर्चर की बाउंसर से घायल होना बहुत चर्चा में रहा जिसकी वजह से वे इस मैच की दूसरी पारी में टेस्ट से बाहर हो गए थे. इस सीरीज को लेकर अब ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव वॉ (Steve Waugh) ने कहा है कि अब बची सीरीज में आर्चर एक्स फैक्टर हो सकते हैं.

आर्चर हो सकते हैं एक्स फैक्टर
वॉ का कहना है कि आर्चर के पास विरोधी टीम की बैटिंग लाइनअप को अस्थिर करने का ‘एक्स फैक्टर’ है. वॉ का मानना है कि एशेज सीरीज अब संतुलित है और सीरीज में नतीजा केवल कुछ खास लम्हों से निकल सकता है. आर्चर ने लॉर्ड्स में हुए सीरीज के दूसरे टेस्ट में अपना टेस्ट करियर शुरू किया था और अपने पहले ही मैच में उन्होंने घातक तेज गेंदबाजी से ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी क्रम को हिलाकर रख दिया था. इस में आर्चर के स्पेल की बॉलिंग की रफ्तार का औसत 145 किमीप्रति घंटा रही थी.

 यह भी पढ़ें: स्मिथ को मैच से बाहर करने के फैसले में क्यों हुई थी देरी, CA मेडिकल हेड ने दी सफाई

स्मिथ को घायल करने पर चर्चा में आए थे आर्चर
आर्चर तब चर्चा ज्यादा चर्चा में आ गए थे जब उनकी एक तेज बाउंसर स्टीव स्मिथ की गर्दन पर लग गई थी जिसकी वजह से स्मिथ को दूसरी पारी में मैच से बाहर रहना पड़ा था. इसके बाद दूसरी पारी में आर्चर की बाउंसर्स ने स्मिथ के कन्कशन के कारण उनकी जगह आए मार्नस लेबुचाने को भी खासा परेशान किया था. 

यह एक्स फैक्टर देता है
वॉ ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पोडकास्ट को बताया, “यह आपको एक्स फैक्टर देता है. जब आप जानते हैं कि आपकी लाइन अप में इस तरह का गेंदबाज है जो विरोधी टीम में हलचल मचा सके. इससे आपसे फ्लैट पिच पर भी चीजें होने लगती हैं और आप विकेट लेने में कामयाब होने लगते हैं. वे इंग्लैंड के लिए बड़ी बड़ी ताकत हैं. वॉ को बारबोडास में जन्म इस 24 साल के गेंदबाज के स्टेमिना में कोई कमी नहीं दिखाई दी जिसने लॉर्ड्स में 44 ओवरों में 91 रन देकर 5 विकेट लिए.

टेस्ट में इतना काफी नहीं पर अभी सब ठीक
वॉ ने कहा, “ अभी तक उनमें काफी विविधता दिखी. उन्होंने 40 से ज्यादा ओवर फेंके और हर ओवर पिछले से ज्यादा तेज रहा. उनका प्रभावी टेस्ट आगाज रहा, लेकिन टेस्ट क्रिकेट में आप लंबे समय तक टिक सकें, और आप कैसे हालातों का सामना करते हैं, यह सब ज्यादा मायने रखता है, लेकिन इंग्लैंड के नजरिए से अभी तक सब ठीक है.“ वॉ ने अपने समय में मैल्कम मार्शल और शोएब अख्तर जैसे दुनिया सबसे तेज खतरनाक गेंदबाजों के बीच 10000 टेस्ट रन बनाए थे.

ऐसा एक्शन नहीं देखा
 उनका कहना था कि आर्चर के जैसा इकोनॉमिकल एक्शन उन्होंने कभी नहीं देखा. उन्होंन कहा, “मैं कह नहीं सकता कि मैंने कभी किसी को इस तरह गेंदबाजी करते देखा है. वे धीरे से अंदर आते हैं और क्रीज का के पास आकर अपनी ऊंचाई का भरपूर फायदा उठाते हैं. उनका एक्शन काफी सरल है और कई मायनों में उनका एक्शन ग्लेन मैक्ग्रा के जैसा है क्यों कि वह काफी दोहराया जा सकता है. मुझे कुछ उसमें गलत नही दिखता. इस कारण उनका बढ़िया नियंत्रण है. उनके पास भ्रमित करने वाले पेस और खतरनाक बाउंसर है जिसके बारे में हमारी टीम को सोचना होगा.”

एशेज सीरीज का तीसरा टेस्ट गुरुवार को लीड्स के हेडिंग्ले मैदान पर होना है. पहला टेस्ट जहां ऑस्ट्रेलिया ने 251 रन से जीता था, वहीं दूसरे टेस्ट में इंग्लैंड ने एक तरह से वापसी तो की थी लेकिन वह बारिश से प्रभावित इस मैच को जीत नहीं पाई थी. सीरीज में ऑस्ट्रेलिया अब भी 1-0 से आगे हैं.