सुनील गावस्कर ने मयंक अग्रवाल की तारीफ कर कहा, आगे आसान नहीं है राह, बताई ये वजह

 Team India: टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर को उम्मीद है कि मयंक दूसरे साल भी शानदार प्रदर्शन जारी रखेंगे. 

सुनील गावस्कर ने मयंक अग्रवाल की तारीफ कर कहा, आगे आसान नहीं है राह, बताई ये वजह
सुनील गावस्कर को लगता है कि दुनिया अब मयंक की बल्लेबाजी स्टाइल जान चुकी है. (फोटो: IANS)

मुंबई: महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने टीम इंडिया ने नए टेस्ट सितारे मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) की जम कर तारीफ की है.  गावस्कर ने कहा है कि उन्हें आशा है कि भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के दूसरे साल भी शानदार प्रदर्शन करेंगे. मंयक अपने पहले टेस्ट मैच से ही शानदार प्रदर्शन किया है.

8 मैचों में 800+ रन
अग्रवाल ने बांग्लादेश के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में दोहरा शतक जड़ा था. उन्होंने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ स्कोर (243) बनाया था. यह उनके करियर के शुरुआती 8 टेस्ट मैचों में दूसरा दोहरा टेस्ट शतक था. मयंक ने अब तक 8 टेस्ट मैचों में 858 रन बनाए हैं. मयंक के अलावा केवल 7 खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्होंने पहले 8 टेस्ट में उनसे ज्यादा रन बनाए हैं. अब तक  डॉन ब्रैडमैन (1210), इवरटन वीक्स (968), सुनील गावस्कर (938), मार्क टेलर (906), जॉर्ज हेडली (904), फ्रैंक वारेल (890) और हर्बर्ट सटक्लिफ (872) ही पहले 8 टेस्ट में मयंक से ज्यादा रन बना सके हैं. 

यह भी पढ़ें: IND vs BAN: कैसी है डे-नाइट टेस्ट की पिंक बॉल, कितनी अलग है ये बाकी गेंदों से

यह चुनौती मिलेगी मयंक को
गावस्कर का मानना है अग्रवाल के लिए अपने बेहतरीन प्रदर्शन को जारी रखना एक बड़ी चुनौती होगी, क्योंकि अब विपक्षी टीमों को उनके बारे में काफी कुछ पता चल चुका है. गावस्कर ने कहा, "वह टेस्ट क्रिकेट का आनंद ले रहे हैं. यह उनके करियर का पहला साल है और उम्मीद है कि वह दूसरे साल भी अपने दमदार प्रदर्शन का जारी रखेंगे, क्योंकि दूसरे सीजन में विपक्षी टीम के पास आपके बारे में बहुत जानकारी मौजूद होगी. हालांकि, मयंक दमदार बल्लेबाजी कर रहे हैं."

इस वजह से बढ़ा है मयंक का आत्मविश्वास
गावस्कर ने कहा, "वह ऑफ साइड की ओर गिरे बिना बेहतरीन संतुलन बनाए रखते हैं और स्ट्रेट खेलते हैं. फ्रंट और बैकफुट पर उनका मूवमेंट भी शानदार है, जिसके कारण वह बेहतरीन फॉर्म में चल रहे हैं और उनका आत्मविश्वास भी बढ़ा हुआ है."

तीसरा शतक है यह मयंक का 
वहीं मयंक ने अपनी पहली 12 पारियं में दूसरा दोहरा शतक लगाया है. इस सूची में  भारत के विनोद काम्बली सबसे आगे हैं, जिन्होंने शुरुआती पांच पारियों में ही दो दोहरे शतक लगाए थे. जबकि ब्रैडमैन ने दो दोहरो शतकों के लिए 13 पारियों का इंतजार किया था. मयंक ने पिछले महीने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 215 रनों की पारी खेली थी. मयंक का यह तीसरा शतक है. मयंक ने पुणे टेस्ट में भी 108 रनों की पारी खेली थी.
(इनपुट आईएएनएस)