टीम इंडिया लगातार क्यों हारी 2 मैच? जसप्रीत बुमराह ने किया चौंकाने वाला खुलासा
X

टीम इंडिया लगातार क्यों हारी 2 मैच? जसप्रीत बुमराह ने किया चौंकाने वाला खुलासा

टीम इंडिया अपने ग्रुप में पाकिस्तान और न्यूजीलैंड से हारी चुकी है. टीम इंडिया की लगातार हुई दो बुरी हार के बाद भारत के स्टार तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने चौंकाने वाला खुलासा किया है. जसप्रीत बुमराह ने बताया है कि टीम इंडिया को क्यों हार का सामना करना पड़ा. 

टीम इंडिया लगातार क्यों हारी 2 मैच? जसप्रीत बुमराह ने किया चौंकाने वाला खुलासा

दुबई: ICC टी20 वर्ल्ड कप में रविवार को कुछ ऐसा हुआ, जिसने भारतीय फैंस का दिल तोड़ दिया. टी20 वर्ल्ड कप जीतने की प्रबल दावेदार टीम इंडिया अब सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर होने की कगार पर पहुंच चुकी है. टीम इंडिया के लिए अब सेमीफाइनल के दरवाजे लगभग बंद हो चुके हैं. टीम इंडिया अपने ग्रुप में पाकिस्तान और न्यूजीलैंड से हारी चुकी है. टीम इंडिया की लगातार हुई दो बुरी हार के बाद भारत के स्टार तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने चौंकाने वाला खुलासा किया है. जसप्रीत बुमराह ने बताया है कि टीम इंडिया को क्यों हार का सामना करना पड़ा? जसप्रीत बुमराह का कहना है कि 6 महीने से लगातार परिवार से दूर रहना और क्रिकेट खेलना आसान नहीं होता. 

बुमराह ने किया चौंकाने वाला खुलासा  

जसप्रीत बुमराह ने कहा, 'आपको कई बार ब्रेक की जरूरत होती है. आप अपने परिवार को मिस करते हो. आप छह महीने से लगातार खेल रहे हो. इसलिए ये कहीं न कहीं दिमाग पर असर डालता है, लेकिन जब आप मैदान पर होते हो तो इस बारे में नहीं सोचते हो. आप काफी सारी चीजें कंट्रोल में नहीं रख सकते हो. बबल में रहना और अपने परिवार से दूर रहना वो भी इतने लंबे समय से, इससे खिलाड़ी के दिमाग पर असर पड़ता है.'

न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच हारने के बाद बुमराह ने कहा, 'एक बार जब आप टॉस गंवा देते हैं, तो विकेट दूसरी पारी में बदल जाती है. इसलिए मुझे लगा कि हमें गेंदबाजों को थोड़ी गुंजाइश देना चाहिए. बल्लेबाजों के साथ यही चर्चा हो रही थी. हम थोड़ी जल्दी आक्रामक हो गए और लंबी बाउंड्री के कारण थोड़ी परेशानी हुई. उन्होंने धीमी गेंदों का शानदार इस्तेमाल किया. उन्होंने विकेट का शानदार इस्तेमाल किया और हमारे बल्लेबाजों के लिए बड़े शॉट्स मारना मुश्किल कर दिया. सिंगल्स भी नहीं आ रहे थे.'

टीम इंडिया की हार के बाद कोहली का रिएक्शन

ICC टूर्नामेंट्स में टीम इंडिया की इस फजीहत के बाद कप्तान विराट कोहली का सब्र टूट गया है. न्यूजीलैंड के खिलाफ इस हार के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा, 'टीम इंडिया के खिलाड़ी में हिम्मत की कमी दिखी और बॉडी लैंग्वेज भी अच्छा नहीं दिखा. न्यूजीलैंड की टीम ने जो दबाव बनाया, वो मैच के अंत तक बना रहा. भारतीय बल्लेबाजों के लचर प्रदर्शन पर कप्तान कोहली में कहा कि न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच के दौरान भारतीय बल्लेबाज शॉट्स खेलने पर हिचकिचाहट में थे, जिस कारण बड़े शॉट्स खेलते हुए भारतीय आउट हुए.

कोहली ने बताया हार का सबसे बड़ा कारण

विराट कोहली ने कहा, 'हमने रन ज्यादा नहीं बनाए, लेकिन उसे बचाने के लिए भी साहस के साथ नहीं उतरे.’उन्होंने कहा भारत के लिए खेलते समय अपेक्षाओं का सामना करना आना ही चाहिए. उन्होंने कहा,‘जब आप भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेलते हैं, तो प्रशंसकों की ही नहीं बल्कि खिलाड़ियों की भी काफी अपेक्षाएं होती है. अपेक्षाएं हमेशा रहेंगी और हम इतने साल से उनका सामना करते आए हैं. भारत के लिए खेलने वाले हर खिलाड़ी को करना पड़ता है.’  

टीम इंडिया की बड़ी गलती

न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया को हद से ज्यादा एक्सपेरिमेंट करना भारी पड़ गया. इस मैच में टीम इंडिया ने ईशान किशन को प्लेइंग इलेवन में मौका देने के लिए बैटिंग ऑर्डर से छेड़छाड़ किया, जो उसके लिए काफी भयानक साबित हुआ. ईशान किशन को ओपनिंग में मौका देने के लिए रोहित शर्मा को नंबर 3 पर शिफ्ट किया गया और विराट कोहली का भी नंबर चेंज कर चौथे स्थान पर बल्लेबाजी के लिए भेजा गया. टीम इंडिया को ये एक्सपेरिमेंट काफी भारी पड़ा और बैटिंग ऑर्डर में सभी बल्लेबाज कन्फ्यूज दिखाई दिए. टीम इंडिया की इस बड़ी गलती पर गावस्कर का गुस्सा फूटा है. 

फूटा गावस्कर का गुस्सा

भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर का मानना है कि इस मुकाबले में ओपनिंग जोड़ी में बदलाव करने की क्या जरूरत थी. गावस्कर ने आजतक से कहा, 'एक युवा खिलाड़ी को आप ओपनिंग भेजते हैं. वहीं, रोहित शर्मा जैसे मंझे हुए खिलाड़ी को आप नीचे भेजते हैं. अगर रोहित शर्मा ने कहा होगा कि नंबर-3 पर खेलना है तो बात अलग है. लेकिन यदि रोहित ने नहीं कहा होगा कि उन्हें नंबर तीन पर बैटिंग करनी है, तो रोहित को पहले या दूसरे नंबर पर जाना ही था.' 

जमकर सुनाई खरी खोटी

गावस्कर ने आगे कहा, 'आपने ओपनिंग की जोड़ी तोड़ी और एक नए खिलाड़ी को डाल दिया. उसके बाद  रोहित को नंबर-3 और कोहली को नंबर-4 पर भेजते हैं. यह कोहली का नहीं पूरे थिंक टैंक का निर्णय होगा. शुरुआत में यदि ईशान किशन 70-80 रन बना लिए होते, तो सब लोग बोलते कि यह सही निर्णय है. अब आलोचना भी आपको सहनी पड़ेगी.' युवा बल्लेबाज ईशान किशन को चोटिल सूर्यकुमार यादव की जगह मौका था. 

भारत ने प्रयोग करते हुए किशन और केएल राहुल को ओपनिंग के लिए भेजा, लेकिन दोनों ही खिलाड़ी कोई खास करिश्मा नहीं कर सके. जहां ईशान किशन महज चार रन बनाकर ट्रेंट बोल्ट की बॉल पर डेरिल मिचेल के हाथों लपके गए.  वहीं, केएल राहुल 18 रनों के निजी स्कोर पर टिम साउदी का शिकार बने. यहां से भारतीय पारी लड़खड़ा गई और वह 120 रनों के आंकड़े को भी छू नहीं पाई. 

रोहित और कोहली ने तोड़ा भरोसा

विराट कोहली और रोहित शर्मा एक बार फिर रन बनाने में नाकाम रहे. विराट कोहली ने अपने आचरण के विपरीत ज्यादा डॉट बॉल्स खेलीं और बद में शॉट मारते हुए आसान सा कैच दे बैठे. रोहित शर्मा ने भी विकेट गिरने और शुरुआत में ही जीवनदान मिलने के बाद भी लगातार शॉट खेले और आउट हो गए. भारतीय बल्लेबाजों ने बहुत ज्यादा डॉट बॉलें खेली, जिसके कारण दबाव बढ़ता चला गया और विकेट भी गिरते रहे. एक वक्त तो ऐसा था कि टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने 71 गेंदो तक कोई चौका-छक्का नहीं मारा. 

भारतीय बल्लेबाजों का हुआ बुरा हाल 

न्यूजीलैंड के स्पिनरों के आगे रोहित शर्मा, विराट कोहली, हार्दिक पांड्या और ऋषभ पंत जैसे बल्लेबाज डरे हुए दिखे. भारतीय बल्लेबाज न्यूजीलैंड के स्पिनरों के सामने रन ही नहीं बना पा रहे थे. न्यूजीलैंड के लेग स्पिनर ईश सोढ़ी ने 4 ओवर में 17 रन देकर 2 विकेट झटके, जबकि न्यूजीलैंड के लेफ्ट आर्म स्पिनर मिशेल सेंटनर ने कसी हुई गेंदबाजी करते हुए 4 ओवर में सिर्फ 15 रन ही दिए. ईश सोढी और सेंटनर ने भारतीय बल्लेबाजों को बांधे रखा. ईश सोढी को मैन ऑफ द मैच भी चुना गया. 

टीम इंडिया की किस्मत खराब 

न्यूजीलैंड के खिलाफ अहम मुकाबले में टॉस हारना टीम इंडिया की हार का कारण साबित हुआ. दुबई की पिच पर न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. न्यूजीलैंड के स्पिनरों ने हालात का जमकर फायदा उठाया और भारत को 110 रनों पर ही रोक दिया. इसके बाद न्यूजीलैंड की बैटिंग के दौरान ओस ने टीम इंडिया के गेंदबाजों को परेशान किया. न्यूजीलैंड ने आसानी से 14.3 ओवर में ही लक्ष्य हासिल करते हुए जीत दर्ज कर ली. टॉस यहां इसलिए अहम था, क्योंकि दूसरी पारी में ओस काफी असर डालती है.

मैच हार गई टीम इंडिया

बता दें कि टीम इंडिया ने 7 विकेट पर 110 रन का मामूली स्कोर बनाया जो न्यूजीलैंड की टीम के लिए कुछ नहीं था. कीवी टीम ने इसे पंद्रह ओवर में हासिल कर लिया. भारतीय टीम के लिए बैटिंग में हर बल्लेबाज फ्लॉप रहा. रवींद्र जडेजा ने सबसे ज्यादा 26 रनों की पारी खेली. इस हार के बाद टीम इंडिया के लिए आगे की राह मुश्किल हो गई है. भारतीय टीम की हार के बाद ट्विटर पर भी फैन्स ने अपना गुस्सा दिखाया और आईपीएल को बैन करने की मांग तक कर दी. फैन्स टीम के खराब प्रदर्शन से काफी ज्यादा नाराज नजर आए. 

Trending news