जब वनडे क्रिकेट में टीम इंडिया 100 से कम रनों पर हुई थी ढेर

टीम इंडिया ने वनडे क्रिकेट इतिहास में कई रिकॉर्ड कायम किए हैं. लेकिन इस फॉर्मेट में 7 बार ऐसा भी हुआ है जब भारतीय टीम 100 से कम रनों पर ढ़ेर हुई है.

जब वनडे क्रिकेट में टीम इंडिया 100 से कम रनों पर हुई थी ढेर

नई दिल्ली: वर्ल्ड क्रिकेट में टीम इंडिया अपने बेहतरीन खेल के लिए जानी जाती है. 2 वनडे वर्ल्ड कप, एक टी20 वर्ल्ड कप और इसके साथ ही 2 बार चैंपियन ट्रॉफी (2002 में संयुक्त विजेता) अपने नाम करने वाली टीम इंडिया ने क्रिकेट इतिहास में कई मील के पत्थर गाड़े हैं. कई भारतीय दिग्गजों ने इंडियन क्रिकेट को शिखर के स्तर पर पहुंचाने में अहम योगदान दिया है. टीम इंडिया ने वनडे क्रिकेट इतिहास में कई कीर्तिमान स्थापित किए हैं. लेकिन एक रिकॉर्ड ऐसा भी जिसे टीम इंडिया कभी भी दोहराना नहीं चाहेगी. भारतीय टीम वनडे क्रिकेट में 100 से कम रनों पर ऑल आउट होने वाली दुनिया की चौथी टीम है. तो आइए जानते हैं भारतीय टीम के वनडे क्रिकेट में सबसे कम स्कोर की लिस्ट.

54 रन
साल 2000 में भारतीय टीम ने श्रीलंका के खिलाफ शारजाह के मैदान पर अपने वनडे क्रिकेट इतिहास का सबसे कम स्कोर 54 रन बनाया था. इस मैच में टीम इंडिया श्रीलंका की तरफ से दिए गए 299 रनों के टारगेट का पीछा कर रही थी. लेकिन सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और युवराज सिंह जैसे दिग्गजों से सजी टीम इंडिया इस मैच में 26 ओवर में महज 54 रनों के स्कोर पर ढेर हो गई और वनडे इतिहास में भारत को रनों के हिसाब से अपनी सबसे बड़ी हार का भी सामना करना पड़ा था. श्रीलंका ने यह मैच 245 रनों से जीत लिया था.

63 रन
साल 1981 में जब भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर गई, तब वहां भारत ने उस वक्त वनडे क्रिकेट में अपना सबसे न्यूनतम स्कोर बनाया. टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज ग्रेग चैपल की बेहतरीन गेंदबाजी के आगे महज 63 रनों पर ऑल आउट गई और ऑस्ट्रेलिया ने ये मैच 9 विकेट से अपने नाम कर लिया. दरअसल भारत इस दौरे पर न्यूजीलैंड और मेजबान ऑस्ट्रेलिया के साथ ट्राई सीरीज खेल रहा था और उसी ट्राई सीरीज का ये 9वां मुकाबला था.

78 रन
24 दिसंबर साल 1986 को कानपुर के ग्रीन पार्क मैदान में भारत और श्रीलंका के बीच 5 वनडे मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला खेला जा रहा था. टॉस जीतकर श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी का फैसला किया, लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने उसे गलत साबित कर दिया और मेहमान टीम बारिश बाधित इस मैच में 46 ओवर में 196-8 रनों का स्कोर बना पाई. जबाव में टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने टीम की लुटिया डुबा दी और पूरी भारतीय टीम महज 78 रनों पर सिमट गई.

79 रन
साल 1978 में टीम इंडिया पाकिस्तान के दौरे पर थी. 3 वनडे मैचों की सीरीज के पहले मैच में 4 रनों से जीतकर दूसरे वनडे के लिए मेहमान टीम सियालकोट पहुंची, जहां भारत की हालत खराब रही और टीम इंडिया पहले बल्लेबाजी करते हुए 34.2 ओवर में 79 रनों पर ढेर हो गई.

88 रन
श्रीलंकाई सरजमीं पर साल 2010 में भारत, न्यूजीलैंड और श्रीलंकाई के बीच ट्राई सीरीज खेली जा रही थी. दांबुला के मैदान पर पहला मैच टीम इंडिया और न्यूजीलैंड टीम के बीच था. कीवी टीम के 289 रनों के लक्ष्य का पीछा करते वक्त टीम इंडिया मात्र 88 रनों पर ऑल आउट हो गई थी. इस भारतीय टीम में वीरेंद्र सहवाग, युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धोनी और सुरेश रैना जैसे दिग्गज शामिल थे.

91 रन
साल 2006 में टीम इंडिया साउथ अफ्रीकी दौरे पर थी. 5 वनडे मैचों की सीरीज के पहले वनडे के बारिश की भेंट चढ़ जाने के बाद टीम इंडिया और मेजबान टीम दूसरे वनडे में डरबन के मैदान पर आमने सामने थीं. साउथ अफ्रीका टीम ने भारत को जीतने के लिए 249 रनों का लक्ष्य दिया, जिसके जबाव में भारतीय टीम महज 91 रनों पर ऑल आउट हो गई.

92 रन
मौजूदा दशक की बात की जाए तो टीम इंडिया पिछले साल न्यूजीलैंड दौरे पर थी. 1 जनवरी को भारत और कीवी टीम के बीच हैमिल्टन के मैदान पर मुकाबला खेला जा रहा था. विराट कोहली की गैरमौजूदगी में टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा थे. आलम ये रहा है कि टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया तास के पत्तों की तरह ढेर हो गई और 30.5 ओवर में 92 रनों पर सिमट गई.