टीम इंडिया के बैटिंग कोच ने किया खुलासा, क्यों गंभीरता से ली जाएगी अब हर टी20 सीरीज

India vs South Africa:टीम इंडिया के नए बैटिंग कोच विक्रम राठौर का कहना है कि अब हर टी20 सीरीज को ज्यादा गंभीरता से ली जाएगी जिससे अगले साल होने वाले विश्व कप की तैयारी में मदद करेगी. 

टीम इंडिया के बैटिंग कोच ने किया खुलासा, क्यों गंभीरता से ली जाएगी अब हर टी20 सीरीज
राठौर को संजय बांगड की जगह टीम इंडिया का बैटिंग कोच बनाया गया है. (फोटो : IANS)

मोहाली: टी20 सीरीज के तहत भारत और दक्षिण अफ्रीका (India and South Africa) के बीच दूसरा मैच बुधवार को हो रहा है. हाल ही में टीम इंडिया के बैटिंग कोच बने विक्रम राठौर (Vikram Rahtore)  ने टीम इंडिया की बल्लेबाजी के बारे में बात की. राठौर ने टीम के खिलाड़ियों सहित टीम इंडिया की आगे के बल्लेबाजी रणनीति के बारे में भी खुल कर बात की. उन्होंने बताया कि यह टी20 सीरीज टीम इंडिया के लिए अगले साल होने वाले टी20 विश्व कप की तैयारियों के लिहाज से बहुत अहम है. 

गंभीरता से नहीं लिया गया था अब तक हुई टी20 सीरीज को
राठौर ने कहा, "हो सकता है कि अब तक हुई टी20 सीरीज को उतनी गंभीरता से नहीं लिया गया था, लेकिन अब जब से हम विश्व कप की तैयारी कर रहे हैं, ये सारे मैच बहुत अहम हो गए हैं. मुझे लगता है कि वे 20-21 मैच  जो हमें इस टूर्नामेंट से पहले खेलने हैं, हमारी तैयारी करवाएंगे." 

निराशाजनक रहे पिछले दो टी20 विश्व कप
टीम इंडिया का साल 2016 में हुआ आईसीसी टी20 विश्व कप निराशाजनक रहा था. टूर्नामेंट के दूसरे सेमीफाइनल में वेस्टइंडीज ने टीम इंडिया को हराकर टूर्नामेंट से बाहर कर दिया था. वेस्टइंडीज ने इसके बाद खिताब जीतकर सबको चौंका दिया था. इससे पहले 2014 के विश्व कप में भी टीम इंडिया को फाइनल में श्रीलंका से हार मिली थी. 

विक्रम को पिछले महीने ही संजय बांगड़ की जगह टीम इंडिया का बल्लेबाजी कोच बनाया गया था. नए कोच ने टीम के खिलाड़ियों के बारे में बात करते हुए कहा कि टीम से उनका संवाद बहुत अच्छा रहा और वे टीम के सिस्टम में ढलने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा, "टीम से संवाद बढ़िया रहा. मैं इस प्रोफेशन में लंबे समय से हूं. मैंने करीब सभी खिलाड़ियों से बात की है. टीम के सेटअप से तालमेल बिठाने में समय लगेगा, लेकिन मैं मैनेज कर लूंगा." 

इसके अलावा राठौर ने रोहित शर्मा और ऋषभ पंत के बारे में खास तौर पर बात की. उन्होंने कहा कि रोहित जैसा प्रतिभाशाली टेस्ट में भी सफल हो सकता है और कोई कारण नहीं बनता के वे टेस्ट में न खेलें. वहीं उन्होंने ऋषभ पंत के बारे में कहा कि उन्हें फियरलेस और केयरलेस शॉट्स में अंतर समझना होगा.