ऋषभ पंत के फॉर्म से कोच रवि शास्त्री भी हैं निराश, कहा- ‘ये गलती हो रही है उनसे’

India vs South Africa: टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री का कहना है कि पंत ने कई बार टीम को निराश किया है. 

ऋषभ पंत के फॉर्म से कोच रवि शास्त्री भी हैं निराश, कहा- ‘ये गलती हो रही है उनसे’
रवि शास्त्री ऋषभ पंत की बल्लेबाजी से खुश नहीं हैं. (फोटो:PTI)

धर्मशाला: आईसीसी विश्व कप 2019 के बाद टीम इंडिया इस समय बदलाव के दौर से गुजर रही है. आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप शुरू हो चुकी है और इसके साथ ही टीम इंडिया (Team India) के सामने अगले साल टी20 विश्व कप कि चुनौती है. यह टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलिया में होना है. इस टी20 टूर्नामेंट में से पहले टीम इंडिया को 29 टी20 मुकाबले खेलने हैं ऐसे में टीम तैयार करने का समय ज्यादा नहीं है. इस समय टीम के किसी खिलाड़ी पर सबसे ज्यादा निगाहें हैं तो वह कोई और नहीं ऋषभ पंत (Rishabh Pant)  पर हैं जो की पूर्व कप्तान एमएस धोनी की जगह टीम में देखे जा रहे हैं. धोनी किसी भी समय रिटायर हो सकते हैं, इसे देखते हुए टीम प्रबंधन पंत को ग्रूम करने की कोशिश में हैं लेकिन टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने कहा है कि युवा बल्लेबाज ऋषभ पंत के शॉट चयन ने कई बार टीम को निराश किया है. 

शैली तो नहीं बदल सकते, लेकिन
ये बात सौ फीसदी सच है कि पंत की तुलना धोनी से नहीं की जा सकती और वे अभी युवा ही हैं और धोनी के अनुभव से उनकी तुलना कर पंत के साथ नाइंसाफी होगी, लेकिन जिस जगह के लिए पंत खेल रहे हैं वह कोई छोटी पदवी नहीं है. पंत के हालिया फॉर्म ने निराश किया है. शास्त्री ने कहा कि पंत की खेलने की शैली नहीं बदली जा सकती लेकिन स्थिति के हिसाब से खेलने की परिपक्वता उन्हें अपने खेल में लानी होगी. 

ऐसे शॉट निराश करते हैं
पंत एक आक्रामक बल्लेबाज के तौर पर जाने जाते हैं. कई बार उन्हें मैदान पर आकर पहली ही गेंद से बड़ा शॉट लगाने की कोशिश में आउट होते देखा गया. हालिया किस्सा वेस्टइंडीज में खेली गई वनडे/टी-20 सीरीज का है. शास्त्री ने एक समाचार चैनल से बात करते हुए कहा, "जब आप पंत द्वारा त्रिनिदाद में खेला गया जैसा शॉट देखते हो तो आपको निराशा होती है." पंत ने पोर्ट ऑफ स्पेन में खेले गए तीसरे वनडे मैच में मैदान पर कदम रखा था और पहली ही गेंद पर फाबियान एलेन पर बड़ा शॉट खेलने के कारण आउट हो गए थे.

यह टीम की बात है 
कोच ने कहा, "उन्होंने ऐसा कई बार करने की कोशिश की है और आउट हुए हैं. इससे काफी परेशानी होती है क्योंकि आप टीम को निराश कर रहे हो, आप अपने बारे में भूल जाइए यहां टीम की बात है. आप टीम को निराश कर रहे हो वो भी तब जब दूसरे छोर पर कप्तान है और आपको लक्ष्य हासिल करना है. आपको लक्ष्य का पीछा करना है और स्थिति ऐसी है कि आपको सूझबूझ भरी क्रिकेट खेलनी है." शास्त्री ने कहा, "कोई भी उनकी खेलने की शैली नहीं बदल सकता, लेकिन मैच स्थिति को लेकर सचेत रहना जरूरी है. निश्चित स्थिति में शॉट चयन काफी अहम हो जाता है."
(इनपुट आईएएनएस)