इन 5 क्रिकेटर्स ने लपके हैं भारत के लिए सबसे ज्यादा कैच, कोहली भी हैं लिस्ट में

आज की तारीख में आपको टीम इंडिया में जोंटी रोड्स जैसे कई फील्डर मिलेंगे, लेकिन पहले ऐसे हालात नहीं थे.

इन 5 क्रिकेटर्स ने लपके हैं भारत के लिए सबसे ज्यादा कैच, कोहली भी हैं लिस्ट में
एक मैच के दौरान विराट कोहली.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: एक समय था जब भारतीय क्रिकेट टीम की गिनती सबसे ज्यादा खराब फील्डिंग करने वाली टीमों में की जाती थी. ये वो दौर था जब भारतीय क्रिकेटर्स को मैदान पर बहुत ज्यादा फिट और चुस्त दुरुस्त खिलाड़ियों में नहीं गिना जाता था. लेकिन इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) ने सारे हालात बदल दिए. अब आपको टीम इंडिया में भी दक्षिण अफ्रीका के महान फील्डर जोंटी रोड्स (Jonty Rhodes) की तरह चीते जैसी छलांग लगाकर कैच पकड़ते या रन आउट करते दिखाई दे जाएंगे. ऐसे में सवाल उठता है कि आंकड़ों के लिहाज से टीम इंडिया के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट में बेस्ट प्रदर्शन करने वाले टॉप-5 क्रिकेटर कौन से हैं तो चलिए हम आपको बताते हैं उनके नाम.

यह भी पढ़ें- इतने साल बाद क्यों उठा वर्ल्ड कप 2011 में फिक्सिंग का मामला? जाने इसके पीछे का सच!

राहुल द्रविड़ ने लपके हैं सबसे ज्यादा कैच
पूर्व भारतीय कप्तान और 'द वॉल' के नाम से मशहूर रहे राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) मैदान पर बल्ले से ही नहीं बल्कि फील्डिंग में भी टीम इंडिया की दीवार साबित हुए हैं. द्रविड़ ने टीम इंडिया के लिए महज एक टी-20 मैच खेला था, लेकिन इसके बावजूद तीनों फॉर्मेट यानी टेस्ट, वनडे और टी20 में संयुक्त रूप से सबसे ज्यादा कैच लपकने का भारतीय रिकॉर्ड उनके ही नाम पर है. द्रविड़ ने 504 मैच में 333 कैच लपके थे. हालांकि द्रविड़ ने वास्तव में 405 कैच लपके थे, लेकिन इनमें उनके टीम इंडिया के लिए विकेटकीपर के तौर पर खेलते हुए 73 वनडे मैच में लपके 71 कैच भी शामिल हैं. 

मोहम्मद अजहरूद्दीन हैं सूची में दूसरे नंबर पर
पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन (Mohammad Azharuddin) ने टीम इंडिया के लिए कभी टी-20 क्रिकेट नहीं खेली. इसके बावजूद अजहर एक फील्डर के तौर पर कैच लपकने में द्रविड़ के बाद दूसरे नंबर पर हैं. उन्होंने अपने करियर के 433 मैच में 261 कैच लपकने का कारनामा किया था.

सचिन तेंदुलकर रहे हैं तीसरे नंबर पर फील्डिंग के इस रिकॉर्ड में
अगर करियर के दौरान सबसे ज्यादा कैच लपकने की बात की जाए तो क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का नाम इस रिकॉर्ड में भी शामिल है. सचिन ने तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया के लिए 664 मैच खेले थे, जिनमें उनके नाम पर 256 कैच दर्ज  किए गए हैं. हालांकि अपने करियर में सचिन ने अधिकतर मौकों पर बाउंड्री पर फील्डिंग की है, इसलिए उनके नाम पर कैचों की संख्या उनके मैचों के अनुपात में बेहद कम रही है अन्यथा सचिन को अपने समय में कैचिंग के लिहाज से बेहद विश्वसनीय खिलाड़ियों में गिना जाता था. 

विराट कोहली जल्द तोड़ देंगे सारे भारतीय रिकॉर्ड
वर्तमान भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) दुनिया के सबसे ज्यादा फिट क्रिकेटरों में से एक हैं और वे मैदान पर फील्डिंग के लिए अपनी बल्लेबाजी से भी ज्यादा मेहनत करते हैं. विराट की ये मेहनत उनके रिकॉर्ड में भी दिखाई देती है. वो तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया के लिए अब तक 416 मैच खेलकर 251 कैच लपकते हुए चौथे नंबर पर चल रहे हैं. लेकिन देखा जाए तो वे जल्द ही अपने सभी सीनियरों को इस सूची में पछाड़ देंगे. कोहली टी-20 में 41 कैच लपककर सुरेश रैना (Suresh Raina) का दुनिया में सबसे ज्यादा 42 कैच का रिकॉर्ड तोड़ने के करीब हैं. 

वीरू हैं लिस्ट में 5वें नंबर के भारतीय फील्डर
क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में कैच लपकने वाले भारतीय क्रिकेटरों की सूची में विस्फोटक बल्लेबाज रहे वीरेंद्र सहवाग (Virnedra Sehwag) 5वें नंबर पर हैं. सहवाग ने अपने करियर के दौरान टीम इंडिया के लिए 363 मैच खेले थे और अधिकतर मौकों पर उन्हें नई गेंद के दौरान स्लिप में फील्डिंग करने का मौका मिलता था. इसके चलते उन्होंने अपने खाते में 182 कैच  दर्ज किए थे.

वर्ल्ड के टॉप-10 में है महज एक भारतीय
अगर बात वर्ल्ड लेवल पर तीनों फॉर्मेट में संयुक्त रूप से सबसे ज्यादा कैच लपकने वाले क्रिकेटरों की करें तो इस सूची में शीर्ष-10 में महज एक ही भारतीय क्रिकेटर मौजूद है. द्रविड़ को इस सूची में चौथे नंबर पर जगह मिली है, जबकि दुनिया में सबसे ज्यादा कैच लपकने का वर्ल्ड रिकॉर्ड श्रीलंका के महेला जयवर्धने (Mahela JayaWrdene) के नाम पर है, जिन्होंने 652 मैच में 440 कैच लपके थे.