इनके नाम है सबसे ज्यादा बार बोल्ड होने का रिकार्ड, नाम जानकर चौंकिएगा नहीं

क्रिकेट की दुनिया में बोल्ड आउट होने को सबसे ज्यादा खराब माना जाता है.

इनके नाम है सबसे ज्यादा बार बोल्ड होने का रिकार्ड, नाम जानकर चौंकिएगा नहीं
फाइल फोटो

नई दिल्ली: क्रिकेट की दुनिया में बोल्ड आउट होने को सबसे ज्यादा खराब माना जाता है. इस तरह से बार-बार आउट होने वाले क्रिकेटर की तकनीक पर ही उंगली उठा दी जाती है. लेकिन यदि हम आपको टेस्ट और वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार बोल्ड होने का रिकार्ड अपने नाम पर रखने वाले क्रिकेटरों का नाम बताएंगे तो आप निश्चित ही हैरान रह जाएंगे. इतना ही नहीं इस लिस्ट के पहले तीन बल्लेबाजों का नाम जानकर तो आप निश्चित ही अपनी जगह पर ही उछल जाएंगे.

'द वाल' द्रविड़ हुए थे टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार बोल्ड
क्रिकेट जगत में अपनी तकनीक और विकेट पर जमने के लिए 'द वाल' कहलाने वाले दिग्गज भारतीय बल्लेबाज राहुल द्रविड़ ने अपने करियर में सबसे ज्यादा बार बोल्ड आउट होने का कारनामा किया था. द्रविड़ अपने 164 टेस्ट मैच के करियर में 55 बार बोल्ड आउट होकर पवेलियन लौटे, जबकि 286 पारियों में से 32 बार उन्हें किसी भी गेंदबाज की गेंद परास्त नहीं कर पाई थी यानी वे नॉटआउट ही रहे थे. वनडे क्रिकेट में भी द्रविड़ 57 बार बोल्ड आउट हुए थे. वनडे क्रिकेट में वे बोल्ड आउट होने के रिकार्ड में दुनिया में छठे नंबर पर आते हैं.

क्रिकेट के भगवान का विकेट वनडे में सबसे ज्यादा बार उखड़ा
क्रिकेट के भगवान यानी सचिन तेंदुलकर भी अपने करियर में बहुत बार बोल्ड हुए हैं. टेस्ट क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर जहां 54 बार बोल्ड होकर अपने टीम साथी राहुल द्रविड़ के बाद दुनिया में दूसरे नंबर पर रहे, वहीं वनडे क्रिकेट में उन्होंने 68 बार बोल्ड आउट होकर दुनिया के सभी बल्लेबाजों को इस अनचाहे रिकार्ड में पछाड़ दिया. टेस्ट और वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकार्ड अपने नाम रखने वाले सचिन तेंदुलकर शायद ही कभी बोल्ड होने के इस रिकार्ड को याद करना चाहेंगे.

ये भी पढ़ें- सचिन, धोनी और कोहली के इन 'ट्रिपल' रिकार्ड के बारे में जानते हैं आप?

टेस्ट क्रिकेट में बॉर्डर का है तीसरा नंबर, वनडे में स्टीव वॉ हैं दूसरे पर
टेस्ट क्रिकेट में दोनों भारतीय बल्लेबाजों के नाम के बाद तीसरा नंबर उन पूर्व आस्ट्रेलियाई कप्तान एलन बार्डर का है, जिनके नाम पर एक समय टेस्ट क्रिकेट में सबसे पहली बार 11 हजार रन छूने का रिकार्ड दर्ज रहा है यानी वे भी अपने समय के दिग्गज बल्लेबाज रहे हैं. बार्डर ने अपने टेस्ट करियर में 53 बार बोल्ड आउट होकर पवेलियन लौटने का कारनामा किया था. वनडे क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर के बाद सबसे ज्यादा बार बोल्ड आउट होने वाले बार्डर के ही शागिर्द स्टीव वा रहे थे, जिन्हें आउट करना एक समय सबसे मुश्किल काम माना जाता था. स्टीव वा अपने वनडे करियर में 63 बार बोल्ड आउट हुए थे.

टी20 क्रिकेट में दिलशान का है रिकार्ड, वॉर्नर हैं तोड़ने के करीब
टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार बोल्ड आउट होने का रिकार्ड पूर्व श्रीलंकाई दिग्गज बल्लेबाज तिलकरत्ने दिलशान के नाम पर है, जो अपने 87 मैच के करियर में 19 बार बोल्ड किए गए थे. दिलशान के इस रिकार्ड को तोड़ने की होड़ में न चाहते हुए भी आस्ट्रेलियाई धुरंधर डेविड वार्नर लगे हुए हैं, जो अब तक 18 बार ये कारनामा कर चुके हैं. भारत के दिग्गज बल्लेबाज रोहित शर्मा भी 15 बार बोल्ड होकर वार्नर से बहुत ज्यादा पीछे नहीं हैं.

LIVE TV