Zee Rozgar Samachar

कलाई के इन जादूगरों ने अश्विन-जडेजा को वर्ल्डकप से किया बाहर: वासन

कोहली ने न सिर्फ चहल और कुलदीप यादव को प्रतिकूल परिस्थितयों में खेलने का मौका दिया, बल्कि उन्हें जोखिम लेने की भी हिम्मत दी

कलाई के इन जादूगरों ने अश्विन-जडेजा को वर्ल्डकप से किया बाहर: वासन
दोनों स्पिनरों ने पांच वनडे में अबतक 30 विकेट अपने नाम किए हैं (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका की जमीन पर अबतक एक भी सीरीज नहीं जीतने वाली भारतीय टीम ने विराट कोहली की अगुवाई में 26 साल में पहली बार मेजबानों को उनकी ही जमीन पर मात देने का कारनाम कर दिखाया है. छह मैच की सीरीज को विराट कोहली के धुरंधर 4-1 से अपने नाम कर चुके हैं. सीरीज में बचा आखिरी मैच गुरुवार को सेंचुरियन में खेला जाना है. क्रिकेट फैन्स उम्मीद जता रहे हैं कि आखिरी मैच भी अपने नाम करने के बाद टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका को 18 साल बाद उनकी ही जमीन पर हराने के आॅस्ट्रेलियाई टीम के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेगा.

भारत को इतनी बड़ी जीत दिलाने में कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चेहल ने बड़ी भूमिका निभाई है. दक्षिण अफ्रीका की घसियाली पिचों पर अबतक खेले पांच वनडे में 30 विकेट लेने का कारनामे ने ही दोनों को कप्तान कोहली की गुड बुक में शामिल कर दिया है. दोनों की लाजवाब फार्म के आगे टीम के तुजुर्बेकार स्पिनर आर अश्विन और रवींद्र जडेजा का पत्ता लगभग कटा हुआ ही माना जा रहा है.

इस पूर्व क्रिकेटर ने कहा, चहल-कुलदीप को तो धोनी के पैर छू लेने चाहिए

पूर्व खिलाड़ी अतुल वासन की माने तो कुलदीप और चहल की जोड़ी ने अश्विन और जडेजा का पत्ता अगले वर्ष इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्ड कप से पूरी तरह से काट दिया है. पत्रकारों से बातचीत के दौरान अतुल वासन ने कहा कि अश्विन और जडेजा के पास वर्ल्डकप 2019 में वापसी का अब कोई आप्शन नहीं है. लोग डिप्लोमैटिक जवाब देकर यह कह सकते हैं कि दोनों के पास अब भी विश्व कप की टीम में जगह बनाने का चांस है. मेरी नजर में जबतक कुलदीप और चहल में से कोई चोटिल न हो जाए वे विश्वकप में वापसी नहीं कर सकते है. 

दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) के मुख्य चयनकर्ता अतुल वासन ने कहा कि यह सही समय है जब बीसीसीआई को कुलदीप और चहल को अगले एक साल में 50 से 60 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने का मौका देना चाहिए, ताकि वे विश्व कप के लिए खुद को और परिपक्व बना सकें. दोनों को तैयार करने का श्रेय केवल कप्तान विराट कोहली को जाता है.

मुथैया मुरलीधरन से आगे निकले कुलदीप यादव, चहल भी हैं पछाड़ने को तैयार

उन्होंने कहा, विदेशी पिचों  पर अबतक भारतीय कप्तानों ने स्पिन गेंदबाजों पर ज्यादा भरोसा नहीं जताया है. कोहली ने न सिर्फ चहल और कुलदीप यादव को प्रतिकूल परिस्थितयों में खेलने का मौका दिया, बल्कि उन्हें जोखिम लेने की भी हिम्मत दी. वनडे के चौथे मैच में दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों द्वारा पिटाई किए जाने के बावजूद भी दोनों स्पिनरों ने जोखिम लेना नहीं छोड़ा था. यह दिखाता है कि कप्तान को दोनों ही गेंदबाजों पर पूरा भरोसा है. कप्तान किसी भी मौके पर कुलदीप और चहल की जोखिम भरी गंदबाजी की तारीफ करने से नहीं चूकते.

Kuldeep Yadav, Yuzvendra Chahal
भारत को इतनी बड़ी जीत दिलाने में कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चेहल ने बड़ी भूमिका निभाई  (PIC : IANS)

अतुल वासन ने कहा कि कप्तान अगर इन दोनों गेंदबाजों पर भरोसा नहीं जताते तो अश्विन और जडेजा को विश्वकप टीम में अपनी जगह बनाने के लिए कभी संघर्ष नहीं करना पड़ता, लेकिन यह एक तरह से खिलाड़ियों में स्वस्थ प्रतियोगिता पैदा करने जैसा है. कुलदीप यादव अबतक वनडे सीरीज में 16 विकेट चटकाए हैं, वहीं चहल पहले पांच मैचों में 14 विकेट ले चुके हैं.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.