इमरान खान का वो रिकॉर्ड जिसे आज तक कोई नहीं तोड़ पाया, जानिए डिटेल

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इमरान खान ने यूं तो कई रिकॉर्ड बनाए हैं, लेकिन एक ऐसा रिकॉर्ड भी जो 37 साल बाद भी बरकरार है. 

इमरान खान का वो रिकॉर्ड जिसे आज तक कोई नहीं तोड़ पाया, जानिए डिटेल

नई दिल्ली: जब भी क्रिकेट में रिकॉर्ड्स की बात होती है तो हर किसी की जुबान पर सचिन तेंदुलकर, रोहित शर्मा, वीरेंद्र सहवाग, राहुल द्रविड़, वसीम अकरम या फिर विराट कोहली का नाम आता है. इसके साथ ही हम जब कप्तानी के रिकॉर्ड्स की चर्चा करते हैं तो हर किसी के जहन में कपिल देव, स्टीव वॉ, रिकी पोंटिंग, सौरव गांगुली और एमएस धोनी का नाम आता है. नहीं आता है तो बस किसी को भी पूर्व पाकिस्तानी कप्तान इमरान खान (Imran Khan) का ख्याल, जी हां, हम बात कर रहे हैं पाक के मौजूदा प्रधानमंत्री इमरान खान की जिनके नाम दर्ज है क्रिकेट का एक ऐसा रिकॉर्ड जिसे आज तक कोई नहीं तोड़ पाया है और आगे भी इस रिकोर्ड का टूटा जाना मुश्किल लगता है. आखिर कौन सा है ये रिकोर्ड, जानिये हमारी इस स्पेशल स्टोरी में.

यह भी पढ़ें- कैसे बचपन की दोस्ती बदल गई प्यार में? ये है अश्विन-प्रीती की दिलचस्प प्रेम कहानी

टेस्ट क्रिकेट में शतक लगाना एक बल्लेबाज के लिए सबसे बड़ी बात मानी जाती है, उसी तरह एक गेंदबाज के लिए टेस्ट मैच में 10 विकेट लेना बड़ी उपलब्धि होता है. टेस्ट में एक लंबी शतकीय पारी मैच का रुख बदल सकती है और टीम को जीत की तरफ अग्रसर कर सकती है. दूसरी तरफ एक गेंदबाज का मैच में जबरदस्त प्रर्दशन उसकी टीम की जीत सुनिश्चित कर सकता है. अब जरा सोचिए अगर किसी मैच में कोई खिलाड़ी ये दोनों ही काम अकेले ही कर दे तो मैच का निर्णय कितना एकतरफा हो जाएगा. वैसे तो टेस्ट क्रिकेट में एक ही मैच में शतक और 10 विकेट लेने वाले खिलाड़ी बहुत कम हुए हैं पर कप्तान के तौर पर ये कारनामा सिर्फ इमरान खान के नाम दर्ज है.

इमरान खान ने साल 1983 में भारत के खिलाफ एक टेस्ट मैच में 117 रन की बेहतरीन पारी खेली और उसके बाद गेंद से भी गजब का प्रर्दशन किया. भारत की पहली पारी में गेंद से कमाल दिखाते हुए इमरान खान ने 6 विकेट लिए जिसमें कपिल देव और सुनील गावस्कर के विकेट भी शामिल थे. दूसरी पारी में भी कप्तान इमरान ने बहुत ही खतरनाक गेंदबाजी की और भारत के 5 विकेट चटकाने में कामयाब रहे. इसी के साथ इमरान ने अपना नाम क्रिकेट के इतिहास में अमर कर लिया क्योंकि एक टेस्ट मैच में 10 से ज्यादा विकेट और शतक लगाने वाले वो पहले कप्तान बन गए थे. 

वैसे तो इंग्लैंड के इयान बॉथम एक मैच में 10 विकेट और सेंचुरी इमरान से कई साल पहले बना चुके थे पर बतौर कप्तान ऐसा करने वाले इमरान पहले और इकलौते खिलाड़ी हैं. इमरान का ये रिकॉर्ड 37 साल बाद आज भी कायम है और क्योंकि आजकल क्रिकेट में कोई भी कप्तान ऑलराउंडर नहीं है इस वजह से इस रिकॉर्ड का हाल फिलहाल में तोड़ा जाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन सा लगता है. इस रिकोर्ड को तोड़ने के लिए तो शायद फिर किसी कपिल देव, इयान बॉथम या जैक कैलिस को पुनर्जन्म ही लेना पड़ेगा और अगर ऐसा नहीं हुआ तो ये रिकॉर्ड बरकरार रहेगा.

इमरान खान और इयान बॉथम के प्रर्दशन इस प्रकार थे.

इयान बॉथम- 15 फरवरी 1980, मुंबई (बनाम भारत)
बैटिंग- इंग्लैंड की पहली पारी में 114 रन बनाए
बॉलिंग- 6/58 (पहली पारी), 7/48 (दूसरी पारी)

इमरान खान- 3 जनवरी 1983, फैसलाबाद (बनाम भारत)
बैटिंग - पाकिस्तान की पहली पारी में 117 रन बनाए
बॉलिंग - 6/98 (पहली पारी), 5/82 (दूसरी पारी)