जब मैनचेस्टर में आया था विवियन रिचर्ड्स का तूफान, इंग्लैंड की टीम हो गई थी पानी पानी

31 मई  1984 को वेस्टइंडीज के महान क्रिकेट विवियन रिचर्ड्स ने ओल्ड टैफर्ड के मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ वनडे की बड़ी पारी खेली थी.

जब मैनचेस्टर में आया था विवियन रिचर्ड्स का तूफान, इंग्लैंड की टीम हो गई थी पानी पानी

नई दिल्ली: क्रिकेट की दुनिया में सर विवियन रिचर्ड्स (Vivian Richards) का नाम काफी सम्मान से लिया जाता है, इसकी वजह ये है कि उन्होंने अपने जमाने में उस मुकाम को हासिल किया था, जहां पर पहुंचना आसान नहीं होता. रिचर्ड्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कई बेहतरीन कारनामों को अंजाम दिया है, लेकिन उनकी सबसे ज्यादा चर्चा किसी एक पारी को लेकर होती है तो वो थी इंग्लैंड के खिलाफ. आज से ठीक 36 साल पहले उन्होंने वनडे टीम का काफी बड़ा निजी स्कोर अपने नाम किया था.

साल 1984 में वेस्टइंडीज की टीम इंग्लैंड के दौरे पर गई थी, 31 मई को वनडे सीरीज का पहला मैच मैनचेस्टर के ओल्ड टैफर्ड मैदान पर खेला गया था. वेस्टइंडीज ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन उसकी शुरुआत खराब रही. विवियन रिचर्ड्स चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए और चौकों-छक्कों की बरसात करने लगे, पारी के आखिर तक वो नाबाद 189 रन बना चुके थे. ये उस वक्त वनडे का सबसे बड़ा निजी स्कोर था, इससे पहले कपिल देव ने करीब एक साल पहले ही वर्ल्ड कप में 175* रन बनाए थे.

 साल 1997 में पाकिस्तान के सईद अनवर ने टीम इंडिया के खिलाफ 194 रन की पारी खेलकर विवियन रिचर्ड्स का वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ा था. हांलाकि आज  के दौर में कई ऐसे बल्लेबाज मौजूद हैं जिन्होंने वनडे में दोहरा शतक लगाया है, लेकिन रिचर्ड्स के जमाने में इतना बड़ा निजी स्कोर कभी-कभी ही बन पाता था.वनडे में 189* रन बनाकर रिचर्ड्स ने भविष्य के बल्लेबाजों के लिए नया टार्गेट सेट कर दिया था. लेकिन इस पारी से सबसे ज्यादा शर्मिंदगी किसी को झेलनी पड़ी थी तो वो है इंग्लैंड की टीम, अंग्रेज इस पारी को एक बुरा ख्वाब समझ कर भूल जाना पसंद करेंगे.