इतिहास में आज: सचिन-वकार ने एक ही मैच से शुरू किया था अपना टेस्ट करियर का सफर

Cricket history:  15 नवंबर 1989 को -सचिन तेंदुलकर और वकार युनिस ने अपना पहला टेस्ट मैच खेला था. 

इतिहास में आज: सचिन-वकार ने एक ही मैच से शुरू किया था अपना टेस्ट करियर का सफर
सचिन तेंदुलकर और वकार ने पहले टेस्ट में बहुत ज्यादा प्रभावित नहीं किया था. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: क्रिकेट इतिहास में कई दिग्गज खिलाड़ियों का पहला टेस्ट याद किया जाता है. लेकिन शायद ही ऐसा दो बार हुआ हो कि एक मैच में दो देश के एक-एक महान खिलाड़ियों ने अपने टेस्ट करियर का पहला मैच खेला हो. यह मैच हुआ था भारत और पाकिस्तान के बीच जिसमें भारत के महान सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और पाकिस्तान के महान गेंदबाजों में से एक वकार युनिस (Waqar Younis) ने अपना अपना पहला टेस्ट मैच खेला था.

कब हुआ था यह टेस्ट मैच 
यह टेस्ट मैच भारत का 1989 का पाकिस्तान दौरे का पहला मैच था. टीम इंडिया की कप्तानी क्रिस श्रीकांत कर रह थे जबकि पाकिस्तान की कप्तानी इमरान खान के हाथों में थी. लेकिन सबकी निगाहें दो युवा चेहरों पर थी. एक तरफ भारत के सचिन तेंदुलकर थे जो 16 और 205 दिन की उम्र में अपना पहला टेस्ट खेल रहे थे. दूसरी तरफ पाकिस्तान के वकार युनिस जो 17 साल 364 दिन की उम्र में अपना पहला टेस्ट खेल रहे थे. 

यह भी पढ़ें: आकाश चोपड़ा का 9 साल पुराना ट्वीट हुआ वायरल, दीपक चाहर के बारे में की थी भविष्यवाणी

15 रन की छोटी पारी फिर विशाल करियर
सचिन तेंदुलकर ने अपने इस पहले मैच में 24 गेंद खेलकर 15 रन की पारी खेली थी जिसमें दो चौके शामिल थे और वे वकार की ही गेंद पर बोल्ड आउट हो गए. लेकिन इसके बाद जो सचिन ने किया वह इतिहास है. 200 टेस्ट में 51 शतकों के साथ 15921 रन बनाने वाले सचिन ऐसा करने वाले इकलौते बल्लेबाज हैं. वहीं सचिन ने 463 वनडे खेल कर 49 सेंचुरी लगाकर 18426 रन बनाए जिसमें एक दोहरा शतक भी उनके नाम है.

रिकॉर्ड से ज्यादा रिवर्स स्विंग के लिए जाने गए वकार
वहीं वकार ने उस टेस्ट मैच की पहली पारी में 19 ओवरों में 81 रन देकर चार विकेट लिए थे जिसमें सचिन को विकेट भी शामिल थआ. . इमरान और वसीम अकरम जैसे दिग्गजों के सामने वकार का प्रदर्शन बहुत अच्छा न होते हुए भी काबिले तारीफ था. वकार ने अपने करियर में कुल 87 टेस्ट खेले और उसकी 154 पारियों में 343 विकेट लिए थे. वहीं 262 वनडे मौचो में उन्होंने 416 विकेट लिए. लेकिन रिकॉर्ड से ज्यादा वकार को रिवर्स स्विंग के लिए ज्यादा जाना जाता है. रिवर्स स्विंग को नई ऊंचाइयां देने का श्रेय वकार को ही जाता है. 

तो क्या हुआ था उस मैच में 
इस मैच में टीम इंडिया ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. इस पारी में इमरान खान ने नाबाद शतक लगाया और पाकिस्तान ने 409 रन बनाए. इमरान के अलावा जावेद मियांदाद ने 78 रन की पारी खेली. वहीं टीम इंडिया के लिए कपिल देव ने पांच और मनोज प्रभाकर ने चार विकेट लिए. टीम इंडिया की पारी शुरुआत में लड़खड़ा गई लेकिन कपिल देव के 55 और किरन मोरे की नाबाद 58 पारी के दम पर टीम इंडिया फॉलोऑन टालने में कामयाब रही. 

यह रहा था नतीजा रहा
दूसरी पारी में पाकिस्तान के लिए सलीम मलिक ने शतक और शोएब मोहम्मद ने 95 रन की पारी खेली और इमरान खान ने 5 विकेट पर 305 रन बनने के बाद पाकिस्तान की पारी घोषित कर दी और टीम इंडिया को जीत के लिए 453 रन का टारगेट दिया, लेकिन टीम इंडिया के लिए संजय मांजरेकर ने नाबाद शतकीय पारी खेली और उनके अलावा नवजोत सिंह सिद्धू ने भी अहम 85 रन का योगदान दिया और टेस्ट मैच ड्रॉ हो गया. कपिलदेव को दोहरे प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया.