आज है ब्रैडमैन को सबसे ज्यादा बार आउट करने वाले बॉलर का बर्थडे, मौत के मामले में थे दुर्भाग्यशाली

ब्रैडमैन ने यदि किसी गेंदबाज के लिए यह कहा हो कि उसकी गेंद पर उन्हें परेशानी होती थी तो सोच लीजिए वो गेंदबाज कितना महान रहा होगा.

आज है ब्रैडमैन को सबसे ज्यादा बार आउट करने वाले बॉलर का बर्थडे, मौत के मामले में थे दुर्भाग्यशाली
इंग्लैंड के स्पिनर हैडली वैरिटी | फाइल फोटो

नई दिल्ली: टेस्ट क्रिकेट में सबसे महान बल्लेबाजों की जब भी बात होगी तो ऑस्ट्रेलिया के डॉन ब्रैडमैन का नाम हमेशा सबसे ऊपर आएगा. महज 52 टेस्ट मैच में 99.94 के औसत से 29 शतक और 13 फिफ्टी लगाने वाले ब्रैडमैन ने यदि किसी गेंदबाज के लिए यह कहा हो कि उसकी गेंद पर उन्हें परेशानी होती थी तो सोच लीजिए वो गेंदबाज कितना महान रहा होगा. फिर उस गेंदबाज के नाम पर ब्रैडमैन को सबसे ज्यादा बार आउट करने का भी रिकॉर्ड रहा हो तो बात अपने आप ही और ज्यादा खास हो जाती है. हम बात कर रहे हैं इंग्लैंड के स्पिनर हैडली वैरिटी की, जो 115 साल पहले 18 मई के ही दिन जन्मे थे. महज 38 साल की उम्र में बेहद दुर्भाग्यशाली तरीके से एक युद्धबंदी के तौर पर जिंदगी को अलविदा कह गए वैरिटी का क्रिकेट इतिहास के सबसे महान खब्बू स्पिनरों में गिना जाता है.

ब्रैडमैन का 8 बार लिया था विकेट
टेस्ट क्रिकेट में साल 1931 में अपना डेब्यू करने वाले वैरिटी ने डॉन ब्रैडमैन को 8 बार आउट किया था. कोई और गेंदबाज ब्रैडमैन का विकेट इतनी बार नहीं ले सका था. वैरिटी ने अपने महज 8 साल के करियर में 40 टेस्ट मैच खेलकर 144 विकेट चटकाए थे, जिसमें उन्होंने 5 बार एक पारी में 5 विकेट और 2 बार मैच में 10 विकेट लिए थे. टेस्ट क्रिकेट में 24.37 के बेहतरीन औसत से विकेट लेने वाले वैरिटी का प्रथम श्रेणी रिकॉर्ड जानकर आपको हैरानी हो सकती है. उन्होंने अपने प्रथम श्रेणी करियर में 1956 विकेट लिए थे, जिसमें उनका औसत महज 14.90 का और स्ट्राइक रेट (प्रति विकेट बॉल) महज 43 का था. इसे क्रिकेट इतिहास के सबसे बेहतरीन प्रदर्शनों में से एक गिना जाता है. महज 4 गेंदबाज ही उनसे कम औसत से विकेट ले पाए हैं.

इंग्लैंड को दिलाई थी लॉर्ड्स में 20वीं सदी की इकलौती एशेज जीत
वैरिटी का टेस्ट मैचों में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन साल 1934 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट में रहा था. उन्होंने इस टेस्ट मैच में महज 104 रन देकर 15 विकेट लिए थे, जिनमें दूसरी पारी में उनके करियर बेस्ट 43 रन देकर 8 विकेट भी शामिल थे. दोनों पारियों में वैरिटी ने ब्रैडमैन को विकेटकीपर के हाथों कैच करवाया था. वैरिटी की गेंदबाजी की बदौलत इंग्लैंड ने पारी के अंतर से जीत हासिल की थी. ये इंग्लैंड की लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर 20वीं सदी की इकलौती एशेज जीत है.

हैट्रिक के साथ पारी में 10 विकेट लेने वाले इकलौते गेंदबाज
हैडली वैरिटी प्रथम श्रेणी क्रिकेट इतिहास में हैट्रिक लेने वाले और एक ही पारी में 10 विकेट चटकाने का कारनामा करने वाले इकलौते गेंदबाज रहे हैं. उन्होंने ये कारनामा यॉर्कशायर के लिए साल 1931 में नाटिंघमशायर के खिलाफ हेडिंग्ले के मैदान पर किया था. उस पारी में वैरिटी ने महज 10 रन देकर नाटिंघमशायर के 10 विकेट लिए थे, जो प्रथम श्रेणी क्रिकेट इतिहास में एक पारी में सबसे कम रन देकर 10 विकेट चटकाने का रिकॉर्ड है. उन्होंने 1932 में भी हेडिंग्ले के मैदान पर ही वारविकशायर के भी एक पारी में सभी 10 विकेट महज 36 रन देकर चटकाए थे.

सेकंड वर्ल्ड वॉर में कैप्टन के तौर पर शहीद हुए थे वैरिटी
वैरिटी क्रिकेट इतिहास के उन चुनिंदा खिलाड़ियों में से एक हैं, जिन्होंने खेल के साथ ही युद्ध के मैदान पर भी जौहर दिखाया है. वे इंग्लैंड की सेना में कैप्टन के तौर पर सेकंड वर्ल्ड वॉर के दौरान जर्मनी की सेना के खिलाफ लड़े थे. उनकी 8वीं आर्मी पलटन को कैटानिया में जर्मन सेना पर हमला बोलने का आदेश मिला था. पलटन में उनके नेतृत्व में लड़े प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, जर्मन सेना ने वैरिटी के सैनिकों को देखकर जबरदस्त फायरिंग चालू कर दी थी, इसके बावजूद वैरिटी सबसे आगे रहकर सैनिकों को आगे बढ़ते रहने के लिए हौसला देते रहे. भुट्टे के खेत में करीब 1000 गज आगे बढ़ने के बाद जर्मन सेना ने आग लगा दी, इसके चलते वैरिटी ने अपने सैनिकों को बराबर के फार्म हाउस से होकर निकल जाने को कहा, लेकिन खुद वहीं डटे रहे. निकलते समय उनकी पलटन के आखिरी सैनिक ने वैरिटी की छाती में गोली लगकर उन्हें गिरते हुए देखा. इसके कुछ महीने बाद कैसर्टा के जर्मन युद्धबंदी कैंप में घायल वैरिटी के 31 जुलाई, 1943 को शहीद हो जाने की खबर पूरी दुनिया को मिली.

मौत के ठीक चार साल पहले खेला था आखिरी मैच
वैरिटी ने अपनी मौत के दिन यानी 31 जुलाई 1943 से ठीक चार साल पहले 31 जुलाई 1939 को अपना आखिरी क्रिकेट मैच खेला था. यॉर्कशायर के लिए ससेक्स के खिलाफ होव मैदान पर खेले गए उस काउंटी मैच की इकलौती पारी में वैरिटी ने महज 9 रन देकर 7 विकेट लिए थे. यह सेकंड वर्ल्ड वॉर चालू होने से पहले काउंटी क्रिकेट का आखिरी मुकाबला भी था.

LIVE TV