B'day Special: वो क्रिकेटर जिसे गेंदबाजी से रोका गया तो बल्ले से ठोक दी तेज फिफ्टी

सुनील फिलिप नरेन का जन्म 26 मई 1988 को त्रिनिदाद एंड टोबैगो द्वीप में हुआ था, उन्होंने जीवन की हर परेशानियों का डटकर मुकाबला किया.

B'day Special: वो क्रिकेटर जिसे गेंदबाजी से रोका गया तो बल्ले से ठोक दी तेज फिफ्टी
आईपीएल मैच में गेंदबाजी करते सुनील नरैन.

नई दिल्ली: एक खिलाड़ी के जुझारू होने की पहचान क्या होती है. यही न कि विपक्षी उस पर दबाव डालने की कोशिश में लगे रहे और उन मुश्किलों में भी वह दिग्गज की तरह उभरकर सामने आए. ऐसे ही जुझारू क्रिकेटर हैं वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर सुनील नरेन (Sunil Narine), जिनके करियर में बार-बार परेशानियां सामने आई, लेकिन उन्होंने हार मानने के बजाय खुद को साबित करके ही दम लिया. यहां तक कि ऑफ स्पिनर के तौर पर करियर की शुरुआत करने वाले नरैन के गेंदबाजी करने पर ही प्रतिबंध लगा दिया तो उन्होंने बल्लेबाज के तौर पर सबको अपना मुरीद बनाकर दिखा दिया. आज नरेन अपना 32वां बर्थडे मना रहे हैं.

इंटरनेशनल क्रिकेट में नहीं आईपीएल में बजा असली डंका

सुनील नरेन ने वेस्टइंडीज के लिए ऑफ स्पिनर के तौर पर करियर शुरू किया था. उन्हें कैरेबियाई टी-20 लीग विजेता टीम के लिए 2011 की चैंपियंस लीग टी20 में महज 10.50 के औसत से 10 विकेट लेने के लिए जबरदस्त चर्चा मिली, लेकिन आगे वे ज्यादा सफल नहीं हो पाए. उनके करियर में असली बदलाव आया इंडियन प्रीमियर लीग (IPL)में कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR) से जुड़ने के बाद, जहां उन्होंने अपनी रहस्यमयी गेंदबाजी से बहुत ख्याति हासिल की.

एक्शन पर शक उठने से खड़ी हुई परेशानी

नरेन के लिए असली परेशानी का दौर 2014 की चैंपियंस लीग टी-20 से चालू हुआ, जब उनके एक्शन को संदिग्ध मानते हुए उन्हें 2 बार चेतावनी दी गई. आखिर में उन्हें फाइनल मैच में गेंदबाजी ही नहीं करने दी गई. उसके बाद उन्होंने 2015 वर्ल्ड कप के लिए वेस्टइंडीज की टीम से भी नाम वापस ले लिया और अपने एक्शन को सुधारने पर मेहनत की. नरेन के टीम में वापस लौटते ही नवंबर में उन पर दोबारा प्रतिबंध लगा दिया गया.

आईपीएल-2016 से बदला करियर का नजारा

नरेन ने तीसरी बार क्रिकेट में अपना एक्शन बदलकर 2016 में आईपीएल से वापसी की. इस बार उन्होंने फिर से गेंदबाजी से रोके जाने की हालत में बल्लेबाज के तौर पर करियर बैकअप तैयार रखने की ठान रखी थी. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की बिगबैश लीग (Bigbash league) में 2 बार ओपनिंग की, लेकिन उनमें असली भरोसा जताया कोलकाता नाइटराइडर्स टीम के मालिक बॉलीवुड के किंग शाहरुख खान (SRK)और अन्य स्टाफ ने. नतीजा नरेन को केकेआर की तरफ से आईपीएल के 2017 के सीजन में खुलकर ओपनिंग करने के मौके के तौर पर मिला.

ठोक दी आईपीएल इतिहास की सबसे तेज फिफ्टी

नरेन ने मई 2017 में वह कारनामा कर दिखाया, जिसकी उम्मीद आईपीएल में दिग्गज बल्लेबाजों से की जाती है. नरेन बंगलूरू के मैदान पर विराट कोहली (Virat Kohli)की टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर (RCB) के खिलाफ केकेआर के लिए ओपनिंग करने उतरे और महज 15 गेंद में 50 रन पूरे करते हुए आईपीएल इतिहास की सबसे तेज फिफ्टी का रिकॉर्ड अपने नाम लिखवा लिया. 

शानदार रिकॉर्ड है नरेन का

नरेन ने अपने इंटरनेशनल करियर में 6 टेस्ट मैचों में महज 21 विकेट लिए हैं, लेकिन 65 वनडे में 26 के औसत से 92 विकेट और 51 टी20 इंटरनेशनल मैच में 21 के औसत से 52 विकेट उनके नाम पर है. उनका असली रिकॉर्ड इंटरनेशनल से अलग टी20 मैचों में उनके नाम पर 379 विकेट हैं. आईपीएल में नरेन ने 168 के जबरदस्त स्ट्राइक रेट से 110 मैच में 771 रन बनाए हैं, जबकि 23.31 के औसत व 6.67 के इकोनॉमी से 122 विकेट अपने नाम किए है.

ये भी देखें-