2001 से 2010 के बीच रन बनाने वाले टॉप-5 क्रिकेटर, जानिए सचिन का क्या है नंबर

 इस सदी के पहले  दशक यानी 1 जनवरी 2001 से 31 दिसंबर 2010 के दौरान क्रिकेट जगत में जिन 5 क्रिकेटरों के बल्ले की तूती बोलती थी, उनमें भारतीय दिग्गज सचिन तेंदुलकर का भी नाम शामिल था.

2001 से 2010 के बीच रन बनाने वाले टॉप-5 क्रिकेटर, जानिए सचिन का क्या है नंबर
सचिन तेंदुलकर (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: इस सदी के पहले  दशक यानी 1 जनवरी 2001 से 31 दिसंबर 2010 के दौरान क्रिकेट जगत में जिन 5 क्रिकेटरों के बल्ले की तूती बोलती थी, उनमें भारतीय दिग्गज सचिन तेंदुलकर का भी नाम शामिल था. लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस दशक में सबसे ज्यादा रन ठोकने का रिकार्ड दुनिया में सबसे ज्यादा टेस्ट और वनडे रन बनाने वाले 'क्रिकेट के भगवान' सचिन तेंदुलकर के नाम पर नहीं है बल्कि दूसरे शब्दों में कहें तो मास्टर ब्लास्टर इस सूची में पहले 3 स्थान पर भी नहीं है. ये पढ़ने के बाद निश्चित ही आपको जिज्ञासा हो रही होगी कि आखिर वे कौन से बल्लेबाज थे, जो इन 10 साल में रन बनाने के मामले में भारतीय रन मशीन से भी आगे निकल गए. चलिए हम आपको बताते हैं.

आईसीसी ने जारी की है टाप-5 बल्लेबाजों की सूची
पूरी दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण खेल गतिविधियों के थमे होने के चलते इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) क्रिकेट प्रेमियों को खेल से जोड़े रखने के लिए सोशल मीडिया पर लगातार कोई न कोई यूनिक तरीका यूज कर रही है. इसी क्रम में आईसीसी ने खेल प्रेमियों के लिए अपने आफिशियल टिवटर हैंडल पर 2001 से 2010 के बीच सबसे ज्यादा इंटरनेशनल रन (टेस्ट, वनडे व टी20 को मिलाकर) बनाने वाले टाप-5 क्रिकेटरों के नाम जारी किए हैं. इन क्रिकेटरों में मास्टर ब्लास्टर सचिन का नाम भी शामिल है.

ये भी पढ़ें: ऑनलाइन फिटनेस टेस्ट दे रही पाक महिला क्रिकेट टीम, करने पड़ रहे ये काम

5वें नंबर पर हैं मास्टर ब्लास्टर सचिन
आईसीसी की तरफ से जारी की गई लिस्ट में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का नंबर 5वां है. सचिन ने इस दशक में क्रिकेट के तीनों फार्मेट (इकलौते टी20 मैच समेत) में कुल 15,825 रन अपने खाते में शामिल किए थे. तेंदुलकर ने ये रन 52.40 के औसत से 45 शतक और 78 फिफ्टी लगाते हुए बनाए थे.

पहला नंबर रहा था रिकी पोंटिंग का
सदी के पहले दशक में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में पूर्व आस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग सबसे आगे रहे थे. पोंटिंग ने 48.56 के औसत से 19,718 रन अपने खाते में जमा किए थे, जिसके लिए उन्होंने 55 शतक और 106 फिफ्टी लगाई थीं.

दूसरा स्थान था श्रीलंका के संगकारा का
बेहतरीन श्रीलंकाई बल्लेबाज कुमार संगकारा सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की इस सूची में पोंटिंग के बाद दूसरे नंबर पर थे. संगकारा ने 34 शतक और 95 फिफ्टी ठोकते हुए कुब 17,069 रन बनाए थे. इस दौरान संगकारा का औसत 44.10 का रहा था.

तीसरे नंबर पर थे जैक्स कैलिस
दक्षिण अफ्रीका के आलराउंडर जैक्स कैलिस को अपने समय की दीवार के तौर पर जाना जाता था. कैलिस सदी के पहले दशक में रन बनाने के लिहाज से तीसरे नंबर पर थे. उन्होंने 54.08 के बेहतरीन औसत से 16,712 रन खाते में जोड़े थे, जिसमें 43 शतक और 98 फिफ्टी शामिल थीं.

श्रीलंका के ही जयवर्धने भी थे सचिन से आगे
श्रीलंका के पूर्व कप्तान माहेला जयवर्धने भी पहले दशक में रन बनाने के लिहाज से सचिन तेंदुलकर से आगे रहे थे. जयवर्धने ने 41.50 के औसत से 16,269 रन बनाने के दौरान 34 शतक और 83 फिफ्टी लगाई थीं.

रन बनाने में इसलिए पीछे थे सचिन
मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर पहले दशक में रन बनाने के मामले में इसलिए पीछे नहीं थे कि उनकी रन बनाने की क्षमता चूक गई थी. दरअसल सचिन ने इस दशक में महज 277 ही मैच खेले थे, जबकि उनके मुकाबले पोंटिंग ने 378 मैच, संगकारा ने 384 मैच, कैलिस ने 308 मैच और जयवर्धने ने 392 मैच खेलकर अपने रन बनाए थे.

सहवाग-द्रविड़ भी नहीं थे बहुत पीछे
यदि आईसीसी टाप-5 के बजाय पहले 7 बल्लेबाजों की सूची जारी करती तो जानते हैं सचिन के बाद अगले दोनों नाम भारतीय ही होते. ये नाम होते विरेंदर सहवाग और राहुल द्रविड़ के. इसी दशक में मुल्तान के सुल्तान बने सहवाग ने 325 मैच में 41.92 के औसत और 35 शतक व 65 फिफ्टी के साथ 15,343 रन बनाए थे, जबकि द्रविड़ ने 309 मैच में 47.08 के औसत और 28 शतक व 95 फिफ्टी के साथ 15020 रन बनाए थे.

LIVE TV