close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शमी-हसीन के विवाद को सुलझाने के लिए बिरादरी आई आगे, हुई गोपनीय बैठक

सूत्रों के मुताबिक, हसीन जहां ने अमरोहा पहुंचाने के बाद बिरादरी के लोगों से बात की और मामले को सुलझाने का आह्वान किया. हसीन जहां के इस आह्वानके बाद बिरादरी के लोग राजी हुए.

शमी-हसीन के विवाद को सुलझाने के लिए बिरादरी आई आगे, हुई गोपनीय बैठक
हुई. इस बैठक में हसीन जहां ने बिरादरी के लोगों के सामने अपना पक्ष रखा. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली/अमरोहा: क्रिकेटर मोहम्मद शमी और उनकी पत्‍‌नी हसीन जहां के विवाद को सुलझाने के लिए अब तुर्क बिरादरी आगे आई है. हसीन जहां के आह्वान पर बिरादरी के लोगों की पंचायत में ये फैसला लिया गया है कि जल्द ही दोनों पक्षों को आमने-सामने बैठाकर विवाद का निस्तारण किया जाएगा. हसीन जहां के साथ बिरादरी के लोगों ने एक गोपनीय बैठक की. जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को जोया में शमी के रिश्तेदार, करीबी लोगों और हसीन जहां उनके वकील मौके पर मौजूद रहे. ये गोपनीय बैठक डिडौली कोतवाली इलाके में हुई.

रविवार को बेटी के साथ पहुंची थी अमरोहा
आपको बता दें कि रविवार को हसीन जहां अपनी बेटी आयरा को साथ लेकर अपनी ससुराल सहसपुर अलीनगर पहुंचीं थीं. ससुराल पहुंचने के बाद उन्हें घर में ताला लगा मिला, जिसके बाद वो शाम को जोया में बसपा नेता शमीम अहमद के घर रुकी थीं. आपको बता दें कि घर में ताला लगा होने की वजह से उन्होंने एसपी सुधीर कुमार को पत्र लिखकर मकान का ताला खुलवाने की मांग भी की थी. 

दोनों पक्षों का होगा आमना-सामना
सूत्रों के मुताबिक, हसीन जहां ने अमरोहा पहुंचाने के बाद बिरादरी के लोगों से बात की और मामले को सुलझाने का आह्वान किया. हसीन जहां के इस आह्वान के बाद बिरादरी के लोग राजी हुए. जानकारी के मुताबिक, दोनों पक्षों को आमने-सामने बैठाकर विवाद का निस्तारण किया जाएगा.

बिरादरी ने जाना हसीन का पक्ष
सूत्रों के मुताबिक, जोया स्थित बसपा नेता शमीम अहमद के आवास पर ये बैठक हुई. इस बैठक में हसीन जहां ने बिरादरी के लोगों के सामने अपना पक्ष रखा. जानकारी के मुताबिक, बिरादरी के लोगों ने हसीन जहां को ये भरोसा दिलाया कि जल्द ही शमी से भी संपर्क कर उनका पक्ष जाना जाएगा. 

जल्द होगा विवाद का निस्तारण!
जानकारी के मुताबिक, मंगलवार (8 मई) को हुई तुर्क बिरादरी की बैठक में हसीन जहां के वकील भी मौजूद थे. आपको बता दें कि बिरादरी के दखल के बाद ये कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही शमी और हसीन जहां के बीच हुए विवाद का निस्तारण हो जाएगा.