शर्मनाक हार के बाद श्रीलंका के कप्तान भी हुए विराट कोहली के मुरीद, बांधे तारीफों के पुल

इस जीत के सबसे बड़े हीरो कप्तान विराट कोहली रहे जिन्होंने 82 रन की पारी खेली. मनीष पांडे ने भी नाबाद 51 रन बनाए और टीम इंडिया को आसानी से फिनिशिंग लाइन के पार पहुंचा दिया.

शर्मनाक हार के बाद श्रीलंका के कप्तान भी हुए विराट कोहली के मुरीद, बांधे तारीफों के पुल
हार के बाद श्रीलंका के कप्तान ने की विराट कोहली की तारीफ (FILE PHOTO)

नई दिल्ली : श्रीलंका के खिलाफ सभी टेस्ट, वनडे और टी-20 सभी मैच जीतने के बाद भारतीय टीम ने इतिहास रच दिया है. इसके साथ ही 9-0 से श्रीलंका के खिलाफ तीनों फॉर्मेटों में क्लीन स्वीप करने वाली टीम इंडिया दुनिया की पहली टीम बन गई है. दुनिया में 'विराट' सेना ऐसी पहली क्रिकेट टीम बन गई है, जिसने अपने विदेशी दौरे पर खेले गए सभी मैचों पर जीत दर्ज की है. पूरे दौरे पर श्रीलंका की टीम भारत के सामने कई चुनौती पेश करने में नाकाम रही और उसे भारत के खिलाफ शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा.  

श्रीलंका पर 9-0 के क्लीन स्वीप से खुश विराट कोहली ने जीत को बताया 'खास'

गुरुवार को एकमात्र टी-20 मैच में भारत के हाथों करारी हार के बाद श्रीलंका के कप्तान उपुल थरंगा काफी मायूस दिखे. हार के बाद थरंगा ने कहा, ‘‘हमने 15 से 20 रन कम बनाए. हमारी शुरुआत अच्छी रही थी. मुनावीरा ने अच्छी बल्लेबाजी की लेकिन हम 10 से 14वें ओवर के बीच लक्ष्य से भटक गए. 

हार के बाद उपुल थरंगा ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा कि, विराट ने जिस तरह से बल्लेबाजी की वो लाजवाब था. कोहली हर किसी के लिए एक उदाहरण है खासकर विकेटों के बीच दौड़ के मामले में. यही दोनों टीमों के बीच सबसे बड़ा फर्क रहा. हालांकि, हमने मैच में बेहतरीन फील्डिंग की और इसे हम अपने लिए अच्छा मान सकते हैं.’’

श्रीलंका का नाम दर्ज हुआ 2017 का सबसे शर्मनाक रिकॉर्ड, सालभर में टपकाए 65 कैच

बता दें कि भारत ने श्रीलंका के खिलाफ उसकी जमीन पर पहली बार टेस्ट सीरीज में क्लीव स्वीप किया. इसके बाद टीम ने यही फॉर्म वनडे क्रिकेट में भी जारी रखते हुए श्रीलंका को 5-0 से हराया. टेस्ट और वनडे हार के बाद लंकाई कप्तान ने हार के लिए बल्लेबाजों को जिम्मेदार ठहराया था. उन्होंने कहा था कि, हमने पूरी सीरीज में काफी गलतियां की. बैंटिग युनिट के तौर पर हम अच्छा स्कोर बनाने में नाकाम रहे. पूरी सीरीज में 250 रन ना बना पाना हमारी कमजोरी को दर्शाता है. बल्लेबाजी की यह दशा चिंता का विषय है. 

गौरतलब है कि श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में खेले गए टी- 20 मैच में भारतीय टीम ने 7 विकेट से जीत हासिल की. इस तरह विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने दौरे के सभी 9 मैच जीत लिए और वो भारत के पहले ऐसे कप्तान बने जिसने एक दौरे में खेले गए तीनों फॉर्मेट की सीरीज में सभी मैच जीत लिए. टी20 मैच में श्रीलंका की 171 रनों की चुनौती को टीम इंडिया ने आखिरी ओवर में 3 विकेट खोकर हासिल कर लिया. 

VIDEO : गजब कोहली का अजब कमाल, नए अंदाज से छुड़ाएंगे गेंदबाजों के छक्के

इस जीत के सबसे बड़े हीरो कप्तान विराट कोहली रहे जिन्होंने 82 रन की पारी खेली. मनीष पांडे ने भी नाबाद 51 रन बनाए और टीम इंडिया को आसानी से फिनिशिंग लाइन के पार पहुंचा दिया. टीम इंडिया ने पहला विकेट रोहित शर्मा के तौर पर सिर्फ 22 रन पर गंवा दिया. के एल राहुल भी 24 रन पर आउट हो गए. दो विकेट गिरने के बाद विराट कोहली ने मोर्चा संभाला और उन्होंने ऐसी आक्रामक पारी खेली जिसका विरोधी टीम के पास कोई जवाब नहीं था.

अपने 50वें टी20 मैच में विराट ने सिर्फ 30 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा कर लिया. ये विराट का 17वां टी-20 अर्धशतक है. अपनी इस अर्धशतकीय पारी के दौरान विराट ने अपने 15000 अंतरराष्ट्रीय रन भी पूरे कर लिए. विराट सबसे जल्दी 15 हजार अंतरराष्ट्रीय रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. उन्होंने हाशिम अमला का रिकॉर्ड तोड़ दिया. कई रिकॉर्ड तोड़ते हुए विराट टीम इंडिया को आसानी से जीत की ओर ले गए, हालांकि विराट 82 रन पर आउट हो गए लेकिन उसकी इस दमदार पारी के दम पर भारतीय टीम को जीत हासिल करने में ज्यादा मुश्किल नहीं हुई.