close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: राफेल नडाल से यूएस ओपन हारने पर बोले मेदवेदेव, ‘आपके खिलाफ खेलना बहुत मुश्किल’

US Open: यूएस ओपन के फाइनल में राफेल नडाल के हाथो हारने के बाद रूस के डेनिल मेदवेदेव ने कहा कि नडाल के खिलाफ खेलना बहुत मुश्किल है.   

VIDEO: राफेल नडाल से यूएस ओपन हारने पर बोले मेदवेदेव, ‘आपके खिलाफ खेलना बहुत मुश्किल’
इस साल नडाल और मेदवेदेव दूसरी बार किसी फाइनल मुकाबले में भिड़े थे. (फोटो: Reuters)

न्यूयॉर्क (अमेरिका): रूस के दानिल मेदवेदेव (Daniil Medvedev) अपने पहले ग्रैंड स्लैम खिताब के एक कदम से चूक गए. उन्हें रविवार को हुए यूएस ओपन (US Open) के फाइनल मुकाबले में स्पेन के स्टार राफेल नडाल (Rafael Nadal) ने एक कड़े मुकाबले में मात दी. इस मैच में  नडाल ने मेदवेदेव को  7-5, 6-3, 5-7, 4-6, 6-4 से हराकर साल का अपना दूसरा ग्रैंड स्लैम जीता. यह चौथी बार है जब क्ले कोर्ट के बादशाह नडाल ने यूएस ओपन जीता है.  मैच के बाद मेदवेदेव ने नडाल को बधाई दी और कहा कि उनके खिलाफ खेलना बहुत मुश्किल है. 

करीब पांच घंटे चला मुकाबला
पांचवी वरीयता प्राप्त मेदवेदेव ने पहले दो सेट गंवाने के बाद शानदार वापसी की और मैच पांचवे सेट तक ले गए, लेकिन पांचवे सेट में नडाल के आक्रामक तेवर के सामने उनकी एक न चली और 6-4 से सेट गंवाने के बाद उन्होंने खिताब भी गंवा दिया. यह मैच पूरे 4 घंटे और 51 मिनट चला. यह नडाल का 19वां ग्रैंड स्लैंम खिताब है. इससे पहले उन्होंने 2010, 2013 और 2017 में यूएस ओपन का खिताब जीता था. इससे पहले वे इसी साल फ्रेंच ओपन का खिताब भी जीत चुके हैं. इससे पहले इसी साल दोनों खिलाड़ियों की भिड़त रोजर्स कप के फाइनल में भी हुई थी जहां नडाल ने मेदवेदेव को सीधे सेटों में हराया था. 

यह भी देखें: US Open जीत कर राफेल नडाल पहुंचे रोजर फेडडर के करीब, केवल एक खिताब की है दूरी

क्या कहा मेदवेदेव ने
मैच के बाद मेदवेदेव ने कहा, “ जिस तरह से आप खेलते हैं वह मजाक लगता है, आपके खिलाफ खेलना बहुत मुश्किल है. जिस तरह से नडाल एक एक करके ग्रैंड स्लैम जीत रहे हैं मैं सोच रहा था कि अगर मैं जीत गया तो वे क्या दिखाएंगे. आपको देखकर लाखों बच्चे टेनिस खेल आपके जैसे बनना चाहते हैं. यह हमारे खेल के लिए बेहतरीन है. इसके लिए आपका धन्यवाद और आपको बहुत बधाई. मेदवेदेव ने बुल्गारिया के ग्रिगोर दिमित्रोव को 7-6, 6-4, 6-3 से हराकर फाइनल में जगह बनाई थी. वहीं नडाल ने सेमीफाइनल में इटली के मैतियो बेरेटिनी को सीधे सेटों में 7-6, 6-4, 6-1 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया था. 

वहीं मैच के बाद नडाल ने कहा, “यह मेरे करियर की सबसे भावुक रातों में से एक है. यह एक शानदार फाइनल रहा. यह मैच पूरी तरह से क्रेजी था.”  क्ले कोर्ट के बादशाह माने जाने राफेल इससे पहले इसी साल फ्रेंच ओपन खिताब भी जीत चुके हैं. उऩ्होंने 2005 से 2008, 2010 से 2014 और 2017 से 2019 तक फ्रेंच ओपन के पुरुष एकल खिताब जीते हैं.