close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: एक बार फिर धोनी की 'नकल' करने में असफल रहे ईशान किशन

ईशान किशन झारखंड टीम की कप्तानी कर रहे हैं. इसी के साथ के वह धोनी की तरह विकेटकीपिंग भी कर रहे हैं.

VIDEO: एक बार फिर धोनी की 'नकल' करने में असफल रहे ईशान किशन
ईशान किशन ने की धोनी के सिग्नेचर स्टैप की कॉपी (स्क्रीनग्रेब)

नई दिल्ली: हाल ही में झारखंड और महाराष्ट्र के बीच विजय हजारे ट्रॉफी का क्वार्टर फाइनल मैच खेला गया था. एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए क्वार्टर फाइनल मैच में बारिश के बाद लगी वीजेडी प्रणाली के माध्यम से झारखंड ने महाराष्ट्र को आठ विकेट से हरा दिया. इस तरह झारखंड ने सेमीफाइनल में अपनी जगह बना ली है. इस मैच में झारखंड की तरफ से विकेटकीपिंग कर रहे ईशान किशन ने फैन्स को महेंद्र सिंह धोनी की याद दिया दी. 

इस मैच में ईशान किशन बल्ले से तो फैन्स का दिल नहीं जीत सके, लेकिन धोनी की तरह विकेटकीपिंग करने की उनकी कोशिश से सभी लोग खुश हो गए. दरअसल, विकेटकीपिंग के दौरान ईशान ने महेंद्र सिंह धोनी की नकल करते हुए राहुल त्रिपाठी को आउट करने की कोशिश की. हालांकि, वह अपने इस प्रयास में असफल रहे. 

VIDEO: विकेट के पीछे 'धोनी' बने ईशान किशन, माही के सिग्नचेर स्टाइल में की रनआउट की कोशिश

राहुल त्रिपाठी बल्लेबाजी कर रहे थे. शाहबाज नदीम की गेंदबाज कर रहे थे. राहुल ने गेंद को आगे बढ़कर खेलने की कोशिश की,  लेकिन गेंद स्पिन होकर अंदर की तरफ चली गई. गेंद बल्लेबाज के पैड से लगी और ईशान के पास चली गई. ईशान किशन ने जल्द ही गेंद को उठाया और बिना पीछे पलटे ही थ्रो कर दिया. जिससे गिल्लियों तो उड़ गई लेकिन त्रिपाठी क्रीज में पहुंचने में कामयाब हो चुके थे.

बता दें कि इससे पहले भी ईशान ने दिलीप ट्रॉफी के दौरान भी धोनी की नकल करने की कोशिश की थी. उस बार भी ईशान असफल रहे थे. लेकिन जिस तरह ईशान किशन लगातार धोनी को फॉलो कर रहे हैं. उससे देखकर तो यही लगता है कि वह उन्हीं की तरह बनना चाहते हैं, इसलिए धोनी के नक्शेकदम पर चलकर सफल होने की कोशिश में जुटे हुए हैं.

गौरतलब है कि आईपीएल के दौरान धोनी ने बिना स्टंप्स देखे पैरों के बीच से गेंद को थ्रो कर विकेट लिया था. यह घटना आईपीएल 10 के दौरान हुई थी. इससे पहले न्‍यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में भी धोनी ने बिना स्‍टंप देखे रॉस टेलर को रन आउट कर दिया था.

 

via Gfycat

बता दें कि टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी महाराष्ट्र ने 42.2 ओवरों में 181 रनों का स्कोर खड़ा किया. इस मैच में बारिश ने दो बार खलल डाली और ऐसे में झारखंड को पहले 47 ओवरों में 174 रनों का स्कोर हासिल करने का लक्ष्य मिला था.  हालांकि, दूसरी बार बारिश ने दखल दी. इसके बाद झारखंड को 34 ओवरों में 127 रनों का लक्ष्य मिला, जिसे टीम ने 32.2 ओवरों में दो विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया. रोहित मोटवानी की 52 रनों की अर्धशतकीय पारी के दम पर महाराष्ट्र ने 181 रनों का स्कोर खड़ा किया. इसमें कप्तान राहुल त्रिपाठी की 47 रनों की पारी ने भी अहम भूमिका निभाई. 

झारखंड के लिए इस पारी में अनुकूल रॉय ने सबसे अधिक तीन विकेट लिए, वहीं, राहुल शुक्ला को तीन सफलताएं मिली. इसके अलावा, वरुण एरोन ने दो और शाहबाज नदीम ने एक विकेट हासिल किया. 

इसके बाद, झारखंड ने शाहशीम संजय राठौड की नाबाद अर्धशतकीय पारी और कप्तान ईशान किशन (28) तथा सौरभ तिवारी (नाबाद 29) की अच्छी बल्लेबाजी के दम पर वीजेडी प्रणाली से मिले 127 रनों के लक्ष्य को हासिल कर सेमीफाइनल में प्रवेश किया. इस पारी में महाराष्ट्र के लिए श्रीकांत मुंधे और समाद फलाह ने एक-एक विकेट लिए. 

(आईएएनएस इनपुट के साथ)