VIDEO: एमएस धोनी ने 13 महीने और 22 मैचों के बाद लगाई फिफ्टी, टीम की वापसी कराई

महेंद्र सिंह धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेले गए पहले वनडे में 51 रन बनाए. 

VIDEO: एमएस धोनी ने 13 महीने और 22 मैचों के बाद लगाई फिफ्टी, टीम की वापसी कराई
महेंद्र सिंह धोनी ने इससे पहले 2017 में अर्धशतक लगाया था. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने के बाद वनडे सीरीज खेल रही टीम इंडिया के लिए अच्छी खबर है. स्टार बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी 13 महीने बाद फॉर्म में लौट आए हैं. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शनिवार (12 जनवरी) को खेले गए पहले वनडे में 51 रन बनाए. धोनी ने 13 महीने और 22 वनडे मैचों के बाद फिफ्टी लगाई. 

एमएस धोनी ने इससे पहले 10 दिसंबर 2017 को श्रीलंका के खिलाफ अर्धशतक लगाया था. तब उन्होंने 87 गेंदों पर 65 रन की पारी खेली थी. हालांकि, उनकी यह पारी भारत को जीत नहीं दिला सकी थी. श्रीलंका ने तब भारत को सात विकेट से हराया था. धोनी ने इस फिफ्टी के बाद 2017 में दो और 2018 में 20 वनडे मैच खेले, लेकिन अर्धशतक नहीं बना सके. लेकिन 2019 के पहले ही मैच में अर्धशतक लगाकर उन्होंने यह बता दिया है कि वे वर्ल्ड कप के लिए तैयार हैं. 

यह भी पढ़ें: VIDEO: कुलदीप-चहल को मिला धोनी का साथ, जडेजा-कार्तिक-खलील रह गए अकेले

एमएस धोनी शनिवार को सिडनी में जब बैटिंग करने उतरे, तब भारत चार रन के स्कोर पर तीन विकेट गंवा चुका था. शिखर धवन और अंबाती रायडू बिना खाता खोले आउट हो चुके थे और कप्तान विराट कोहली तीन रन बनाकर पैवेलियन लौटे थे. टीम इंडिया बेहद दबाव में थी. टीम को लंबी साझेदारी की जरूरत थी. ऐसे वक्त पर एमएस धोनी ने रोहित शर्मा के साथ 137 रन की साझेदारी की और टीम को काफी हद तक दबाव से उबार लिया. धोनी ने अपनी पारी में 96 गेंदों का सामना किया और तीन चौके व एक छक्का जमाया.

 

 

एमएस धोनी थोड़े ‘अनलकी’ रहे और अंपायर के गलत फैसले के शिकार हुए. अंपायर ने उन्हें जेसन बेहरेनडॉर्फ की गेंद पर एलबीडब्ल्यू करार दिया. हालांकि, टीवी रिप्ले से साफ था कि गेंद ने लेग स्टंप के बाहर टप्पा खाया था. धोनी इस मामले में भी ‘अनलकी’ रहे कि उनके क्रीज पर उतरने से पहले ही भारत अपना डीआरएस गंवा चुका था. अंबाती रायडू ने मैच के चौथे ओवर में आउट होने के बाद डीआरएस लिया था. उन्हें तीसरे अंपायर ने भी आउट करार दिया और इस तरह भारत ने डीआरएस गंवा दिया था.