close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: सैनिकों का हौसला बढ़ाने पहुंचे सचिन तेंदुलकर, कहा- अभिनंदन को देख रोंगटे खड़े हो गए

 Indian Air Force Day: पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकरने भारतीय वायु सेना (आईएएफ) की 87वीं वर्षगांठ के जश्न में शिरकत की. 

VIDEO: सैनिकों का हौसला बढ़ाने पहुंचे सचिन तेंदुलकर, कहा- अभिनंदन को देख रोंगटे खड़े हो गए
सचिन तेंदुलकर ने विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को सबकी प्रेरणा बताया. (फोटो: IANS)

गाजियाबाद: मानद ग्रुप कप्तान सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने मंगलवार को भारतीय वायु सेना (आईएएफ) की 87वीं वर्षगांठ के जश्न में शिरकत की. समारोह हिंडन एयर फोर्स स्टेशन (Hindon Air Force Station) पर हुआ. सचिन तेंदुलकर को सितंबर-2010 में ग्रुप कैप्टन की रैंक दी गई थी. उन्होंने यहां एयर चीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया के साथ कार्यक्रम में शिरकत की. 

सचिन तेंदुलकर के साथ उनकी पत्नी अंजली तेंदुलकर (Anjali Tendulkar) भी समारोह में शामिल हुईं. वायु सेना (Indian Air Force) के अधिकारियों ने उनका स्वागत किया. सचिन तेंदुलकर ने इस मौके पर कुछ तस्वीरें और एक वीडियो ट्वीट किया. सचिन ने विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को सबकी प्रेरणा बताया. 

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान में अंपायर को मैच के दौरान आया हार्ट अटैक, मौत

सचिन ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘वायु सेना दिवस के अवसर पर सभी को शुभकामनाएं. भारत को हमेशा सुरक्षित रखने के लिए मैं देश के हर सैनिक को धन्यवाद देता हूं. माननीय PM मोदी जी द्वारा जारी स्वस्थ और स्वच्छ भारत मिशन में आपके उत्साह को देखकर मैं कामना करता हूं कि भारत हमेशा स्वस्थ, स्वच्छ और सुरक्षित रहे। जय हिंद!’

 

 

सचिन तेंदुलकर ने अगली पोस्ट में कहा, ‘विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान (Abhinandan Varthaman) एमआईजी-21 की फ्लाइंग परेड की अगुवाई कर रहे हैं. वे हम सबके लिए प्रेरणा हैं. उन्हें परेड की अगुवाई करते देखकर रोंगटे खड़े हो गए थे.’ सचिन तेंदुलकर ने 2013 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया था. वे ऐसे पहले खिलाड़ी हैं, जिन्हें भारतीय वायुसेना में मानद ग्रुप कैप्टन की उपाधि दी है. 
 

 

सचिन तेंदुलकर इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतक लगाने वाले अकेले क्रिकेटर हैं. टेस्ट और वनडे क्रिकेट में सबसे अधिक रन बनाने की उपलब्धि भी सचिन के ही नाम दर्ज है. सचिन तेंदुलकर को 1994 में अर्जुन अवॉर्ड मिल चुका है.

(इनपुट: IANS)