VIDEO: पाकिस्तानी कप्तान ने द.अफ्रीकी क्रिकेटर की मां को कहे अपशब्द, 'काले...'

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान सरफराज अहमद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे वनडे में अश्वेत क्रिकेटर एंडिल फिलक्वायो पर नस्लीय टिप्पणी की. इतना ही नहीं, सरफराज ने उनकी मां के लिए भी अपशब्द कहे.

VIDEO: पाकिस्तानी कप्तान ने द.अफ्रीकी क्रिकेटर की मां को कहे अपशब्द, 'काले...'
सरफराज का यह वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

डरबन: दक्षिण अफ्रीका ने मंगलवार को डरबन में पाकिस्तान को दूसरे वनडे मैच में पांच विकेट से हराकर पांच मैचों की सीरीज में एक-एक बराबरी कर ली. रास्सी वान डेर डुसेन और एंडिले फेहलुकवायो की नाबाद अर्धशतकीय पारियों की मदद से मेजबान टीम ने पाकिस्तान को पांच विकेट से रौंद दिया. पाकिस्तान ने 204 रनों के लक्ष्य दिया था जिसे दक्षिण अफ्रीका ने 42 ओवर में 5 विकेट गंवाकर हासिल कर लिया. दूसरे वनडे में मैच के दौरान पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद ने बेशर्मी की हद पार की दी. सरफराज ने दक्षिण अफ्रीका के अश्वेत क्रिकेटर एंडिल फिलक्वायो पर नस्लीय टिप्पणी की. इतना ही नहीं, सरफराज ने उनकी मां के लिए भी अपशब्द कहे. सरफराज का यह वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

37वें ओवर के दौरान हुई ये घटना
ये वाकया दक्षिण अफ्रीकी पारी के 37वें ओवर के दौरान हुआ. इसी ओवर की तीसरी गेंद पर जब फेहलुकवायो सिंगल दौड़ रहे थे तो विकेट के पीछे से सरफराज अहमद ने उनके लिए अभद्र और नस्लीय टिप्पणी की जो स्टंप माइक में कैद हो गई. सरफराज अहमद कहते हैं, ‘अबे काले! तेरी अम्मी आज कहां बैठी हैं? क्या पढ़वा के आया है आज.' 

उस दौरान पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी रमीज रजा और माइक हेजमैन कमेंट्री कर रहे थे. हेजमैन ने सरफराज की माइक में कैद हुई बात का अनुवाद करने को कहा तो रजा ने भी सरफराज की गलती पर पर्दा डालते हुए कहा कि इसका अनुवाद करना मुश्किल है क्योंकि यह बहुत लंबा वाक्य है.'

मैच रेफरी के पास पहुंच मामला
सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद यह मामला मैच रेफरी के पास पहुंच गया. अब मैच रेफरी को फैसला करना है कि पाकिस्तान के कप्तान को क्या सजा दी जाए. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के नस्लभेदी संबंधी आचार संहिता के अनुसार किसी खिलाड़ी को नस्लभेजी टिप्पणी करने का दोषी माना जाता है जब वह दूसरे किसी खिलाड़ी के खिलाफ उसकी जाति, धर्म, संस्कृति, रंग, वंश, राष्ट्रीय या जातीय मूल के आधार पर टिप्पणी करे. इसका उल्लंघन करने पर आईसीसी द्वारा कड़ी सजा का प्रावधान है. आईसीसी अगर सरफराज अहमद को नस्लीय टिप्पणी करने का दोषी पाता है तो उन पर कम से कम 4 टेस्ट या 8 वनडे मैचों का प्रतिबंध लग सकता है.