close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: भारतीय क्रिकेटरों में तीसरे वनडे से पहले हुआ छक्के लगाने का कॉम्पिटीशन

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच शुक्रवार को रांची में तीसरा वनडे मैच होना है. यह महेंद्र सिंह धोनी का घरेलू मैदान है. 

VIDEO: भारतीय क्रिकेटरों में तीसरे वनडे से पहले हुआ छक्के लगाने का कॉम्पिटीशन
नेट प्रैक्टिस के दौरान शिखर धवन (बाएं), विजय शंकर (दाएं) और एमएस धोनी व विराट कोहली. (फोटो: IANS/PTI)

नई दिल्ली: मेजबान भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच शुक्रवार को रांची में तीसरा वनडे खेला जाना है. भारतीय टीम (Team India) पांच मैचों की वनडे सीरीज में पहले दो मैच जीतकर 2-0 से आगे चल रही है. इसलिए तीसरा मैच बेहद अहम हो गया है. अगर भारत यह मैच जीत लेता है, तो सीरीज में अजेय बढ़त ले लेगा. यह मैच रांची के जेएससीए स्टेडियम (JSCA Stadium) में खेला जाना है, जो महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) का घरेलू मैदान भी है. इस कारण भी मैच की अहमियत बढ़ गई है. 

भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमों ने मैच से एक दिन पहले गुरुवार को नेट प्रैक्टिस की. लगातार दो मैच जीत चुकी भारतीय टीम के खिलाड़ी छक्के लगाने का अभ्यास करते हुए देखे गए. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने छक्के लगाने के इस अभ्यास का वीडियो भी अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है. 

यह भी पढ़ें: VIDEO: कश्मीरी युवक की पिटाई पर भड़के गौतम गंभीर, कहा- यह सिर्फ हमारा नहीं, उनका भी भारत है

बीसीसीआई के इस वीडियो में एमएस धोनी (MS Dhoni), शिखर धवन (Shikhar Dhawan) से लेकर भुवनेश्वर कुमार (Bhuvaneshwar Kumar) और युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) छक्का लगाते नजर आ रहे हैं. मजेदार बात यह है कि ये चारों ही खिलाड़ी वनडे मैच में इस मैदान पर कभी छक्का नहीं लगा सके हैं. 

 

 

बात जब छक्के लगाने की हो रही है तो बता दें कि रांची के जेएससीए स्टेडियम में सबसे अधिक छक्के लगाने का रिकॉर्ड श्रीलंका के एंजेलो मैथ्यूज के नाम है. उन्होंने 2014 में भारत के खिलाफ 139 रन की पारी खेली थी, जिसमें 10 छक्के शामिल थे. विराट कोहली छह छक्कों के साथ दूसरे नंबर पर हैं. ग्लेन मैक्सवेल यहां पांच और जॉर्ज बेली तीन छक्के मार चुके हैं. इनके अलावा अंबति रायडू, अजिंक्य रहाणे, अक्षर पटेल, मिचेल जॉनसन, धवल कुलकर्णी और श्रीलंका के लाहिरु थिरिमाने यहां एक-एक छक्के लगा चुके हैं. 

यह एमएस धोनी का घरेलू मैदान है. माना जा रहा है कि वे आखिरी बार यहां इंटरनेशनल मैच खेलेंगे. 37 साल के धोनी ने यहां अब तक तीन मैच खेले हैं. वे यहां कभी भी बड़ी पारी नहीं खेल पाए हैं. धोनी को यहां तीन मैचों में दो बार बैटिंग का मौका मिला है. वे 2013 में इंग्लैंड के खिलाफ यहां 10 रन बनाकर नाबाद रहे थे. साल 2013 में ही वे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस मैदान पर उतरे. लेकिन इससे पहले कि वे बैटिंग करने उतरे, बारिश हो गई और मैच रद्द हो गया. इसके बाद उन्हें 2016 में भी यहां खेलने का मौका मिला. लेकिन तब वे न्यूजीलैंड के खिलाफ महज 11 रन बनाकर आउट हो गए थे.