विजय हजारे ट्रॉफी: तमिलनाडु सेमीफाइनल में पहुंचा, गुजरात से होगा मुकाबला

तमिलनाडु विजय हजारे ट्रॉफी के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली चौथी टीम बन गई है. कर्नाटक, गुजरात और छत्तीसगढ़ भी अंतिम-4 में जगह बना चुके हैं.

विजय हजारे ट्रॉफी: तमिलनाडु सेमीफाइनल में पहुंचा, गुजरात से होगा मुकाबला
दिनेश कार्तिक तमिलनाडु के कप्तान हैं. तमिलनाडु ने विजय हजारे ट्रॉफी में लगातार नौ मैच जीते हैं. (फाइल फोटो)

अलुर (कर्नाटक): दिनेश कार्तिक की कप्तानी वाली तमिलनाडु की टीम ने विजय हजारे क्रिकेट टूर्नामेंट (Vijay Hazare Trophy) के सेमीफाइनल में जगह बना ली है. तमिलनाडु (Tamil Nadu) और पंजाब के बीच सोमवार को तीसरा क्वार्टर फाइनल मुकाबला खेला गया. लेकिन यह मैच बारिश के कारण पूरा नहीं हो सका. लीग चरण में ज्यादा मैच जीतने के आधार पर तमिलनाडु की सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रही. विजय हजारे ट्रॉफी के लीग चरण में तमिलनाडु ने नौ मैच जीते थे. पंजाब (Punjab) को टूर्नामेंट के पांच मैचों में जीत मिली थी. सेमीफाइनल में तमिलनाडु का सामना बुधवार को गुजरात (Gujarat) के साथ होगा. 

पंजाब ने सोमवार को तीसरे क्वार्टर फाइनल में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. तमिलनाडु की शुरुआत खराब रही और मुरली विजय के साथ ही अभिनव मुकुंद भी जल्द ही पवेलियन लौट गए. इसके बाद बाबा अपराजित ने 56 और वाशिंगटन सुंदर ने 35 रनों का योगदान दिया. बारिश की वजह से मैच को 39 ओवरों का कर दिया गया और तमिलनाडु ने छह विकेट पर 174 रन का स्कोर बनाया. पंजाब के लिए मयंक मारकंडे ने दो विकेट चटकाए. 

यह भी पढ़ें: द. अफ्रीका के ‘12वें खिलाड़ी’ ने बनाया सबसे बड़ा स्कोर और एक दिन के लिए टाल दी हार 

पंजाब को वीजेडी नियम के तहत 39 ओवरों में जीत के लिए 195 रनों का संशोधित लक्ष्य मिला. पंजाब की शुरुआत खराब रही और टीम ने जल्द ही अभिषेक शर्मा (6) और अनमोलप्रीत सिंह (9) का विकेट गंवा दिया. पंजाब ने इसके बाद 12.2 ओवर में दो विकेट पर 52 रन बना लिए थे कि तभी बारिश आ गई और मैच को रद्द करना पड़ा. तमिलनाडु ने इस मैच से पहले विजय हजारे ट्रॉफी में लगातार नौ मैच जीते हैं. 

सोमवार को ही छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) ने विजय हजारे क्रिकेट के सेमीफाइनल में प्रवेश किया. छत्तीसगढ़ और मुंबई के बीच सोमवार को क्वार्टर फाइनल मुकाबला होना था. यह मैच शुरू तो हुआ, लेकिन बारिश के कारण पूरा नहीं हो सका. मैच का कोई परिणाम नहीं आया. छत्तीसगढ़ की टीम ने लीग चरण में मुंबई से ज्यादा मैच जीते थे और इसी के आधार पर उसे सेमीफाइनल में प्रवेश मिल गया. छत्तीसगढ़ की टीम ने लीग चरण में पांच मैच जीते थे जबकि मुंबई ने चार ही मैच जीते थे.