अनुष्का शर्मा नहीं, बल्कि इन 3 लोगों से मिलती है विराट कोहली को प्रेरणा

आज टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली करोड़ों भारतीयों की प्रेरणा बन चुके हैं, लेकिन उनकी जिंदगी की प्रेरणा अनुष्का शर्मा नहीं बल्कि 3 लोग हैं.

अनुष्का शर्मा नहीं, बल्कि इन 3 लोगों से मिलती है विराट कोहली को प्रेरणा

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) आज की तारीख में भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में युवाओं के रोल मॉडल हैं. युवा उनसे प्रेरणा लेते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि अपने माता-पिता के अलावा दुनिया में वो कौन  शख्स हैं, जिनसे विराट कोहली को प्रेरणा मिलती है? जी नहीं, वो अनुष्का शर्मा नहीं हैं. इस बॉलीवुड स्टार की विराट की जिंदगी में पत्नी के तौर पर बेहद खास अहमियत है, लेकिन वे 3 शख्स कोई और हैं, जिनसे प्रेरणा लेकर विराट कोहली आज खेलों की दुनिया में इतनी बड़ी हैसियत तक पहुंच पाए हैं.

यह भी पढ़ें- जब इस भारतीय क्रिकेटर ने नन्ही बेटी को सिखाना चाहा गाना, तो फिर आया ऐसा रिएक्शन

हर क्रिकेटर की तरह सचिन तेंदुलकर से हुए प्रेरित
शायद ही 90 के दशक और उसके बाद नई सदी के पहले दशक का कोई भारतीय क्रिकेटर रहा होगा, जिसकी प्रेरणा का स्रोत मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर न रहे हों. विराट कोहली भी उन्हीं भारतीय युवाओं में से एक हैं, जिन्होंने सचिन को अपना आयडल मानकर क्रिकेट सीखनी चालू की थी. एक इंटरव्यू में विराट ने कहा भी था कि मैं आज जो भी हूं, उसके लिए सचिन से मिली प्रेरणा ही जिम्मेदार है.

कोहली ने बताया था कि मुंबई में भारत-वेस्टइंडीज के बीच टेस्ट मैच सचिन का फेयरवेल मुकाबला था. हर कोई इमोशनल था. ऐसे में विराट ड्रेसिंग रूम में पहुंचे और सचिन के पैर छू लिए. इस पर सचिन ने उन्हें उठाकर गले लगाते हुए कहा था कि तुम्हारी जगह वहां नहीं, यहां होनी है. विराट का कहना है कि उस एक लाइन ने उन्हें क्रिकेट में सबसे आगे निकलने की प्रेरणा दी. वो जगह छूने की, जहां सचिन बैठे हैं.

दीपिका पल्लीकल की बदौलत बने फिटनेस प्रेमी
ये भी एक राज की बात है कि आज की तारीख में फिटनेस के लिए दीवानगी या कहें पागलपन की हद तक मेहनत करने वाले विराट कोहली को इसकी प्रेरणा महिला स्कवैश स्टार दीपिका पल्लीकल को देखकर मिली थी. भारतीय क्रिकेटर दिनेश कार्तिक की पत्नी दीपिका देश की नंबर-1 स्कवैश खिलाड़ी हैं और अपनी फिटनेस पर जबरदस्त मेहनत करती हैं. टीम इंडिया के पूर्व ट्रेनर शंकर बासु ने इस बात का खुलासा एक इंटरव्यू में किया था कि शुरुआती दिनों में फिटनेस पर महज हल्का-फुल्का ध्यान देने वाले विराट ने दीपिका का फिटनेस शेड्यूल देखने के बाद बासु से वैसी ही मेहनत करने की इच्छा जताई थी. इसके बाद ही विराट का फिटनेस ट्रांसफार्मेशन हुआ, जिसे उनकी बल्लेबाजी की सफलता और निरंतर सफलता का कारण माना जाता है.

परमहंस योगानंद से मिली प्रेरणा ने बदली जिंदगी के प्रति सोच
विराट कोहली ने अपने इंस्टाग्राम पर कुछ समय पहले एक किताब हाथ में लेकर फोटो पोस्ट की थी. ये किताब थी परमहंस योगानंद की आटोबायोग्राफी. विराट ने कैप्शन में खुलासा किया था कि परमहंस योगानंद की जीवनी पढ़ने के बाद उनकी जिंदगी के प्रति सोच बदल गई, जिसने उन्हें न केवल खेल के मैदान बल्कि बाहर की दुनिया में भी अलग तरह का इंसान बनने का मौका दिया. दूसरे शब्दों में ये कहा जा सकता है कि क्रिकेट के मैदान से बाहर विराट का ब्रांड वाली छवि बनी है, वो योगानंद से मिली प्रेरणा की ही बदौलत है.