वीरेंद्र सहवाग के नाम है ये शानदार विश्व रिकॉर्ड, क्या आप जानते हैं इसके बारे में?

यूं तो वीरेंद्र सहवाग का नाम क्रिकेट के इतिहास के सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में लिया जाता है और उनके नाम कई शानदार विश्व रिकॉर्ड भी दर्ज हैं.

वीरेंद्र सहवाग के नाम है ये शानदार विश्व रिकॉर्ड, क्या आप जानते हैं इसके बारे में?
वीरेंद्र सहवाग (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: यूं तो वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) का नाम क्रिकेट के इतिहास के सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में लिया जाता है और उनके नाम कई शानदार विश्व रिकॉर्ड भी दर्ज हैं, पर आज हम जिस रिकोर्ड की बात करने जा रहे हैं उस पर आज तक किसी ने ध्यान ही नहीं दिया. अब आप सोच रहे होंगे ये रिकॉर्ड कौन सा है. आइए हम आपको बताते हैं अपनी इस स्पेशल स्टोरी में.

जब-जब वीरेंद्र सहवाग का नाम लिया जाता है तो लोगों के जहन में तूफान, आंधी और प्रलय जैसे शब्द आते हैं क्योंकि जब सहवाग किसी गेंदबाज को पीटना शुरू करते थे तो उसको इतना पीटते थे कि वो गेंद डालना ही भूल जाता था. गेंदबाजों में सहवाग का खौफ इतना था कि उनकी लाइन और लैंथ और गति सब बिगड़ जाती थी. इसी वजह से सहवाग ने क्रिकेट में वो मुकाम हासिल किया जो विरले ही कर पाते हैं.

ये भी पढ़ें: अब टीम इंडिया के गब्बर ने अफरीदी को लगाई लताड़, याद दिलाया सिखों का ये नियम

अपनी धुंआधार बल्लेबाजी की वजह से सहवाग न सिर्फ टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक बनाने में कामयाब रहे, इसके साथ ही सहवाग सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के बाद वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज भी बने. सहवाग का यही रिकॉर्ड अनूठा है, क्योंकि क्रिकेट इतिहास में टेस्ट में तिहरा शतक और एकदिवसीय क्रिकेट में दोहरा शतक बनाने वाले सहवाग पहले और इकलौते खिलाड़ी हैं.

सहवाग के बाद इस मुकाम को आज तक कोई भी हासिल नहीं कर पाया है, फिर चाहें वो रोहित शर्मा (Rohit Sharma) हों या विराट कोहली (Virat Kohli) या फिर स्टीव स्मिथ, दुनिया का कोई भी बल्लेबाज आज तक टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक और वनडे में दोहरा शतक नहीं बना पाया है. यूं तो रोहित शर्मा ने ओडीआई क्रिकेट में तीन दोहरे शतक जड़ दिए हैं पर टेस्ट मैचेज में वो आज तक तिहरा शतक बनाने में कामयाब नहीं हुए.

विराट और रोहित के उलट सहवाग ने टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक और वनडे में दोहरा शतक लगाने का कारनामा बहुत पहले ही कर दिखाया था. सहवाग ने अपने करियर का पहला तिहरा शतक पाकिस्तान के खिलाफ मुल्तान टेस्ट में साल 2004 में बनाया था और उन्होनें इतिहास को एक बार फिर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ साल 2008 में दोहराया.

चेन्नई में खेले गए इस टेस्ट मैच में सहवाग ने 304 गेंदों में 319 रन की विस्फोटक पारी खेली थी और इसी के साथ सहवाग दो तिहरे शतक लगाने वाले पहले भारतीय बने थे. सहवाग ने वनडे में दोहरे शतक का कारनामा वेस्ट इंडीज के खिलाफ साल 2011 में किया था जब उन्होनें इंदौर में 149 गेंदों पर 219 रन बनाकर भारत को 153 रन से एक बड़ी जीत दिलवाई थी.

सहवाग का टेस्ट में तिहरा शतक और वनडे में दोहरा शतक बनाने का ये रिकॉर्ड आज भी कायम है.

LIVE TV