VIDEO: हरभजन सिंह ने गाया गाना तो बोले मीका- ना भज्जी प्लीज, तुस्सी ना गाओ यार

इस वीडियो में भज्जी किशोर कुमार का शराबी फिल्म का गाना 'इंतेहा हो गई इंतजार की...' गाते हुए नजर आ रहे थे.

VIDEO: हरभजन सिंह ने गाया गाना तो बोले मीका- ना भज्जी प्लीज, तुस्सी ना गाओ यार
हरभजन सिंह ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया अपने गाने का वीडियो (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भज्जी के नाम से मशहूर स्टार स्पिनर हरभजन सिंह अब टीम इंडिया का हिस्सा नहीं हैं. आईपीएल 2018 में वह चेन्नई सुपरकिंग्स का हिस्सा थे, लेकिन उन्होंने खेलने के मौके ज्यादा नहीं मिले. ऐसे में लगता है कि हरभजन सिंह को अब क्रिकेट से संन्यास के बारे में सोच लेना चाहिए और क्रिकेट से इतर करियर भी तलाशना चाहिए. ऐसा लग भी रहा है कि हरभजन सिंह क्रिकेट से अलग कुछ और कर भी रहे हैं. हरभजन सिंह फिलहाल क्रिकेट से दूर संगीत की दुनिया में हाथ आजमा रहे हैं. लगता है हरभजन सिंह म्यूजिक और गायन में अपना करियर तलाश रहे हैं. 

जब वह टीम इंडिया के सदस्य थे तब से वह विज्ञापन उद्योग का हिस्सा रहे हैं. वह अनेक विज्ञापनों में दिखाई देते रहे हैं. हालांकि, इससे उनकी अभिनय क्षमता का कोई खुलासा नहीं होता. लेकिन उनमें गायन क्षमता भी है इसका हाल ही में खुलासा हुआ.

दरअसल, हाल ही में हरभजन सिंह ने वर्ल्ड म्यूजिक डे पर अपना एक वीडियो पर ट्‍विटर पर अपना एक वीडियो पोस्ट किया था. इस वीडियो में भज्जी किशोर कुमार का शराबी फिल्म का गाना 'इंतेहा हो गई इंतजार की...' गाते हुए नजर आ रहे थे.

भज्जी ने इस वीडियो को शेयर करते हुए कैप्शन लिखा था- संगीत लोगों को जोड़ने का सबसे अच्छा साधन है. किशोर कुमार का गाना 'इंतेहा हो गई इंतजार की...' मेरा सबसे पसंदीदा गाना है. मुझे बताइए आपका पसंदीदा गीत कौनसा हैं, म्यूजिक को फैलाओ, प्यार फैलाओ.

हरभजन के इस वीडियो के बाद बॉलीवुड सिंगर मीका सिंह ने एक ट्वीट किया. मीका ने लिखा- ना भज्जी प्लीज ना करो, तुस्सी ना गाओ यार...आजकल हर कोई सिंगर बन रह है. लेकिन समस्या यह है कि हम क्रिकेटर नहीं बन सकते. तुस्सी साड्डे पेट पर लात ना मारो.

इसके जवाब में हरभजन सिंह ने लिखा- ना भाई मेरे वस दी गल्ल नहीं है...जिसका काम उसी को साझे....

बता दें कि इससे पहले हरभजन सिंह शहीद भगत सिंह को लेकर भी एक गाना गा चुके हैं. हरभजन सिंह ने अपने इस गाने के जरिए युवा पीढ़ी को संदेश देने की कोशिश की है कि जैसा देश भगत सिंह चाहते थे, हमारा देश वैसा नहीं बन रहा है. इस गीत में उन्होंने भगत सिंह को साल में दो-तीन दिन याद करने वाले फैन्स और उन गीतकारों पर कटाक्ष किया, जो भगत सिंह की सोच को छोड़ कर गलत गीत गा रहे हैं.