‘गे कमेंट’ मामले में गैब्रियल ने कबूला गुनाह, कहा- मैंने तो रूट से बस यही कहा था...

वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज शेनन गैब्रियल को समलैंगिक टिप्पणी करने का दोषी पाया गया है. इसके बाद उन पर चार मैचों का प्रतिबंध लगा दिया गया था. 

‘गे कमेंट’ मामले में गैब्रियल ने कबूला गुनाह, कहा- मैंने तो रूट से बस यही कहा था...
वेस्टइंडीज के शेनन गैब्रियल (बाएं) और इंग्लैंड के जो रूट ने मैच खत्म होने के बाद हाथ मिलाकर कड़वाहट खत्म की. (फोटो: Reuters)

ग्रास आइल (सेंट लूसिया): समलैंगिक कमेंट के आरोप में चार मैचों का प्रतिबंध झेलने वाले वेस्टइंडीज के शेनन गैब्रियल ने पहली बार इस मामले में खुलकर बात की है. उन्होंने इस मामले में चिट्ठी लिखकर इंग्लैंड के कप्तान जो रूट से बिना शर्त माफी मांग ली है. गैब्रियल ने इस चिट्ठी में वह बात भी बताई है, कि उन्होंने जो रूट से कहा था. इससे पहले सिर्फ जो रूट की प्रतिक्रिया सामने आई थी, जो स्टंप्स माइक पर रिकॉर्ड हुई थी. 

यह पूरा मामला वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के बीच तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन का है. जो रूट ने इस मैच के तीसरे दिन जो डेनली (69) के साथ तीसरे विकेट के लिए 74 रन की साझेदारी की. शैनन गैब्रियल से उनकी बहस भी इसी साझेदारी के दौरान हुई. इस बहस का बाद का हिस्सा स्टंप माइक में कैद हो गया था. इसमें रूट कहते हैं, ‘इसका इस्तेमाल बेइज्जती करने के लिए नहीं कीजिए. समलैंगिक (गे) होने में किसी तरह की बुराई नहीं है.’ दरअसल, यह रूट की प्रतिक्रिया थी. मैच खत्म होने तक यह बात बाहर नही आई कि आखिर गैब्रियल ने कहा क्या था. 

अब शेनन गैब्रियल ने एक बयान में कहा, ‘मैं अपने टीम के साथियों और इंग्लैंड टीम के सदस्यों, खासकर उनके कप्तान रूट, से बिना किसी शर्त के माफी मांगता हूं जो कि मैदान पर किए गए टिप्पणी के संदर्भ में है. मुझे लगता है कि यह गैरजरूरी था.’ उन्होंने कहा, ‘मुझे पता है कि यह अपमानजनक था और इसके लिए मुझे बेहद अफसोस है.’ 

शेनन गैब्रियल ने कहा, ‘हम उस वक्त इंग्लैंड के खिलाफ दबाव में थे. तभी यह गैरजरूरी बहस हुई. मैंने जो रूट से कहा कि मैं अपने दबाव से बाहर आने की कोशिश कर रहा हूं. तुम मुझे देखकर मुस्कुरा क्यों रहे हो? क्या तुम लड़कों को पसंद करते हो?’ इस तेज गेंदबाज ने आगे कहा, ‘रूट की टिप्पणी को स्टंप्स के माइक द्वारा सुन लिया गया, जिसमें उन्होंने कहा कि 'इसे अपमान के रूप में न लें. समलैंगिक होने में कोई बुराई नहीं है. फिर मैंने भी उन्हें जवाब दिया और कहा कि मुझे इससे कोई दिक्कत नहीं है. लेकिन मेरी तरफ देखकर आपको मुस्कुराना बंद कर देना चाहिए.’ 

इस बहस के बाद अंपायरों ने बीच बचाव किया था. आईसीसी ने मैच के बाद बाद शेनन गैब्रियल पर कार्रवाई की. उनकी मैच फीस का 75% जुर्माना लगाने के साथ-साथ उनके खाते में तीन डीमेरिट अंक भी जोड़ दिया गया. इससे 24 महीने के अंदर गैब्रियल के खाते में आठ डीमेरिट अंक हो गए. इस कारण उन पर चार मैच का प्रतिबंध लग गया. गैब्रियल ने अपना जुर्म कबूल कर लिया. इसलिए अब उनके खिलाफ औपचारिक कार्रवाई की जरुरत नहीं पड़ेगी. गैब्रियल ने इस मैच की दोनों पारियों में दो-दो विकेट लिए. 

(इनपुट: आईएएनएस)