जब सचिन तेंदुलकर ने अपने अंडरवियर में टिश्यू पेपर लगाकर मैच खेला, जानिए क्या थी वजह

सचिन तेंदुलकर ने टीम इंडिया के लिए कितना योगदान दिया है, ये बात किसी से छिपी नहीं है, कई बार उन्होंने मुश्किल हालात में भी मैच खेला था.

जब सचिन तेंदुलकर ने अपने अंडरवियर में टिश्यू पेपर लगाकर मैच खेला, जानिए क्या थी वजह

 नई दिल्ली: क्रिकेट की दुनिया के मास्टर ब्लास्टर कहे जाने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने हमेशा ही मैदान पर खेलते वक्त अपना 100% दिया है, फिर चाहे कोई भी परिस्थिति क्यों न रही हो. सचिन ने हर बार अपनी टीम का नाम रोशन किया है और हर बार उन्होंने साबित किया है कि टीम से बढ़कर कुछ भी नहीं है, ऐसा ही कुछ साल 2003 के वर्ल्ड कप के दौरान हुआ जब सचिन ने अपने अंडरवियर में टिशू पेपर लगाकर बल्लेबाजी की थी. इस बात का खुलासा खुद सचिन तेंडुलकर ने लंदन के केनिंग्टन ओवल ग्राउंड में हुए भारत-ऑस्ट्रेलिया के मैच के दौरान कॉमेंट्री करते हुए किया था. इसके अलावा इस किस्से का जिक्र सचिन तेंदुलकर की बायोग्राफी 'प्लेइंग इट माय वे' में भी किया गया है.

ये बात है साल 2003 वर्ल्ड कप की, जिसमें सचिन ने एक मैच के दौरान अपने अंडरवीयर में टीशू पेपर लगाकर बल्लेबाजी की थी.  टीम इंडिया और श्रीलंका के बीच मैच खेला जा रहा था, जोहान्सबर्ग में खेले गए इस मैच में सचिन, सहवाग के साथ ओपनिंग करने आए. उस वक्त सचिन तेंदुलकर का पेट काफी खराब हो गया था, लेकिन खेलना तो था ही, फिर क्या था सचिन ने अपने अंडरवियर में टिश्यू पेपर लगाया और मैदान पर बल्लेबाजी करने आ गए.  

उस मैच में सचिन और सहवाग की जबरदस्त साझेदारी ने श्रीलंका के गेंदबाजों की नाक में दम कर दिया था. सचिन ने उस मैच में 97 रनों की शानदार पारी खेली थी जिसकी वजह से टीम इंडिया 183 रनों से मैच जीती थी. सचिन तेंदुलकर ने इस घटना का जिक्र अपनी किताब 'प्लेइंग इट माय वे' में किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि, 'काफी दिनों से मुझे डिहाईड्रेशन की समस्या हो रही थी और साथ ही मेरे पेट में मरोड़ उठ रहे थे, इसके लिए मैंने एनर्जी ड्रिंक में एक चम्मच नमक मिलाकर पी लिया था, मुझे लग रहा था इससे मेरी हालत में जल्दी सुधार हो जाएगा, लेकिन उल्टा हुआ, नमक वाला पानी पीकर मेरी हालत और ज्यादा खराब हो गई.'

खराब तबीयत के बावजूद सचिन तेंदुलकर ने शानदार प्रदर्शन किया, हालांकि इस वर्ल्ड कप में टीम इंडिया फाइनल में पहुंचने के बाद टूर्नामेंट जीत नहीं पाई थी. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फाइनल मुकाबले में भारतीय क्रिकेट टीम को हार का सामना करना पड़ा था लेकिन गॉड ऑफ क्रिकेट सचिन तेंदुलकर के प्रदर्शन ने हर किसी का दिल जीता था. उन्होंने इस पूरे टूर्नामेंट अपने अनोखे अंदाज में बल्लेबाजी की, उसकी हर तरफ तारीफ हुई जिसकी वजह से उन्हें  'प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट' के खिताब से भी नवाजा गया था.