close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ICC विश्व कप की तरह होगी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप: माइकल क्लार्क

एक अगस्त को एशेज सीरीज के साथ ही आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप भी शुरू हो जाएगी. इसमें 27 सीरीज और कुल 71 मैच खेले जाएंगे.

ICC विश्व कप की तरह होगी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप: माइकल क्लार्क
माइकल क्लार्क. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ( Michael Clarke) ने कहा है कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (ICC Test Championship) खेल के लंबे फॉर्मेट के लिए वही काम करेगी, जिस तरह वनडे क्रिकेट के लिए आईसीसी विश्व कप करता है. विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत एक अगस्त से ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच शुरू हो रही एशेज सीरीज से हो रही है. क्लार्क को लगता है कि यह टेस्ट चैंपियनशिप टेस्ट क्रिकेट में एक नई जान फूंकेगी, जिसकी जरूरत टेस्ट क्रिकेट को थी. 

माइकल क्लार्क इस समय केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन द्वारा स्थापित मेड अचिवर्स द्वारा आयोजित की गई मेडपार्लियामेंट में हिस्सा लेने भारत आए हुए हैं. इस मेडपार्लियामेंट दुनियाभर के हेल्थ सेक्टर के स्टार्टअप्स ने हिस्सा लिया और स्वास्थ के क्षेत्र में निवेश को लेकर चर्चा की. इसी दौरान उन्होंने आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (ICC World Test Championship) पर भी बात की. 

यह भी पढ़ें: टेस्ट क्रिकेट का वर्ल्ड कप 1 अगस्त से; कहां खेला जाएगा, कितनी टीमें होंगी, जानें सब कुछ

माइकल क्लार्क ने कहा, ‘मुझे लगता है कि यह (विश्व टेस्ट चैंपियनशिप) टेस्ट क्रिकेट के लिए बहुत अच्छी बात है. शीर्ष दो टीमें 24 महीनों के भीतर लॉर्ड्स पर खेले गए विश्व कप जैसे फाइनल में एक दूसरे के सामने होंगी. यह एक तरह से विश्व कप की तरह है. आपकी रैंकिंग मायने नहीं रखती, जो टीम विश्व कप जीतती है वो मुझे लगता है कि विश्व में सर्वश्रेष्ठ मानी जाती है. टेस्ट क्रिकेट में भी अब यही होगा.’

टेस्ट चैंपियनशिप में शीर्ष नौ टीमें हिस्सा लेंगी, जिनमें भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका और वेस्टइंडीज शामिल हैं. इस टेस्ट चैम्पियनशिप के दौरान दो साल में कुल 27 सीरीज में 71 टेस्ट मैच खेले जाएंगे. सीरीज का फाइनल जून 2021 में होगा.

एशेज सीरीज से स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरून बैनक्रॉफ्ट की तिकड़ी वापसी कर रही है, जो बीते साल मार्च में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बॉल टेम्पिरिंग के कारण प्रतिबंधित कर दी गई थी. स्मिथ के जाने के बाद टीम की कप्तानी टिम पैन के जिम्मे आई थी. एशेज में पैन ही कप्तान होंगे और क्लार्क को लगता है कि उनके पास एक बेहतरीन टीम है. 

विश्व विजेता कप्तान ने कहा, ‘ऑस्ट्रेलियाई टीम काफी प्रतिभाशाली है. टीम में जोश हेजलवुड वापसी कर रहे हैं. वार्नर, स्मिथ और बैनक्रॉफ्ट भी वापसी कर रहे हैं. जेम्स पैटिनसन अब फिट हो गए हैं और वे भी टीम में हैं. यह देखना दिलचस्प होगा कि पैन अंतिम-11 में किसे जगह देते हैं.’

एशेज सीरीज पर क्लार्क ने कहा, ‘यह मुश्किल सीरीज होने वाली है. दो बड़ी टीमें इसमें हिस्सा ले रही हैं, जहां बेहतरीन प्रतिस्पर्धा होने की उम्मीद है. ऑस्ट्रेलिया अच्छी टीम है. उसकी तैयारी भी अच्छी है, लेकिन इंग्लैंड को उसके घर में हराना आसान नहीं है. वह अपने घर में काफी खतरनाक टीम है.’