World Tour Finals: पीवी सिंधु लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंचीं, ओकुहारा से होगा मुकाबला

पीवी सिंधु ने वर्ल्ड टूर फाइनल्स के सेमीफाइनल में पूर्व चैंपियन थाईलैंड की रतचानोक इंतानोन को हराया. 

World Tour Finals: पीवी सिंधु लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंचीं, ओकुहारा से होगा मुकाबला
पीवी सिंधु वर्ल्ड टूर फाइनल्स में हिस्सा लेने वाली भारत की एकमात्र महिला शटलर हैं. (फाइल फोटो)

ग्वांगझू (चीन): भारतीय शटलर पीवी सिंधु ने बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड टूर फाइनल्स (BWF World Tour Finals) में जीत का सिलसिला कायम रखते हुए फाइनल में जगह बना ली है. उन्होंने सेमीफाइनल में थाईलैंड की रतचानोक इंतानोन को हराया. सिंधु की यह टूर्नामेंट में लगातार चौथी जीत है. उन्होंने इससे पहले ग्रुप मैचों में अमेरिका की बीवेन झेंग, ताइवान की ताई जू यिंग और जापान की अकाने यामागुची को हराया था. सिंधु ने लगातार दूसरी बार वर्ल्ड टूर फाइनल्स के फाइनल में जगह बनाई है. 

23 वर्षीय पीवी सिंधु का अब फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा से मुकाबला होगा, जिनसे वह पिछले साल विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में हार गई थीं. दूसरी सीड ओकुहारा ने सेमीफाइनल में अपने ही देश की अकाने यामागुची को हराया. ओकुहारा ने यामागुची को 21-17, 21-14 से हराया. उन्हें यह मुकाबला जीतने में 46 मिनट लगे. ओकुहारा की यामागुची पर यह 12वीं जीत है. यामागुची भी उन्हें छह बार हरा चुकी हैं. 

ओकुहारा और यामागुची के मुकाबले के करीब तीन घंटे बाद पीवी सिंधु और रतनाचोक इंतानोन का मुकाबला हुआ. वर्ल्ड नंबर-6 सिंधु ने इस मुकाबले में रतचानोक इंतानोन को 21-16, 25-23 से मात दी. दोनों खिलाड़ियों के बीच यह मुकाबला 54 मिनट तक चला. इस जीत के साथ ही सिंधु ने रतचानोक के खिलाफ जीत-हार का रिकॉर्ड 4-4 कर लिया है. रतनाचोक इंतानोन 2013 में इस टूर्नामेंट की चैंपियन रह चुकी हैं. 

सिंधु और इंतानोन ने शुरू से ही एक दूसरे को कड़ी चुनौती दी. सिंधु ने अपने दमदार रिटर्न से इंतानोन पर दबाव बनाने की कोशिश की और 10-7 से बढ़त बना ली. भारतीय खिलाड़ी ने ब्रेक से पहले दो अंक गंवाए और इंटरवल तक वह 11-9 से आगे थीं. इंतानोन ने जल्द ही यह अंतर भी पाट दिया. थाई खिलाड़ी ने सिंधु के शरीर को निशाना बनाया लेकिन इस बीच उन्होंने गलतियां भी कीं. सिंधु के रिटर्न शानदार थे. इसके अलावा उन्होंने अपने ताकतवर स्मैश से भी थाई खिलाड़ी को परेशान किया. इंतानोन का शॉट बाहर जाने से सिंधु ने चार गेम प्वाइंट हासिल किए और इसके बाद थाई खिलाड़ी ने शॉट नेट पर मार दिया, जिससे भारतीय ने पहला गेम अपने नाम किया. 

सिंधु ने दूसरे गेम के शुरू में ही चार अंक बनाए लेकिन इंतानोन ने जल्द वापसी करके स्कोर 5-6 कर दिया. सिंधु का शाट बाहर जाने से स्कोर 7-7 से बराबरी पर आ गया. लेकिन इंतानोन का एक और शॉट बाहर जाने से सिंधु ने बढ़त बना दी. इसके बाद दोनों खिलाड़ियों के बीच 27 शाट की रैली चली और इंतानोन ने फिर से स्कोर 10-10 से बराबरी पर ला दिया. वे ब्रेक तक 11-10 से आगे थीं. 

सिंधु ने फिर से चार अंक बनाकर बढ़त हासिल की लेकिन इंतानोन ने फिर से स्कोर बराबर कर दिया. थाई खिलाड़ी ने हालांकि फिर से गलती की जिससे सिंधु 18-16 से आगे हो गईं. भारतीय शटलर इस बढ़त को कायम नहीं रख पाईं और फिर से स्कोर 18-18 और 19-19 हो गया. इसके बाद दोनों खिलाड़ियों ने एक दूसरे से आगे निकलने के प्रयास में मैच को रोमांचक मोड़ पर ला दिया. इंतानोन ने बढ़त बनाई तो सिंधु ने अगला प्वाइंट जीतकर स्कोर 21-21 कर दिया. इंतानोन को हालांकि दो असहज गलतियां करना महंगा पड़ा जिससे सिंधु को मैच प्वाइंट मिल गया और भारतीय ने नेट के करीब से करारा स्मैश जमाकर मैच अपने नाम किया. 

(इनपुट: भाषा)