Year Ender 2019: चोट के मारे 5 ‘बेचारे’, किसी का विश्व कप छूटा तो किसी ने गंवाया...

Indian Cricket: भारतीय क्रिकेट टीम खिलाड़ियों की लगातार चोट के बावजूद 2019 में एक भी टेस्ट नहीं हारी. उसने सबसे अधिक टी20 और वनडे मैच जीते.

Year Ender 2019: चोट के मारे 5 ‘बेचारे’, किसी का विश्व कप छूटा तो किसी ने गंवाया...
ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या 2019 में चोट के कारण भारत के 66% मैच नहीं खेल पाए. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: साल 2019 अब अपने अंतिम पड़ाव पर है. अगर हम 2019 के क्रिकेट (Year Ender 2019) पर नजर डालें तो पाएंगे कि इस साल करीब-करीब भारतीय क्रिकेटरों का दबदबा रहा. यही कारण है कि अगर आईसीसी विश्व कप को छोड़ दें तो भारत ने हर सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया. यह प्रदर्शन और बेहतर रहा होता, अगर देश के पांच प्रमुख खिलाड़ी चोट से परेशान ना हुए होते. यह साल जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या, शिखर धवन, भुवनेश्वर और पृथ्वी शॉ की चोट के भी नाम रहा. ये खिलाड़ी साल में ज्यादातर समय चोट के कारण टीम से बाहर रहे. साल का अंत आते-आते दीपक चाहर (Deepak Chahar) पर भी चोट की मार पड़ गई. वे भी विंडीज से सीरीज के दौरान चोटिल हो गए. अब वे अगले साल अप्रैल तक वापसी करेंगे. 

भारत ने खेले 52 मैच 
भारत ने 2019 में कुल 52 मैच खेले और इनमें 34 मैच जीते. उसने इस साल 28 वनडे मैच खेले. वह साल में सबसे अधिक वनडे मैच खेलने वाली टीम रही. भारतीय टीम ने इसके अलावा 16 टी20 और 8 टेस्ट मैच भी खेले. भारत 2019 में एक भी टेस्ट मैच नहीं हारा. उसने आठ टेस्ट में से सात में जीत दर्ज की और एक ड्रॉ खेला. 

यह भी पढ़ें: Year-Ender: 2019 के 3 फ्लॉप सितारे: अर्श से फर्श पर गिरे DK, रायडू और...

जसप्रीत बुमराह 4 महीने से बाहर
 तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) करीब चार महीने से टीम इंडिया से बाहर हैं. उन्होंने 2019 में भारत के लिए 19 मैच खेले. यानी वे भारत के 40% से भी कम मैच खेल पाए. बुमराह ने साल में 14 वनडे, तीन टेस्ट और दो टी20 मैच खेले. वे देश के नंबर-1 गेंदबाज हैं. अगर वे पूरे समय फिट होते तो भारत का प्रदर्शन और बेहतर हो सकता था. बुमराह ने इस साल आखिरी मैच सितंबर में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था. वे अगले साल श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज से मैदान पर वापसी करेंगे. 

यह भी पढ़ें: 2019 में सबसे ज्यादा वनडे विकेट: टॉप 10 में रहे 4 भारतीय गेंदबाज

33% मैच ही खेल पाए हार्दिक पांड्या  
ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) पूरे साल पीठ दर्द से परेशान रहे. वे इसी कारण इस साल बुमराह से भी कम मैच खेल सके. उन्होंने 2019 में भारत के लिए 17 मैच खेले. यानी वे भारत के करीब 33% मैच ही खेल पाए. पांड्या ने साल में 12 वनडे और दो टी20 मैच खेले. टेस्ट मैच तो एक भी नहीं खेल पाए. हार्दिक ने बाद में इंग्लैंड जाकर पीठ की सर्जरी कराई. हार्दिक ने इस साल आखिरी मैच सितंबर में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था. 

virat
शिखर धवन को चोट के कारण विश्व कप बीच में ही छोड़ना पड़ा था. (फोटो: IANS) 

विश्व कप के बीच से बाहर हुए धवन
ओपनर शिखर धवन (Shikhar Dhawan) ने जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पांड्या के मुकाबले इस साल अधिक मैच खेले. इसके बावजूद उनके पास अपने इन साथियों के मुकाबले ज्यादा निराश होने की वजह है. इसकी वजह यह है कि धवन को इस साल आईसीसी विश्व कप के बीच से ही बाहर होना पड़ा था. वह भी तब, जब वे अच्छी फॉर्म में थे. टेस्ट टीम में जगह गंवा चुके धवन ने 2019 में कुल 30 मैच खेले. इनमें 18 वनडे और 12 टी20 मैच शामिल हैं. वे चोट के कारण ही हाल ही में वेस्टइंडीज के खिलाफ खत्म हुई सीरीज में नहीं खेल सके थे. वे अगले साल श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज से मैदान पर वापसी करेंगे. 

भुवनेश्वर ने खेले 50% मैच 
तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) लगातार दूसरे साल चोट से परेशान नजर आए. वे पिछले साल इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दौरे में कई मैच नहीं खेल पाए थे. साल 2019 में उन्होंने 2019 में भारत के लिए 26 मैच, यानी करीब 50% मैच ही खेल पाए. भुवी ने इस साल 19 वनडे और नौ टी20 मैच खेले. टेस्ट मैच तो एक भी नहीं खेल पाए. इतना ही नहीं, उन्हें आईपीएल में भी चोट के कारण कई मैच छोड़ना पड़ा था. भुवी ने इस साल आखिरी मैच 11 दिसंबर को वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था. 

पृथ्वी शॉ पर पड़ी दोहरी मार 
पृथ्वी शॉ ने 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ डेब्यू टेस्ट में शतक जमाया. इसके बाद उन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए चुना गया. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट मैच से पहले ही उन्हें चोट लग गई और उन्हें सीरीज से बाहर होना पड़ा. इस चोट ने 2019 में भी उनका साथ नहीं छोड़ा. पृथ्वी शॉ (Prithwi Shaw) को मई में फिर चोट लग गई. इस कारण उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए भी नहीं चुना जा सका. इसके बाद वे डोपिंग में फंस गए और उन पर आठ महीने का बैन लग गया. यह बैन 15 नवंबर को खत्म हुआ. इस तरह 2018 में शानदार डेब्यू करने वाले पृथ्वी 2019 में देश के लिए एक भी मैच नहीं खेल पाए.