भारत को दो वर्ल्ड कप जिताने वाले Yuvraj Singh ने फिर जीता सबका दिल, अब किया ये नेक काम

भारत को दो वर्ल्ड कप जिताने वाले Yuvraj Singh ने एक बार फिर से पूरे देश का दिल जीत लिया है. युवराज ने अब एक नेक काम किया है.   

भारत को दो वर्ल्ड कप जिताने वाले Yuvraj Singh ने फिर जीता सबका दिल, अब किया ये नेक काम
फाइल फोटो

नई दिल्ली: टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने कई बार पूरे देश को गौरव हासिल कराया है. युवराज ने भारत को दो बार वर्ल्ड कप जिताने में काफी अहम रोल निभाया है. हालांकि अब युवराज खेल को अलविदा कह चुके हैं. लेकिन युवराज ने अब फिर से एक नाम के जरिए पूरे देश का दिल जीत लिया है. 

युवी ने किया नेक काम

युवराज सिंह (Yuvraj Singh) की संस्थान यूवीकैन फाउंडेशन ने तेलंगाना के निजामाबाद के सरकारी मेडिकल कॉलेज और जनरल अस्पताल में 120 क्रिटिकल केयर यूनिट (सीसीयू) बेड स्थापित किए हैं. फाउंडेशन को इसके लिए एसेंचर से वित्तीय सहायता मिली है. यूवीकैन फाउंडेशन ने अस्पताल को कई तरह के चिकित्सा उपकरण उपलब्ध कराए जिसमें बीपैप मशीन, आईसीयू वेंटिलेटर, पेशेंट मॉनिटर, क्रैश कार्ट और ऑक्सीजन सिलेंडर शामिल है.

कोरोना से लड़ने में की मदद

युवराज (Yuvraj Singh) ने एक बयान जारी करते हुए कहा, हम सभी को कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान काफी नुकसान झेलना पड़ा है। हमने अपने प्रियजनों को खोया, हमें ऑक्सीजन, आईसीयू बेड और अन्य महत्वपूर्ण सुविधाओं के लिए भी संघर्ष करना पड़ा. युवराज ने आगे बयान में कहा, इस तरह के संकट और कई जिंदगी के खोने के साथ-साथ मुझे खुद को एक व्यक्तिगत नुकसान से गुजरना पड़ा जिसके बाद, मैने यह ठाना कि मुझे इस घातक वायरस के खिलाफ लड़ाई में हमारे डॉक्टर्स और फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं का समर्थन करना चाहिए. हमारी पहल मिशन 1000 बेड के माध्यम से , हम लोग अपने देश की मौजूदा क्षमता को बढ़ाने के लिए देश भर के अस्पतालों में केविड-19 क्रिटिकल केयर सुविधाएं स्थापित कर रहे हैं.

युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने बुधवार को तेलंगाना के गृह मंत्री महमूद अली, एसेंचर के प्रतिनिधी और अस्पताल के कुछ प्रतिनिधियों की मौजूदगी में इस सुविधा का उद्घाटन किया.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.